JharkhandMain SliderRanchi

SBI में खाता है, तैयार रहिए, लाइन में लगने के लिए, फ्रीज होगा एकाउंट, फिर भरना पड़ेगा केवाइसी

विज्ञापन

Ranchi: अगर आपका खाता SBI में है, तो संभल जाइये. किसी दिन अचानक आपके खाता संचालन पर रोक लग सकता है. ऐसा करने से पहले बैंक आपको कोई पूर्व सूचना या एसएमएस देगा, इसकी उम्मीद न करें. एकाउंट में पैसा है, पर आप निकाल नहीं सकते. ऑनलाईन ट्रांसफर नहीं कर सकते. आपको बैंक जाना पड़ेगा. संभव है पूरा एक दिन लग जाये खाता चालू करवाने में.

इसे भी पढ़ें – ‘आर्थिक त्रासदी’ पर PM व वित्त मंत्री बेखबर, RBI से ‘चोरी करने’ से कुछ नहीं होगा: राहुल

advt

तैयार रहिए एक बार फिर से लाइन लगने के लिए. बैंक काउंटर से फॉर्म लेने के लिए. दोबारा केवाइसी भरना पड़ेगा. साथ में ओल्ड एकाउंट के लिए एकाउंट ओपनिंग के 5 पन्ने का फॉर्म भरना पड़ेगा. साथ में फोटो और आधार कार्ड व पैन कार्ड की फोटो कॉपी लगानी पड़ेगी.

गौर करिये. यह डिजिटल इंडिया है. दो-तीन साल पहले भी बैंकों ने यही किया था. केवाइसी भरवाया था. केवाइसी में वही डॉक्यूमेंट मांगा जाता है, जो खाता खुलवाने के वक्त लिया गया था. फिर दोबारा क्यों लिया गया. किसी को नहीं पता. और अब तीसरी बार लिया जा रहा. इस बार भी बैंक का कोई अधिकारी कुछ बताने से परहेज कर रहा है.

यह कैसा डिजिटल इंडिया है. जिसमें इस देश का सबसे बड़ा बैंक हर दो-तीन साल में फिर से कागजात मांगता है. क्या ग्राहकों द्वारा दिये जानेवाले कागजात को डिजिटलाइज्ड नहीं करके उसे रद्दी की टोकरी में डाल दिया जाता है.

adv

इस संवाददाता का एकाउंट एसबीआइ की कोकर शाखा में है. शनिवार को मोबाइल पर एसबीआइ से दो मैसेज आता है. पहले मैसेज में लिखा हैः Dear customer, Congrates!! Your Debit Card id pre-Approved for EMI  facility from SBI for purchasing consumer good up to limit Rs.100000 at select stores.

कुछ देर बाद बैंक की तरफ से एक और मैसेज आता है. जिसमें लिखा हैः Dear customer, Congrates!! You are pre-Approved for limit Rs.100000 to avail EMI facility to make online purchases from Amazon/Flipkart. Use your SBI regd mob No.only

इसे भी पढ़ें – बीजेपी की चुनावी रणभेरी : पीएम मोदी, अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा का झारखंड दौरा

इन दोनों मैसेज से यही लगता है कि बैंक ने आपको एक लाख रुपया खर्च करने के लिए लोन के रूप में दे दिया है. पर, मैं तो इस बात से परेशान हूं कि मैंने तो बैंक से कभी इसके लिए कोई रिक्वेस्ट किया नहीं.

इन दोनों मैसेज के मिलने के बाद एकाउंट में जो बैलेंस रकम थी, वह दिखनी बंद हो गयी. लेकिन एकाउंट स्टेटमेंट में बैलेंस राशि नजर आ रही थी. सोमवार की शाम मैंने अपने एकाउंट से कुछ रुपये दूसरे एकाउंट में ट्रांसफर करना चाहा. राशि ट्रांसफर नहीं हुई. मंगलवार की सुबह भी ऐसा ही हुआ. कस्टमर केयर में कॉल करने पर कहा गया कि ब्रांच में संपर्क करिये.

बैंक के कोकर ब्रांच के फोन नंबर पर कॉल करने पर किसी ने फोन ही रिसीव नहीं किया. जब ब्रांच पहुंचा तो बताया गया कि एकाउंट होल्ड कर दिया गया है. केवाइसी भरिये. हालांकि बैंक कर्मचारी ने यह नहीं बताया कि एकाउंट का संचालन कितने वक्त या दिन के बाद शुरू हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें – रिजर्व बैंक की “रिजर्व “ मनी से कमजोर होती अर्थव्यवस्था को कितनी मजबूती मिल सकेगी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close