Khas-KhabarRanchi

#Corona के कारण रिम्स के सभी डॉक्टरों की छुट्टियां तत्काल प्रभाव से की गयी रद्द

Ranchi: देश औऱ दुनिया में कोरोना का कहर दिख रहा है. महाराष्ट्र में जहां एक शख्स की इससे मौत हो गयी, वहीं देश में 131 पॉजिटिव केस सामने आये हैं.

देश के 15 राज्य इसकी चपेट में है. हालांकि, झारखंड में फिलहाल कोई पॉजिटिव केस नहीं है. लेकिन कुछ संदिग्धों को रिम्स में भर्ती कराया गया है.
जानलेवा वायरस के बढ़ते कहर को लेकर कई तरह के एहतियात बरते जा रहे हैं. इधर रिम्स में सभी डॉक्टर्स की छुट्टी तत्काल प्रभाव से रद्द कर दी गयी है.

advt

इसे भी पढ़ेंः#Corona से देश में तीसरी मौतः महाराष्ट्र में 64 साल के बुजुर्ग ने तोड़ा दम,128 पॉजिटिव

डॉक्टर्स की छुट्टियां कैंसिल

कोरोना को लेकर रिम्स के सभी डॉक्टरों की छुट्टी तत्काल प्रभाव से रदद् कर दी गयी है. विशेष परिस्थिति में सीनियर के हस्ताक्षर से छुट्टी मिल सकेगी. रिम्स के अलावे सभी मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पतालों के डॉक्टरों की भी छुट्टी रदद् की जा सकती है.

रिम्स के डॉक्टर्स की छुट्टियां रद्द

कोरोना को लेकर सभी तरह के एहितयात बरतने की तैयारी सरकार कर चुकी है. वहीं स्कूल-कॉलेजों, शिक्षण-संस्थान और मॉल्स को 14 अप्रैल तक बंद रखने की घोषणा सरकार पहले ही कर चुकी है.

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के संदिग्धों को पूरे राज्य भर से जांच के लिए रिम्स भेजा जा रहा है. लेकिन आइसोलेशन वार्ड में भर्ती होकर सैंपल देने के बाद ये मरीज प्रबंधन को सूचना दिए बिना लामा (लिव अगेंस्ट मेडिकल एडवाइस) हो जा रहे है. रिपोर्ट का इंतजार नहीं कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंःएमवी राव ने लिया झारखंड #DGP पद का प्रभार, कहा- शिकायतों पर होगी त्वरित कार्रवाई

संदिग्धों के फरार होने से बढ़ी परेशानी

संदिग्धों के इस रवैये से रिम्स प्रबंधन काफी परेशान है. रिम्स निदेशक डॉ. डीके सिंह का कहना है कि अगर लामा हुए मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उनपर मुकदमा भी किया जाएगा.

बता दें कि रिम्स में भर्ती संदिग्ध भाग निकला था, जिसके बाद में वो गोला स्थित अपने गांव बाबलौंग पहुंचा. जिसे स्थानीय लोगों ने रामगढ़ सदर अस्पताल में भर्ती कराया.

संदिग्ध योद्धा मांझी हाल ही में भूटान से अपने गांव वापस आया है. जिसके बाद उसकी तबीयत बिगड़ी थी. डॉक्टरों ने उसे कोरोना वायरस का संदिग्ध बताकर प्राथमिक जांच के बाद रिम्स रेफर किया था. लेकिन इलाज के दौरान ही योद्धा रिम्स से भाग गया था.

वहीं गिरिडीह का एक संदिग्ध युवक भी सोमवार को फरार हो गया है, जिसका अबतक कोई पता नहीं चल सका है.

इसे भी पढ़ेंःसीएए, एनपीआर और एनआरसी को लेकर सदन में जमकर हंगामा – सीएम को कहना पड़ा सदस्यों ने सदन को बना दिया मछली बाजार

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: