JharkhandRanchiTOP SLIDER

सीएम के काफिले पर हमलाः डीजीपी ने की High Level Meeting, दो थाना प्रभारी सस्पेंड

  • कोतवाली थाना प्रबारी वृज कुमार व सुखदेवनगर थाना प्रभारी सुनील तिवारी सस्पेंड
  • युवती की हत्या मामले में भी पुलिस रेस,एसआइटी गठित

Ranchi: रांची में सीएम के काफिले पर हमले के बाद झारखंड पुलिस रेस है. डीजीपी एम वी राव ने बुधवार को आज अचानक रांची के एसएसपी समेत तमाम वरीय पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए दो थाना प्रभारियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए.

इसके साथ ही डीजीपी ने विधि-व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने पर भी जोर दिया. ओरमांझी में युवती की मिली सिर कटी लाश पर भी बैठक में चर्चा हुई.

डीजीपी ने एसएसपी, सिटी एसपी,ग्रामीण एसपी सहित डीएसपी और सभी थानेदार के साथ की बैठक. डीजीपी ने मुख्यमंत्री हेमंत के काफिले पर हमले के मद्देनजर कोतवाली और सुखदेव नगर थाना प्रभारी के प्रति नाराजगी जताई.

अधिकारियों ने कोतवाली थाना प्रभारी वृज कुमार और सुखदेवनगर थाना प्रभारी सुनील कुमार तिवारी को सस्पेंड कर दिया गया है. इससे पहले मंगलवार को रांची के डीसी और एसएसपी को शो कॉज जारी किया गया है.

advt

इसे भी पढ़ें- फर्जी राशन कार्डधारियों पर सरकार का सर्जिकल स्ट्राइक, 90 हजार राशन कार्ड रद्द

50 से अधिक संदिग्धों से पूछताछ

मुख्यमंत्री के काफिले पर हमला मामले में अबतक 30 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इस मामले में कुल 65 नामजद सहित 150 पर सुखदेवनगर थाने में एफआइआर दर्ज की गई है. 50 से ज्यादा संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

इसे भी पढ़ें- कहानी उस ग्रेजुएट युवा की, जिसने रोटी के लिए चुनी कब्र खोदने की नौकरी

डीएसपी सिल्ली की अगुवाई में एसआइटी गठित

बता दें कि ओरमांझी में युवती के दुष्कर्म और सिर काटकर हत्या के मामले में डीएसपी सिल्ली के नेतृत्व में एसआइटी गठित की गयी है. इधर, रांची के अलग-अलग इलाकों से गायब लड़कियों के परिजन भी पुलिस के पास पहुंचे थे. उनमें से कई लोगों ने शव को देखा भी.

रांची की एक महिला ने अपनी बेटी होने का दावा किया हैं पुलिस डीएनए जांच कर जानने की कोशिश करेगी की महिला के दावे में कितना दम हैं.

हत्याकांड की गुत्थी को सुलझाने के लिए सिल्ली डीएसपी चंद्रशेखर आजाद के नेतृत्व में एसआइटी का गठन किया गया है. एसआइटी में ओरमांझी थाना प्रभारी, इंस्पेक्टर असित मोदी, साइबर इंस्पेक्टर ममता भी शामिल है.

इसे भी पढ़ें- सौरव पर बनी रहेगी अडानी की कृपा, विज्ञापन से हटाने की खबरों का अडानी ग्रुप ने किया खंडन

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: