Khas-KhabarNational

Unlock-1 का दूसरा फेजः आज से खुलेंगे मॉल्स-होटल्स-धार्मिक स्थल, जानें क्या है इंट्री के नियम

New Delhi: देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच अनलॉक-1 का दूसरा फेज सोमवार से शुरू हो रहा है. लॉकडाउन के दौरान करीब दो महीने तक बंद रहने के बाद सोमवार से देश में शॉपिंग मॉल, धार्मिक स्थल, होटल और रेस्टूरेंट फिर से खुलने जा रहे हैं. जिनमें नये नियमों के तहत इंट्री मिलेगी. जिसमें टोकन प्रणाली जैसी व्यवस्थाएं होंगी, वहीं मंदिरों में प्रसाद आदि का वितरण नहीं होगा.

इसे भी पढ़ेंःजम्मू-कश्मीर के शोपियां में चार आतंकी ढेर, एक हफ्ते में 15 दहशतगर्दों का एनकाउंटर

नये नियमों के साथ धार्मिक स्थल, मॉल्स में इंट्री

Catalyst IAS
ram janam hospital
  • सोशन डिस्टेंसिंग का रखना होगा ख्याल
  • मास्क
  • सैनिटाइज़र
  • आरोग्य सेतु ऐप
  • साबुन से हाथ धोने का इंतजाम
  • धार्मिक स्थल पर जाने के लिए जूते-चप्पल गाड़ी में ही उतारने होंगे.
  • प्रार्थना/इबादत के लिए घर से चटाई लाएं.
  • मूर्ति-किताबों को छूना मना, प्रसाद भी नहीं मिलेगा.
  • भजन-कीर्तन का सामूहिक कार्यक्रम नहीं होगा.
  • रेस्टूरेंट में 50 फीसदी की सीटिंग कैपिसेटी
  • डिस्पोज़ेबल मेन्यू और नैपकिन का इस्तेमाल
  • हर इस्तेमाल के बाद टेबल को सैनिटाइज करना जरूरी
  • ऑर्डर और पेमेंट ऑनलाइन करने पर ज़ोर
  • पार्किंग में गाड़ियों को सैनिटाइज़ करना जरूरी
The Royal’s
Sanjeevani

राज्यों के अलग-अलग नियम और इंतजाम

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा एसओपी जारी किये जाने के बाद शॉपिंग मॉल, होटलों और रेस्तरां तथा धार्मिक स्थलों पर जाना अब लॉकडाउन लगने से पहले की तरह नहीं होगा. मॉल में सिनेमा हॉल, गेमिंग आर्केड और बच्चों के खेलने की जगहें पहले की तरह प्रतिबंधित स्थल में रहेंगी.

केंद्र सरकार ने एसओपी का ब्योरा तय करने का अधिकार राज्यों को दिया है. मसलन पंजाब सरकार ने अपने दिशानिर्देशों के तहत मॉलों में प्रवेश के लिए टोकन देने की प्रणाली अपनाई है.

गुजरात में कुछ धार्मिक स्थलों ने पालियों में प्रार्थना आयोजित करने का फैसला किया है और श्रद्धालुओं के आने के लिहाज से समय निर्दिष्ट करते हुए टोकन प्रणाली शुरू की है ताकि सामाजिक दूरी के नियम का पालन हो और भीड़-भाड़ नहीं हो.

केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने भी आठ जून से भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के तहत 820 केंद्रीय संरक्षित स्मारकों को खोलने की मंजूरी दे दी है, जिनमें पूजास्थल हैं. केंद्रीय संस्कृति मंत्री प्रह्लाद पटेल ने यह जानकारी दी.

केंद्र सरकार के दिशानिर्देशों के तहत कर्नाटक सरकार ने धार्मिक स्थलों के लिए सामाजिक दूरी बनाकर रखने, तीर्थ (पवित्र जल) या प्रसाद नहीं बांटने और विशेष पूजा अर्चना पर रोक रखने के नियम तय किये हैं.

गोवा में चर्च और मस्जिदों को कुछ और समय तक बंद रखने का फैसला लिया गया है. महाराष्ट्र सरकार ने धार्मिक स्थलों को खोलने पर अभी फैसला नहीं किया है.

दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कहा कि ऐतिहासिक मस्जिद सोमवार से खुलेगी जिसमें सुरक्षा के सभी कदम उठाए गए हैं. दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा कि सीसगंज, रकाबगंज और बंगला साहिब गुरद्वारों में भी डिसइंफैक्टेंट टनल स्थापित की गई हैं.

इसे भी पढ़ेंःGurugram: मेदांता हॉस्पिटल के मालिक डॉ नरेश त्रेहान पर भ्रष्टाचार व मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज

आज से खुलीं दिल्ली की सीमाएं

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने घोषणा की कि दिल्ली सरकार द्वारा संचालित अस्पताल और निजी अस्पताल कोरोना वायरस संकट के दौरान केवल दिल्लीवासियों का इलाज करेंगे. वहीं शहर की सीमाएं सोमवार से फिर खुल गयीं.


केजरीवाल ने ऑनलाइन ब्रीफिंग में कहा कि केंद्र संचालित अस्पतालों में इस तरह की कोई पाबंदी नहीं होगी और अगर दूसरे राज्यों से लोग किसी विशेष सर्जरी के लिए दिल्ली आते हैं तो वे निजी अस्पतालों में इलाज करा सकते हैं.

उन्होंने कहा, हम सोमवार से दिल्ली की सीमाएं खोलने जा रहे हैं. मॉल, रेस्तरां और धार्मिक स्थल खुलेंगे लेकिन होटल और बैंक्वेट हॉल बंद रहेंगे, क्योंकि हमें आने वाले समय में उन्हें अस्पतालों में तब्दील करना पड़ सकता है.

इसे भी पढ़ेंःहजारीबागः देर रात अपहरणकर्ता के चंगुल से मुक्त हुआ JMM के केंद्रीय सचिव का पुत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button