Fashion/Film/T.VLead NewsRanchiTRENDING

The Kashmir Files ने दुनिया भर में कमाये 300 करोड़, PM मोदी की तारीफ, विपक्षी दलों की ताबड़तोड़ आलोचना ने दी बेशुमार पब्लिसिटी

जानें वो सभी कारण जिन्होंने महज 15 करोड़ की लागत से बनी फिल्म को कराई बंपर कमाई

Naveen Sharma

Ranchi : आप अगर गूगल सर्च इंजन पर The Kashmir Files सर्च करते हैं तो आपको महज 0.81 सेकंड में 62,40,00,000 परिणाम नजर आयेंगे. यह आंकड़ा इस बात की पहली बानगी है कि  विवेक अग्निहोत्री के निर्देशन में बनी फिल्म, ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने सोशल मीडिया और इंटरनेट की दुनिया में कैसा धमाल मचाया हुआ है.

यहां गौर करने वाली बात यह है कि द कश्मीर फाइल्स महज 15 करोड़ रुपये में बनकर तैयार हुई थी. वहीं, फिल्म की प्रिंटिंग और प्रचार आदि पर 10 करोड़ रुपये और खर्च किए गए थे. यानी फिल्म की कुल लागत महज 25 करोड़ रुपये है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें :Mega Health Camp: प्रेस क्लब ऑफ जमशेदपुर का मेगा हेल्‍थ कैंप दो अप्रैल को, ये रही पूरी जानकारी

The Royal’s
Sanjeevani

बॉक्स ऑफिस पर डार्क होर्स

छोटे बजट की यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर डार्क होर्स साबित हुई है. यह 11 मार्च को रिलीज होने के दिन से धीरे-धीरे अपना जलवा दिखा रही है. कई मील के पत्थर पार करने के बाद, अब फिल्म ने अपनी नाम एक और रिकॉर्ड कर लिया है. रिलीज के 21 दिनों के बाद फिल्म ने दुनिया भर में 300 करोड़ का बिजनेस कर लिया है.

फिल्म 1990 में कश्मीर घाटी में आतंकियों द्वारा कश्मीर में गैर मुस्लिमों खासकर कश्मीरी पंडितों के नरसंहार पर आधारित है. इसमें अनुपम खेर, दर्शन कुमार, मिथुन चक्रवर्ती और पल्लवी जोशी मुख्य भूमिकाओं में हैं.

प्रभास की राधेश्याम, अक्षय की बच्चन पांडेय को चटाई धूल

द कश्मीर फाइल्स की ऐतिहासिक सफलता इस वजह से भी मायने रखती है 11 मार्च को यह फिल्म दक्षिण के सुपर स्टार और बाहुबली फेम प्रभास की फिल्म राधेश्याम के साथ-साथ रिलीज हुई थी. आमतौर पर राधेश्याम जैसी बड़ी फिल्म के सामने अपनी फिल्मी रिलीज करने में छोटे निर्माता व निर्देशक डरते हैं लेकिन विवेक की द कश्मीर फाईल्स के आगे राधेश्याम की एक ना चली.

वहीं फिल्म के दूसरे सप्ताह में 18 मार्च को अक्षय कुमार स्टारर बच्चन पांडेय रिलीज हुई तो कई फिल्म विशेषज्ञों को लगा कि अब द कश्मीर फाइल्स पर ब्रेक लग जाएगी लेकिन हुआ इसका उल्टा. बच्चन पांडेय जैसी बड़ी फिल्म भी द कश्मीर फाइल्स के आगे टिक नहीं पायी.

इसे भी पढ़ें :Tata Steel के एमडी TV Narendran ने क्यों कहा कि यह वित्तीय वर्ष ऐतिहासिक रहा, आप भी जान‍िए

हेवी बजट वाली RRR के सामने भी मुकाबले में डटी रही

द कश्मीर फाइल्स का असली टेस्ट तब शुरू हुआ जब 25 मार्च को जूनियर एनटीआर, राम चरण, आलिया भट्ट, ओलिविया मॉरिस, अजय देवगन और श्रेया सरन स्टारर RRR रीलीज हुई . साउथ के बड़े सितारों से सजी इस हेवी बजट की एक्शन फिल्म के सामने द कश्मीर फाइल्स ने अपनी सफलता की दौड़ जारी रखी.

इस बीच फिल्म ने वर्ल्डवाइड बॉक्स ऑफिस पर 300 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर लिया है. वहीं भारत में, ‘द कश्मीर फाइल्स’ अब तक की सबसे बड़े ग्रॉसर में से एक के रूप में उभरकर आयी है. फिल्म ने 21 दिनों में 237.22 करोड़ रुपये की कमाई कर ली है.

UAE में बिना किसी कट के सेंसर बोर्ड ने किया पास

निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि एक इस्लामी देश में चार हफ्ते की जांच के बाद फिल्म पास हो गया, जबकि कुछ भारतीय फिल्म को इस्लामोफोबिक बता रहे हैं. ‘द कश्मीर फाइल्स’ को यूएई में बिना किसी कट सेंसर बोर्ड से पास कर दिया गया है. यह फिल्म जल्द ही सिंगापुर में भी रिलीज होगी.

इसे भी पढ़ें :IPL 2022: DHONI ने दिया कप्तानी में दखल, पूर्व क्रिकेटर ने जताई नाराजगी, कहा- जडेजा के साथ हो रही नाइंसाफी

विवेक अग्निहोत्री ने इस खबर को अपने प्रशंसकों और फॉलोअर्स के साथ साझा करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया.  उन्होंने लिखा, “यह बड़ी जीत है. वो भी बिना किसी कट के 15+ रेटिंग दी गई. 7 अप्रैल (गुरुवार) को रिलीज हो रही है. अब अगला नंबर सिंगापुर का है.”

यूएई में इस जीत पर बोलते हुए निर्देशक ने उन लोगों को भी जवाब दिया जिन्होंने फिल्म को ‘इस्लामोफोबिक’ करार दिया है. उन्होंने कहा, “भारत में, कुछ लोग इसे इस्लामोफोबिक कह रहे हैं, लेकिन एक इस्लामिक देश ने 4 सप्ताह की जांच के बाद इसे 0 कट और 15+ दर्शकों के लिए पारित किया है. भारत में यह 18+ के लिए है.”

विवेक बोले, मानवता के बारे में है फिल्म

इसके अलावा विवेक अग्निहोत्री ने फिल्म का विरोध करने वालों के बारे में बात की और जोर देकर कहा कि द कश्मीर फाइल्स मानवता के बारे में है. उन्होंने कहा, ‘सिंगापुर में भी ऐसा ही हुआ है, जहां करीब तीन हफ्ते लग गए. मुस्लिम समूहों के बहुत सारे प्रतिनिधित्व थे, लेकिन तब उनके सेंसर के प्रमुख ने कहा कि फिल्म में कुछ भी आपत्तिजनक नहीं है. इसे सभी को देखना चाहिए. यही बात संयुक्त अरब अमीरात के साथ भी है.

कई बार जांच की लेकिन वे सभी कह रहे हैं कि यह फिल्म मानवता के बारे में है. यह फिल्म आतंकवाद के खिलाफ है इसलिए इसे सभी को देखना चाहिए. लेकिन भारत में कुछ लोग जो इसे देखे बिना इसका विरोध कर रहे हैं. इसे इस्लामोफोबिक कह रहे हैं. वे या तो आतंकवादी समूहों का हिस्सा हैं या उनका दिमाग खराब है.’

द कश्मीर फाइल्स’ 1990 में कश्मीर विद्रोह के दौरान कश्मीरी पंडितों के पलायन की सच्ची घटनाओं पर आधारित फिल्म है. फिल्म के कलाकारों में मिथुन चक्रवर्ती, अनुपम खेर, दर्शन कुमार, पल्लवी जोशी और चिन्मय मंडलेकर शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें :PAK vs AUS 2nd ODI: पाकिस्तान ने वनडे में सबसे बड़ी रन चेज कर हासिल की जीत, ऑस्ट्रेलिया ने टेके घुटने

PM  मोदी ने सराहा तो फिल्म के पक्ष में बना माहौल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने द कश्मीर फाइल्स’ की तारीफ करते हुए इसकी सराहना की थी. फिल्म के निर्देशक विवेक अग्निहोत्री उनकी पत्नी और अभिनेत्री पल्लवी जोशी और अनुपम खेर ने प्रधानमंत्री से मुलाकात भी की थी.

पीएम की तारीफ करने के बाद बीजेपी के अन्य नेताओं ने भी फिल्म के पक्ष में तारीफों के पुल बांधने शुरू कर दिये. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी एक सार्वजनिक समारोह के दौरान इस फिल्म को अच्छा बताया था. इसके साथ ही संघ परिवार के अन्य घटकों ने भी फिल्म देखने के लिए अपने सदस्यों को प्रेरित किया. यहां तक की लोग ग्रुप बनाकर फिल्म देखने थियेटर और मल्टीप्लेक्सों में जाने लगे.

भाजपा शासित राज्यों में टैक्स फ्री हुई फिल्म

द कश्मीर फाइल्स को इस बात का भी लाभ मिला की भाजपा शासित कई राज्यों में फिल्म टैक्स फ्री हुई. मध्य प्रदेश, गुजरात, कनार्टक, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, गोवा और त्रिपुरा में फिल्म को टैक्स फ्री किया गया.

इसे भी पढ़ें :मौसम के साथ ही चढ़ा झारखंड का सियासी पारा, गुरुजी के घर फिर शुरू हुई नूराकुश्ती

महज 550 स्क्रीन में हुई थी रिलीज, बढ़ी डिमांड तो मिलीं 4000 स्क्रीन्स

पहले दिन फिल्म को पूरे देश में महज 550 स्क्रीन ही मिली थीं, लेकिन रविवार तक फिल्म के लिए दर्शकों की दीवानगी को देखते हुए स्क्रीन बढ़ाकर पहले 2000 कर दिये गये. इसके बाद स्क्रीन बढ़ाकर 4000 किये गये. द कश्मीर फाइल्स’ को सबसे ज्यादा फायदा माउथ पब्लिसिटी और सोशल मीडिया पर फिल्म के पक्ष और विपक्ष दोनों तरह के चले अभियानों से हुआ. फिल्म की आलोचना से भी दर्शकों में उत्सुकता जगी की देखा जाए कि जिस फिल्म को लेकर इतनी चर्चा हो रही है उसमें कुछ तो खास बात होगी.

कपिल शर्मा शो में प्रमोशन नहीं मिलने पर हुआ विवाद

सोनी TV पर दिखाये जानेवाले कॉमेडी शो द कपिल शर्मा शो में द कश्मीर फाइल्स फिल्म को प्रमोट नहीं किये जाने की खबर से भी फिल्म को फायदा ही मिला. सोशल मीडिया में कपिल शर्मा की जमकर आलोचना की गयी.

बता दें कि विवेक अग्निहोत्री ने कहा था कि फिल्म में कोई बड़ा स्टार नहीं होने का तर्क देकर फिल्म को प्रमोट करने से इन्कार किया गया था. इस विवाद से भी फिल्म को फायदा ही हुआ सोशल मीडिया में इसके पक्ष में अभियान चलने लगे.

इसे भी पढ़ें :BIT MESRA: ऑफलाइन परीक्षा का विरोध, सैकड़ों विद्यार्थियों ने किया प्रदर्शन

राहुल गांधी, केजरीवाल ने की आलोचना

एक तरफ जहां पीएम मोदी सहित एनडीए गठबंधन ने फिल्म की तारीफ कर लोगों को फिल्म देखने के लिए प्रेरित किया वहीं दूसरी तरफ विपक्ष के कई दलों ने फिल्म की आलोचना शुरू कर दी. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने फिल्म की आलोचना की. इसके बाद दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी फिल्म की निंदा की थी.

ऐसी फिल्म को स्क्रीनिंग की मंजूरी मिलनी ही नहीं चाहिए : शरद पवार

वहीं इस कड़ी में ताजा प्रतिक्रिया पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार की सामने आयी है. एनसीपी की दिल्ली इकाई के अल्पसंख्यक विभाग के एक कार्यक्रम में पवार ने कहा, ‘ऐसी फिल्म को स्क्रीनिंग के लिए मंजूरी मिलनी ही नहीं चाहिए थी, लेकिन इसे टैक्स में छूट दी गई है और जो लोग देश को एकजुट रखने के लिए जिम्मेदार हैं, वे लोगों को फिल्म देखने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं, जो लोगों के बीच गुस्सा भड़काती है.

इसे भी पढ़ें :सीता सोरेन ने अपनी ही पार्टी को कठघरे में किया खड़ा- कहा चार्टर्ड प्लेन से जेएमएम विधायक गये थे दिल्ली

Related Articles

Back to top button