Main SliderRanchi

कुछ ऐसी होगी गठबंधन वाली हेमंत सरकार के मंत्रिमंडल की सूरत

Akshay Kumar Jha

Ranchi: झारखंड में सबसे ज्यादा जिस बात पर चर्चा हो रही है, वो है कि आखिर हेमंत के गठबंधन वाली सरकार का स्वरूप क्या होगा. इसी सिलसिले में मुख्यमंत्री हेमंस सोरेन दो दिनों से दिल्ली में हैं. तमाम तरह की बातें हो रही है.

विभाग और मंत्रियों के नाम पर मामला थोड़ा फंसा हुआ है. कांग्रेस और जेएमएम दोनों पार्टियों का दावा है कि सभी बातों को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा. इधर 16 जनवरी को सोनिया गांधी ने झारखंड के सभी 16 कांग्रेसी विधायकों को दिल्ली तलब किया है.

Catalyst IAS
SIP abacus

इसे भी पढ़ेंःझारखंड में 19 सालों में खेल कोटे से सिर्फ 5 को मिली नौकरी, अब बदलेगी खिलाड़ियों को नौकरी देने की पॉलिसी

Sanjeevani
MDLM

हेमंत 15 की शाम को रांची आने वाले हैं. इस बीच मंत्रिमंडल का जो खाका तैयार हो पाया है, उसमें सीएम समेत छह मंत्री जेएमएम के देखे जा रहे हैं. वहीं कांग्रेस के पांच विधायकों को मंत्री बनाया जा सकता है. जानते हैं मंत्रिमंडल का स्वरूप.

कांग्रेस किसे बना सकती है मंत्री

कई दिनों से सत्ता से बाहर रहे कांग्रेस की इस बार झारखंड में काफी अच्छी वापसी हुई है. कांग्रेस के पास 16 विधायक हैं. इन 16 विधायकों के बीच सीनियर, जूनियर और जातीय समीकरण को साधते हुए कांग्रेस मंत्रिमंडल में शामिल होना चाह रही है.

आलमगीर आलम और रामेश्वर उरांव ने ली है मंत्री पद की शपथ (फाइल फोटो)

साथ ही कांग्रेस कुछ अच्छे विभागों को भी अपने पाले में लाने में जुटी है. इन मुद्दों पर हेमंत सोरेन से कांग्रेस की सकारात्मक बात हो रही है. मुख्यमंत्री के साथ कांग्रस के दो सीनियर विधायकों आलमगीर आलम और रामेश्वर उरांव ने भी मंत्री पद की शपथ ली है.

ऐसे में कांग्रेस और तीन विधायकों के नाम पर मुहर लगा सकती है. इन तीन नामों में पश्चिमी जमशेदपुर से जीत कर आये बन्ना गुप्ता, फॉरवर्ड कास्ट से बादल पत्रलेख, महिला विधायक में दीपिका पांडे सिंह या ममता सिंह और पूर्व मंत्री योगेन्द्र प्रसाद साव और बड़कागांव से विधायक रहीं निर्मला देवी की बेटी और सबसे युवा विधायक अंबा प्रसाद पर कांग्रेस मुहर लगा सकती है.

इन विधायकों को मंत्रिमंडल में मिल सकती है जगह (फाइल फोटो)

वहीं सीनियर लीडर राजेंद्र सिंह के मंत्री बनने में उनका स्वास्थ्य आड़े आ रहा है.

इसे भी पढ़ेंः10 साल से बन रहा रांची विवि का रेडियो खांची, उद्घाटन की बाट जोह रहा 76 लाख का स्टूडियो

जेएमएम से कौन होंगे मंत्रिमंडल में शामिल

कांग्रेस जैसे ही अपने मंत्रियों के नाम डिक्लीयर करेगी जेएमएम का भी स्टैंड क्लीयर हो जाएगा. जेएमएम से अभी फिलहाल मुख्यमंत्री के तौर पर हेमंत सोरेन ने ही शपथ ली है. 12 सदस्यों के मंत्रिमंडल में एक राजद, पांच कांग्रेस और जेएमएम के छह मंत्री होने हैं.

ऐसे में जेएमएम की तरफ से अभी पांच मंत्री के नाम तय करने हैं. पांच लोगों में जिनका नाम सबसे आगे चल रहा है उनमें सबसे आगे चंपई सोरेन, स्टीफन मरांडी और हाजी हुसैन हैं. इनके अलावा कोल्हान से जोबा मांझी या दीपक बिरुआ का नाम मंत्रिमंडल में शामिल हो सकता है.

जेएमएम कोटे से इन्हें मिल सकता है मंत्री पद (फाइल फोटो)

दक्षिणी छोटानागपुर क्षेत्र से दो महतो विधायक जगरनाथ और मथुरा का नाम आगे चल रहा है. दोनों में से एक मंत्रिमंडल में शामिल हो सकते हैं. जगरनाथ लगातार चौथी बार विधानसभा चुनाव जीत कर आए हैं, तो मथुरा महतो पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं.

मिथिलेश ठाकुर या बादल पत्रलेख

कांग्रेस अगर बादल पत्रलेख को मंत्रिमंडल में शामिल करती है, तो गढ़वा से जेएमएम से जीत कर आए मिथिलेश ठाकुर मंत्रिमंडल से दूर हो सकते हैं. लेकिन अगर कांग्रेस ने बादल पत्रलेख की जगह किसी और को मंत्रिमंडल में शामिल किया तो मिथिलेश ठाकुर का मंत्रिमंडल में शामिल होना तय माना जा रहा है.

इसे भी पढ़ेंःकोयलांचल में चल रहे लिंकेज कोयले के अवैध कारोबार को लेकर NIA कर रही है छापेमारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button