1st LeadJamshedpurJharkhandRanchiTODAY'S NW TOP NEWSTOP SLIDERTop StoryTRENDING

जिस इनोवा पर रघुवर दास सवारी कर रहे थे, उसे “वैलेंटाइन डे” के दिन खरीदा गया था, सरयू ने उठाया प्रेम-पुनीत से रिश्ते पर सवाल

Ranchi : प्रेम प्रकाश श्रीवास्तव के करीबी मित्र पुनीत भार्गव के नाम से रजिस्टर्ड जिस इनोवा क्रिस्टा गाड़ी (जेएच01डीवी1101) का पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास इस्तेमाल कर रहे थे, उसे 14 फरवरी 2020, यानी वैलेंटाइन डे के दिन रांची के हेरिटेज टोयोटा शोरूम से खरीदा गया था. इसकी पुष्टि गाड़ी के जॉब कार्ड डीटेल से होती है. 14 फरवरी 2020 को गाड़ी डिलीवर हुई. उस दिन तक गाड़ी 10 किलोमीटर चली थी. सात दिन बाद 21 फरवरी 2020 को गाड़ी का पुनीत भार्गव के नाम पर रजिस्ट्रेशन हुआ. उस दिन तक गाड़ी 20 किलोमीटर चली थी. तीन मई 2020 को गाड़ी की पहली सर्विसिंग हुई, उस दिन तक गाड़ी ने 500 किमी की दूरी तय की थी. इस इनोवा क्रिस्टा गाड़ी की आखिरी सर्विंसिंग 23 मई 2020 को हुई. इस दिन तक इसने कुल 42224 किमी की दूरी तय की थी. सूत्रों के अनुसार सासाराम स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा की गौरक्षिणी शाखा से फाइनांस कराया गया और पुनीत भार्गव के सीसी एकाउंट से गाड़ी की डाउन पेमेंट करायी गयी.

गाड़ी की जॉब डीटेल

Catalyst IAS
ram janam hospital
The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

हेमंत सोरेन ने 29 दिसंबर 2019 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. उसके दो महीने बाद वैलेंटाइन डे के दिन को यह गाड़ी खरीदी गयी, जो अगले दो साल दो महीने तक रघुवर दास के उपयोग में थी. झारखंड में इडी की कार्रवाई के बाद से वह गाड़ी दिख नहीं रही है. आखिर “प्रेम के प्रतीक दिवस वैलेंटाइन डे” पर प्रेम प्रकाश के निकट सहयोगी के  पुनीत भार्गव नाम से खरीदी गाड़ी झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री के पास कैसे और क्यों आयी. इशारों में यह सवाल उठाते हुए रघुवर दास की सरकार में मंत्री रहे और निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में उन्हीं को हराकर विधायक बने सरयू राय ने भी न्यूज विंग की खबर चलने के बाद इस पर एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा –  “इनोवा क्रेस्टा कार JH01DV1101 के असली मालिक प्रेम प्रकाश-पुनीत भार्गव और इस्तेमाल के बाद यह गाड़ी जिनके गैराज में खड़ी है, उसके मालिक के बीच का रिश्ता इडी  बताये. कार के सर्विसिंग डिटेल और पेमेंट से रिश्ते का रास्ता मिल जायेगा.”

इसे भी पढ़ें – SARAIKELA : मधुश्री महतो बनी सरायकेला जिला परिषद उपाध्यक्ष, एक मत के अंतर से स्नेहारानी हारी

 

Related Articles

Back to top button