JharkhandMain SliderRanchi

दर्जन भर से अधिक IAS ओवरलोडेड, दर्जन भर के पास काम ही नहीं, सिर्फ नाम की पोस्टिंग

Ranchi : सरकार के विभागों के मर्ज होने के बाद ब्यूरोक्रेसी में ऊहापोह की स्थित अब तक कायम है. सरकार के साथ कदमताल करने वाले अफसरों के साथ अन्य प्रभावशाली अफसरों के पास दो से अधिक विभागों की जिम्मेवारी है. वहीं दर्जन भर ऐसे आईएएस अफसर हैं जिनकी  पोस्टिंग ऐसी जगह की गई है जहां कोई काम ही नहीं. विभाग का बजट भी नहीं के बराबर है. इन अफसरों में अपर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव से लेकर डीसी रैंक के अफसर भी शामिल हैं. नाम नहीं छापने की शर्त पर अफसर कहते भी हैं कि हमलोगों का सरकार में उतना प्रभाव नहीं है. सरकार के साथ कदमताल नहीं कर सकते हैं. कई विभागों में विशेष सचिव व निदेशक को ही पद दिया गया है.

इसे भी पढ़ें- राशि निर्गत कराने वाली फाइल पर कल्याण मंत्री लुईस मरांडी ने लिखा, क्या योजनाओं के लिए मेरा अनुमोदन जरूरी नहीं (2)

प्रमोटी आईएएस को नहीं मिलती है तवज्जो

कई प्रमोटी आईएएस ने स्पष्ट कहा कि आईएएस संवर्ग में प्रोन्नति होने के बाद भी तवज्जो नहीं मिलती है. राज्य सेवा के अफसरों जैसा ही व्यवहार किया जाता है. जबकि हर नियमावली व हर पेंच को सुलझाने में प्रोन्नति पाये अफसर सक्षम है. कुछ अफसरों को डीसी और विशेष सचिव बनाया गया है. लेकिन कुछ की पोस्टिंग ऐसी जगह की गई है जहां काम ही नहीं है.

advt

इसे भी पढ़ें- कभी झामुमो सुप्रीमो शिबू के सिर्फ इशारे पर हो जाता था आंदोलन, आज कार्यकर्ताओं से करनी पड़ रही है अपील

इन अफसरों की सिर्फ नाम की पोस्टिंग

  • इंदू शेखर चतुर्वेदी : मेंबर बोर्ड ऑफ रेवेन्यू.
  • एमएस मीणा- स्थानीक आयुक्त दिल्ली.
  • आलोक गोटल- ओएसडी झारखंड भवन.
  • गौरी शंकर मिंज- ट्राइबल वेलफेयर कमिश्नर.
  • शिशिर कुमार सिन्हा- प्रोजेक्ट डायरेक्टर आईटीडीए.
  • दीपक कुमार शाही- सेटलमेंट ऑफिसर हजारीबाग.
  • रणेंद्र कुमार- डॉ रामदयाल मुंडा रिसर्च इंस्टीट्यूट.
  • कमल जॉन लकड़ा- सदस्य सचिव स्टेट बैकवर्ड क्लास.
  • अशोक कुमार सिंह: निदेशक संस्कृति

इसे भी पढ़ें- एसपी अमरजीत बलिहार हत्याकांड में नक्सली प्रवीर और सनातन बास्की दोषी करार

इन अफसरों के पास क्रीम डिपार्टमेंट के साथ अतिरिक्त प्रभार

नाम                               विभाग                              अतिरिक्त प्रभार

डीके तिवारी                    विकास आयुक्त                   मुख्य स्थानिक आयुक्त, झारखंड भवन
सुखदेव सिंह                    योजना सह वित्त विभाग        एमडी जीआरडीए
केके खंडेलवाल                कार्मिक                             कॉमर्शियल टैक्स
एसकेजी रहाटे                 गृह विभाग                          कैबिनेट
सत्येंद्र सिंह                      सचिव योजना                      रजिस्ट्रार चिट फंड
नितिन मदन कुलकर्णी       ऊर्जा                                 राज्यपाल के प्रधान सचिव
अराधना पटनायक            पेयजल                               ग्रामीण विकास कार्य
राहुल शर्मा                      एक्साइज                           आयुक्त कमर्शियल टैक्स
केके सोन                        पथ निर्माण                         राजस्व निबंधन विभाग
विनय चौबे                      सचिव सूचना प्रौद्योगिकी        उद्योग
डॉ सुनील वर्णवाल           सीएम के सचिव                    सूचना एवं जनसंपर्क
सुनील कुमार                  सचिव भवन निर्माण               भवन निर्माण कॉरपोरेशन
डॉ अमिताभ कौशल         खाद्य आपूर्ति                        बाल कल्याण

adv

इसे भी पढ़ें- मैडम शिक्षा मंत्री जी, क्या ऐसी खराब शिक्षा व्यवस्था को ही एडॉप्ट कर रहे हैं दूसरे राज्य !

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button