Crime NewsLead NewsNationalOFFBEAT

सुसाइड के लिए Amazon से जहर मंगाकर पी गया छात्र! पिता बोले- Amazon पर हो हत्या का केस

इंदौर के छत्रीपुरा थाना क्षेत्र की लोधा कॉलोनी का मामला

New Delhi : ऑनलाइन कंपनी Amazon पर इंदौर में एक परिवार ने संगीन आरोप लगाते हुए कंपनी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. परिवार का आरोप है कि उनके नौजवान बेटे की मौत की वजह ऑनलाइन कंपनी Amazon है.
ये मामला इंदौर के छत्रीपुरा थाना क्षेत्र की लोधा कॉलोनी का है. जहां किराये के मकान में रहने वाले 18 वर्षीय आदित्य वर्मा ने जहर खाकर जान दे दी. हालांकि आत्महत्या के पीछे की वजह क्या है इस पर तो पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. सुसाइड के इस मामले में ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी Amazon का नाम सामने आ रहा है. मृतक युवक के पिता का आरोप है कि उनके बेटे की हत्यारी amazon कंपनी है.

इसे भी पढ़ें :Ranchi: पंचरत्न ट्विन टावर मामले पर डीसी ने दोबारा मांगी सीओ से रिपोर्ट, जमीन प्रतिबंधित सूची से बाहर करने का रास्ता हुआ साफ

 

पूरा परिवार सदमे में

Catalyst IAS
ram janam hospital

जी हां इन आरोपों में कितनी सच्चाई है ये तो पुलिस की जांच के बाद साफ हो पायेगा लेकिन लाचार पिता की होनहार संतान का अचानक यूं चले जाना पूरे परिवार को नागवार गुजरा है. घटना 29 जुलाई 2021 की है जब आदित्य (पिता रंजीत वर्मा) ने किराये के मकान में जहर खा लिया और सो गया. जब परिजनों को पता चला कि उसने जहर खाया है तो उसे तुरंत चोइथराम अस्पताल ले जाया गया. जहां डॉक्टर्स ने 30 जुलाई की सुबह युवक को मृत घोषित कर दिया.
इसके बाद पूरे मामले में छत्रीपुरा पुलिस ने मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया था. वही पोस्टमार्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट में ये बात सामने आई कि आदित्य की मौत जहर खाने से हुई है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें :IPL टीम सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज ने IPL 2021 पार्ट-टू से पहले की शादी, जानें किसे बनाया जीवन साथी

मोबाइल फोन से खुला राज

अब इस पूरे मामले में Amazon ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी का नाम क्यों सामने आ रहा है ये बड़ा सवाल है. दरअसल, जब युवक की मौत हुई और उसका अंतिम संस्कार करने के बाद पिता ने उसके मोबाइल से सुसाइड के कारणों का पता लगाने की कोशिश की तो सामने आया कि उनके बेटे ने जो जहर खाया है उसकी डिलेवरी और खरीदी Amazon से की गई थी. मृतक आदित्य ने पहली बार जहर की ऑनलाइन खरीदी का ऑर्डर 20 जुलाई के आसपास किया था और 22 जुलाई को भुगतान न होने की स्थिति में ऑर्डर कैंसल किया गया था.

इसे भी पढ़ें :शिवसेना के ‘गुंडों’ ने मुझपर हमला किया, BJP नेता किरीट सौमेया ने किया ये ट्वीट

पहला आर्डर कैंसिल हुआ, दोबारा जहर मंगवाया

इसके बाद दोबारा amazon से आदित्य ने जहर मंगवाया तो 28 जुलाई को उसके पास सल्फास की डिलेवरी की गई. जब परिजनों ने आदित्य के सामान को खंगाला तो चार में से एक पाउडर का पैकेट उन्हें मिला. हालांकि आदित्य के चले जाने के बाद उसका पूरा परिवार सदमे है. वही पिता का आरोप है कि amazon कंपनी की वजह से उनके बेटे की जान चली गई है.

इसे भी पढ़ें :पिता ने सौतेली मां के साथ मिलकर की अपनी ही बेटी की हत्या

क्या है पिता की आपत्ति

फल फ्रूट बेचकर गुजर बसर करने मृतक के पिता रंजीत वर्मा ने Amazon के खिलाफ छत्रीपुरा थाने से लेकर पुलिस के आला अधिकारियों को शिकायत की है. पिता का कहना है कि आज के समय में खांसी की दवाई भी डॉक्टर के लिखे बगैर मेडिकल दुकान पर नहीं मिलती है ऐसे में amazon कंपनी कैसे उनके बेटे को जहर डिलीवर किया जबकि दवाओं से लेकर ऐसी वस्तुओं को बेचने को लेकर कानूनी प्रावधान है.

इसे भी पढ़ें :हर साल पांच करोड़ की दवा खरीदता है रिम्स, फिर भी मरीज लगाते हैं मेडिकल स्टोर का चक्कर

इंसाफ दिलाया जाये

अब पिता पुलिस और कानून अपने पास रखे सबूतों के आधार पर मांग की जा रही है कि उन्हें इंसाफ दिलाया जाये और Amazon कंपनी और उसके संबंधित अधिकारी लक्ष्मण घाडगे पर कड़ी कार्रवाई की जाए ताकि फिर किसी बेटे की जान न जाये और फिर किसी परिवार के घर का चिराग न बुझे. आदित्य के पिता रंजीत वर्मा ने कहा है कि अब वो बस ये चाहते है कि उनकी शिकायत और सबूतों के आधार पर कंपनी पर कार्रवाई की जाए.

फिलहाल, इस अनूठे मामले के सामने आने के बाद कई सवाल ऑनलाइन कंपनियों पर उठ रहे है क्योंकि खाने पीने और इलेक्ट्रॉनिक सामान के अलावा इन कंपनियों से जहर भी आसानी से मिल जाता है जो इन ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियों पर सवाल उठाने के लिए काफी है.

इसे भी पढ़ें :36 साल तक एक बच्चे की नीति में चीन ने किया बदलाव, अब 3 बच्चे पैदा करने की इजाजत

Related Articles

Back to top button