HEALTHMain SliderNational

Gurugram: मेदांता हॉस्पिटल के मालिक डॉ नरेश त्रेहान पर भ्रष्टाचार व मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज

Gurugram: मेदांता हॉस्पिटल के सीएमडी डॉ नरेश त्रेहान व कुछ अन्य लोगों के खिलाफ गुरुग्राम में पुलिस ने एफआइआर दर्ज की है. मामला मनी लॉन्ड्रिंग व भ्रष्टाचार के आरोपों से जुड़ा है.

त्रेहान के खिलाफ रमन शर्मा नामक व्यक्ति ने शिकायत की थी. शर्मा की शिकायत और कोर्ट के आदेश पर   नरेश त्रेहान और बाकी आरोपियों के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग, पीसी एक्ट और आइपीसी की धारा 120बी, 406, 463, 467, 468, 471 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इसे भी पढ़ें – JMM के केंद्रीय सचिव और जिला परिषद सदस्य संजीव बेदिया का 18 वर्षीय पुत्र लापता, अपहरण की आशंका

Chanakya IAS
Catalyst IAS
SIP abacus

क्या हैं आरोप  

The Royal’s
Sanjeevani
MDLM

रमन शर्मा ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि साल 2004 में हरियाणा सरकार ने गुरूग्राम के सेक्टर 38 में 53 एकड़ की जमीन मेडीसिटी प्रोजेक्ट के लिए ली थी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

शिकायत के मुताबिक इस जमीन पर मेडिसिटी प्रोजेक्ट आना था. मेडिसिटी बनाने का मकसद देश में एक इंटरनेश्नल स्तर का अस्पताल बनाना था, जिसमें रिसर्च सेंटर हो, मेडिकल की पढ़ाई, हॉस्टल जैसी सुविधाएं हों और मरीजों के साथ उनके परिवार के लोगों के रहने के लिए जगह लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ. बल्कि यहां सिर्फ एक अस्पताल बना जोकि सिर्फ कॉर्मशियल इस्तेमाल के लिए था.

रमन के आरोप के मुताबिक पैसे को कहीं और भेजा जा रहा है. प्रोजेक्ट के मुताबिक जो बोर्ड बनना था, उसमें सरकार का एक अधिकारी भी शामिल रहेगा जोकि कामकाज पर नजर रखेगा लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

इसके अलावा रमन ने ये आरोप भी लगाया है कि ये पूरा प्रोजक्ट करीब 900 करोड़ रुपये का था लेकिन ये जानते हुए कि नरेश त्रेहान इतना पैसा नहीं लगा सकते, बाकी आरोपियों के साथ मिलकर इस प्रोजेक्ट को लिया, जिसे पूरा नहीं किया गया.

इसे भी पढ़ें – Corona: 7 जून को कुल 73 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, झारखंड में अब 1103 मामले

पिछले साल जून में की थी ईडी से शिकायत

गौरतलब है कि शिकायतकर्ता रमन शर्मा ने इसकी शिकायत पिछले साल जून में ईडी से भी की थी लेकिन ईडी सीधे तौर पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज नहीं कर सकती थी इसीलिए ये शिकायत गुरूग्राम पुलिस को भेज दी गयी थी.

तब भी पुलिस ने इस पर कार्रवाई नहीं की तो शिकायतकर्ता ने गुरुग्राम की अदालत में याचिका लगायी थी.

अदालत के आदेश पर गुरुग्राम पुलिस के सदर थाने में नरेश त्रेहान, सुनील सचदेवा, अतुल पुंज, अनंत जैन, और अज्ञात सरकारी अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

इसे भी पढ़ें – जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button