न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कांवरियों से भरी गाड़ी पलटने से एक की मौत, सात घायल

बिहार के गोपालगंज जिला से हैं सभी कांवरिया

260

Dumka: जरमुंडी थाना क्षेत्र के दुमका-देवघर मुख्य पथ पर बालक मध्य विद्यालय के समीप कावंरियों से भी कमांडर जीप पलट गयी. इस हादसे में घटनास्‍थल पर ही एक महिला कांवरिया शिवकुमारी देवी (55 वर्ष) की मौत हो गई. इस दुर्घटना में सात अन्य कांवरिया गंभीर रूप से घायल हो गये. बाकी कांवरिया को हल्‍की चोटें आयी है.

इसे भी पढ़ें- जेपीएससी मुख्य परीक्षा फॉर्म भरने में छात्रों के छूट रहे पसीने, प्रज्ञा केंद्र की साइट…

नशे की हालत में जीप चला रहा था चालक

यह सड़क हादसा रविवार को देर रात में हुआ. दुर्घटना के बाद प्रशासन ने सभी घायलों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया. अस्पताल में प्राथमिक इलाज करने के बाद सभी घायलों को बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया. मृत महिला के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया. पुलिस ने चालक को हिरासत में ले लिया है और वाहन को जब्‍त कर लिया है.

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को बिहार राज्य के गोपालगंज जिला अंतर्गत फुचका थाना क्षेत्र के श्यामपुर गांव से 17 कांवरियों का जत्था पूजा करने के लिए देवघर गया हुआ था.  रविवार की शाम सभी ने बाबा धाम और बासुकीनाथ में पूजा-अर्चना की. उसी रात सभी कांवरिया कमांडर जीप में बासुकीनाथ से दस किलोमीटर की दूरी पर स्थित सेवा शिविर में विश्राम करने के लिए जा रहे थे.

बताया जा रहा है कि कमांडर जीप का चालक नशे की हालत में गाड़ी चला रहा था. कांवरियों ने उसे कई बार गाड़ी धीमी चलाने को कहा, लेकिन उसने गति धीमी नहीं की. मोड़ पर चालक गाड़ी का नियंत्रण खो बैठा और कमांडर जीप पलट गयी.

गंभीर रूप से घायल कांवरियों में बबलू यादव, जितेंद्र चौधरी, शीला देवी, प्रमोद साह, शांति देवी, कांति देवी और माया देवी सहित सात कावंरिया शामिल हैं.

अस्पताल के फर्श में हुआ कांवरियों का इलाज

सदर अस्पताल में बेड के अभाव में फर्श पर लिटा घायल कांवरियों का इलाज किया गया. सदर अस्पताल को मरीजों के लिए तीन सौ बेड मिला है, लेकिन यहां पर एक सौ से ज्यादा मरीज भर्ती होने के बाद हकीकत सामने आ जाती है. रविवार की रात जब घायल कांवरियों को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, तो उनके लिए अस्पताल प्रबंधन बेड उपलब्ध नहीं करवा सका. जिस कारण शांति देवी, शीला देवी, जितेंद्र चौधरी को जमीन पर लिटा कर इलाज करवाया गया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें
स्वंतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता का संकट लगातार गहराता जा रहा है. भारत के लोकतंत्र के लिए यह एक गंभीर और खतरनाक स्थिति है.इस हालात ने पत्रकारों और पाठकों के महत्व को लगातार कम किया है और कारपोरेट तथा सत्ता संस्थानों के हितों को ज्यादा मजबूत बना दिया है. मीडिया संथानों पर या तो मालिकों, किसी पार्टी या नेता या विज्ञापनदाताओं का वर्चस्व हो गया है. इस दौर में जनसरोकार के सवाल ओझल हो गए हैं और प्रायोजित या पेड या फेक न्यूज का असर गहरा गया है. कारपोरेट, विज्ञानपदाताओं और सरकारों पर बढ़ती निर्भरता के कारण मीडिया की स्वायत्त निर्णय लेने की स्वतंत्रता खत्म सी हो गयी है.न्यूजविंग इस चुनौतीपूर्ण दौर में सरोकार की पत्रकारिता पूरी स्वायत्तता के साथ कर रहा है. लेकिन इसके लिए जरूरी है कि इसमें आप सब का सक्रिय सहभाग और सहयोग हो ताकि बाजार की ताकतों के दबाव का मुकाबला किया जाए और पत्रकारिता के मूल्यों की रक्षा करते हुए जनहित के सवालों पर किसी तरह का समझौता नहीं किया जाए. हमने पिछले डेढ़ साल में बिना दबाव में आए पत्रकारिता के मूल्यों को जीवित रखा है. इसे मजबूत करने के लिए हमने तय किया है कि विज्ञापनों पर हमारी निभर्रता किसी भी हालत में 20 प्रतिशत से ज्यादा नहीं हो. इस अभियान को मजबूत करने के लिए हमें आपसे आर्थिक सहयोग की जरूरत होगी. हमें पूरा भरोसा है कि पत्रकारिता के इस प्रयोग में आप हमें खुल कर मदद करेंगे. हमें न्यूयनतम 10 रुपए और अधिकतम 5000 रुपए से आप सहयोग दें. हमारा वादा है कि हम आपके विश्वास पर खरा साबित होंगे और दबावों के इस दौर में पत्रकारिता के जनहितस्वर को बुलंद रखेंगे.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: