न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा सबजेक्टिव होगी, जनवरी 2019 में होगा मेंस

593

Ranchi: छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा झारखंड लोक सेवा आयोग (जेपीएससी) द्वारा सबजेक्टिव (विषयात्‍मक) रूप से ली जायेगी. जेपीएससी ने इस बारे में स्पष्ट कहा है कि विज्ञापन के अनुरूप ही परीक्षा ली जायेगी, इसमें कहीं कोई बदलाव नहीं की जायेगी. जेपीएससी द्वारा पीटी के संशोधित रिजल्ट में शामिल अभ्यर्थियों के लिए मुख्य परीक्षा का आयोजन जनवरी 2019 में किया जायेगा. जेपीएससी के अधिकारियों ने कहा है कि परीक्षा के नियमों में आयोग फिलहाल कोई बदलाव नहीं करने जा रही है.

इसे भी पढ़ें: झारखंड में 10 हजार से अधिक वारंटी हैं फरार, पुलिस नहीं कर पा रही है गिरफ्तार

छठी जेपीएससी पीटी परीक्षा विवाद

ज्ञात हो छठी जेपीएससी पीटी परीक्षा के दौरान काफी विवाद के बाद जेपीएससी में संशोधित रिजल्ट हाई कोर्ट के आदेश द्वारा आयोग को जारी करना पड़ा था. पीटी रिजल्ट के लंबे समय के बाद भी आयोग द्वारा मुख्य परीक्षा लेने पर अभ्यर्थियों के बीच काफी संशय की स्थिति थी. इस विषय पर आयोग ने स्पष्ट कहा कि छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा के लिए आयोग ने तैयारियां पूरी कर ली है. जल्द ही इस दिशा में विज्ञापन के माध्यम से अभ्यर्थियों को परीक्षा की सूचना दी जायेगी.

इसे भी पढ़ें: सबरीमला विवाद का असर ! कोलकाता के एक काली पूजा पंडाल में महिलाओं की इंट्री बैन

जनवरी माह में होगी छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा: सचिव

आयोग के सचिव जगजीत सिंह ने न्यूजविंग को बताया कि छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा की तैयारियां आयोग द्वारा पूरी कर ली गयी हैं. संशोधित रिजल्ट के सारे डेटा जेपीएससी द्वारा निरीक्षण कर लिये गये हैं. आयोग मुख्य परीक्षा संभवत: जनवरी में आयोजित करेगी जो पूरी तरह से विज्ञापन के अनुरूप लिखित परीक्षा होगी.

इसे भी पढ़ें: पलामू : युवा उद्यमियों के पलायन को रोकने के लिए चेंबर बनाएगा यूथ विंग

नियमों में बदलाव के लिए आयोग ने कार्मिक विभाग को लिखा है पत्र

आयोग के सचिव जगजीत सिंह ने कहा कि संवैधानिक नियम काफी पुरानी है जो कि 1951 के अनुरूप है. हाल में कई सारे बदलाव झारखंड सरकार द्वारा स्थानीय नीति, विभागीय रोस्टर आदि में किये गये हैं. इसके लिए आयोग ने कार्मिक विभाग को पत्र लिखा है. इसके माध्यम से नये बदलाव को अपने संवैधानिक कानून में शामिल करना चाहता है. साथ ही आयोग अन्य राज्यों के आयोगों के तर्ज पर भी अपने संवैधानिक कानूनों में बदलाव के लिए कार्मिक विभाग से सलाह मांगी है.

इसे भी पढ़ें: धनतेरस पर बाबूलाल मरांडी ने रघुवर सरकार पर फोड़ा 5000 करोड़ का बम

परीक्षा प्रणाली में नहीं होगा बदलाव

जेपीएससी ने स्पष्ट कर दिया है कि वह अपनी परीक्षा प्रणाली में फिलहाल कोई बदलाव नहीं करने जा रही है. जेपीएससी की कोई भी परीक्षा विज्ञापन के अनुरूप ही होगी. उसमें कहीं कोई बदलाव आयोग की ओर से फिलहाल नहीं की जायेगी. पीटी और मेंस परीक्षा के लिए आयोग वर्तमान स्वरूप में ही अपनी परीक्षा का संचालन करेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: