न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गोड्डा से महागठबंधन प्रत्याशी प्रदीप यादव पर लगा यौन उत्पीड़न का आरोप

2,139

Deoghar : गोड्डा में लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग की तारीख नजदीक आते ही महागठबंधन के प्रत्याशी प्रदीप यादव की मुश्किलें बढ़ गई है. गोड्डा लोकसभा क्षेत्र से महागठबंधन प्रत्याशी और जेवीएम प्रधान महासचिव प्रदीप यादव पर उनकी ही पार्टी की एक वरीय महिला पदाधिकारी ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. महिला ने रांची की रहने वाली है और उसने 20 अप्रैल की रात हुई घटना को लेकर देवघर महिला थाना में मामला दर्ज कराया है.

इसे भी पढ़ें- दयामनि बारला, सालखन मुर्मू व अन्य ने बिना शर्त मांगी माफी, कोर्ट सख्त

क्या है महिला का आरोप

महिला ने प्रदीप यादव पर जबरदस्ती का आरोप लगाते हुए कहा कि वह देवघर पार्टी की एक रैली में शामिल होने के लिए आयी थी. रैली खत्म होने के बाद वह अपने रिश्तेदार के यहां चली गयी जो कि मोहनपुर में रहती है. जिसके बाद प्रदीप यादव ने शाम में महिला के मोबाइल पर फोन कर कहा कि रात आठ बजे शिव शक्ति होटल आना है जहां टीम के बाकी लोगों से उसे मिलाना है.

जिसके बाद महिला आठ बजे अपने ड्राइवर के साथ होटल पहुंची. लेकिन वहां पहुंच कर महिला ने देखा कि होटल में कोई भी नहीं है. महिला ने इस बारे में प्रदीप यादव से जब बात की तो उन्होंने उसे होटल के कमरा नंबर 202 में बेठा दिया और वहां से चले गए.

hotlips top

उसके बाद करीब 9.20 के आसपास प्रदीप वापस से कमरे में आए और महिला के साथ जबरदस्ती की. महिला को उन्होंने बेड पर गिरा दिया. जिसके बाद उसने अपने बचाव में प्रदीप यादव को लात मारकर दूर हटाया. इसपर यादव ने उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी. दोनों में झड़प हो ही रही थी की 9.45 बजे प्रदीप यादव महिला का पर्स उठाकर कमरे से बाहर चले गए.

महिला का कहना है कि उसके पर्स में दो लाख रुपये थे. वह घटना से इतनी डरी हुई थी कि पूरी रात वह कमरे में ही रही. उसने इस घटना के बारे में पार्टी सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी को भी सूचना दी गयी लेकिन उन्होंने भी किसी तरह की कोई मदद नहीं की.

जिसके बाद 21 अप्रैल को महिला कमरे से बाहर आयी. अब जाकर महिला ने पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी. फिलहाल पुलिस मामला दर्ज कर छानबीन कर रही है. देर रात तक महिला से थाने में एसडीपीओ विकास श्रीवास्तव समेत अन्य पुलिस अधिकारियों ने पूछताछ की.

इसे भी पढ़ें- जैक छात्रों के लिए खुशखबरी, छात्रों को मिलेंगे अच्छे नंबर,  इसी माह आ जायेगा इंटर और मैट्रि‍क…

मामले के बारे में क्या कहना है प्रदीप यादव का

इधर इस पूरे मामले को लेकर प्रदीप यादव का कहना है कि उनपर लगाए गए सारे आरोप गलत हैं. यह सारा कुछ निशिकांत दुबे का किया हुआ है. क्योंकि बीजेपी पार्टी के लोग यह अब जान चुके हैं कि गोड्डा में उनकी हार तय है. और इसी को लेकर इस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं.

बीजेपी जनमत को प्रभावित करने के लिए इस तरह के प्रयास कर रही है. लेकिन जनता समझदार है. वहीं घटना 20 अप्रैल की है लेकिन तीन मई को इसपर मामला दर्ज कराया गया. जिसके बाद चार घंटे में ही एफआईआर भी हो गयी.

लेकिन जब बीजेपी पार्टी की एक महिला कार्यकर्ता ने विधायक ढुलू महतो और सांसद रवींद्र पांडेय पर आरोप डाला था तब जनप्रतिनिधि का मामला है कर कर प्रकरण को अनुसंधान में डाल दिया गया था.

इसे भी पढ़ें- सिंहभूम सीट : गिलुआ के लिए आसान नहीं जीत की राह, गीता कोड़ा हैं बड़ा रोड़ा

गोड्डा से महागठबंधन प्रत्याशी हैं प्रदीप यादव

गौरतलब है कि प्रदीप यादव लोकसभा चुनाव में गोड्डा से महागठबंधन के प्रत्याशी हैं. झाविमो महासचिव पोडैयाहाट के विधायक प्रदीप यादव ने 29 अप्रैल को गोड्डा लोकसभा क्षेत्र से नामांकन पत्र दाखिल किया. उन्होंने अपना नामांकन पत्र गोड्डा की उपायुक्त किरण कुमारी पासी को साैंपा. यहां 19 मई को मतदान होना है.

उन्हें कांग्रेस और झामुमो का समर्थन प्राप्त है. गोड्डा में महागठबंधन प्रत्याशी का मुकाबला वर्तमान सांसद और भाजपा प्रत्याशी निशिकांत दुबे से है. प्रदीप यादव पाैडेयाहाट विधानसभा क्षेत्र से चार बार से विधायक हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like