Dharm-JyotishLead NewsNationalUttar-Pradesh

सच्ची घटना: राम से बिछड़ते समय ‘राजा दशरथ’ को आया हार्टअटैक, रामलीला के मंच पर ही त्यागे प्राण

राजेंद्र सिंह पिछले 20 वर्षों से रामलीला में दशरथ की निभा रहे थे भूमिका

Lucknow : रामायण में प्रसंग है कि जब बेटा राम वनवास पर जाता है तो राजा दशरथ अत्यधिक व्याकुल हो जाते हैं और बाद में प्राण भी त्याग देते हैं. उत्तर प्रदेश के बिजनौर में रामलीला मंचन के दौरान ठीक ऐसा ही हुआ. यहां राजा दशरथ की भूमिका निभा रहे कलाकार की मंच पर ही उस समय मृत्यु हो गई जब वे बेटे के वियोग में ‘राम राम’ पुकारने वाला सीन कर रहे थे. राजा दशरथ की भूमिका निभाने वाले कलाकार का नाम राजेंद्र सिंह था, जिनकी हार्ट अटैक से मृत्यु हो गई. उनकी उम्र 62 वर्ष थी.

इसे भी पढ़ें : सरयू और रघुवर समर्थक फिर आमने-सामने, बर्मामाइंस में माहौल गरमाने की आशंका

advt

घटना गुरुवार रात जिला मुख्यालय से करीब 65 किलोमीटर दूर अफजलगढ़ के हसनपुर गांव की है. अभिनेता राजेंद्र सिंह को दिल का दौरा पड़ा और एक दृश्य के दौरान राम का नाम पुकारते हुए मंच पर गिर गए, जिसमें भगवन राम वनवास के लिए जा रहे थे. दर्शकों ने राजेंद्र सिंह से अभिनय पर जबरदस्त तालिया बजाईं, लेकिन सभी को बाद में महसूस हुआ कि दरअसल उनकी मृत्यु हो चुकी है. रामलीला को तुरंत रोक दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि जब तक साथी कलाकार कुछ समझ पाते, तब तक उनकी मौत हो चुकी थी. राजेंद्र सिंह पिछले 20 वर्षों से दशरथ की भूमिका निभा रहे थे.

इसे भी पढ़ें : भारत ने रिकॉर्ड 8वीं बार सैफ फुटबॉल चैम्पियनशिप का खिताब जीता

पूरे गांव में छा गया मातम

रामलीला समिति के अध्यक्ष संजय सिंह गांधी ने कहा, ‘यह बहुत दुखद है. किसी को समझ नहीं आया कि असल में हुआ क्या था. हर कोई तालियां बजाता रहा, इसे शानदार अभिनय का एक नमूना मानते हुए, लेकिन उन्हें कार्डियक अरेस्ट हुआ था.’ गांव में शोक की लहर दौड़ गई. इन्हीं ग्रामीणों ने राजेंद्र सिंह को पिछले दो दशकों से साल-दर-साल विभिन्न रामलीला चरित्रों को निभाते हुए देखा था. अभिनेता के परिवार में उनकी पत्नी, तीन बेटे और दो बेटियां हैं. सरकार से आर्थिक सहायता की मांग की गई है.

इसे भी पढ़ें : आदिवासी कुड़मी समाज ने यूपीएससी की परीक्षा में 446वां रैंक लगाने वाले विकास महतो को किया सम्मानित

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: