न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रिम्स में नर्स की मौत के बाद नर्स एसोसिएशन ने किया निदेशक कार्यालय का घेराव

नर्सों की कम संख्या के कारण काम के तनाव को लेकर जताया विरोध

69

Ranchi : राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान रिम्स में कार्यरत नर्स गीता नायक की मौत के बाद जूनियर नर्सेज एसोसिएशन के सदस्यों ने निदेशक कार्यालय के समक्ष शव को रखकर घेराव किया. इस दौरान जूनियर नर्सेज एसोसिएशन की अध्यक्ष रामरेखा राय ने कहा की मात्र 430 नर्सों के भरोसे रिम्स की व्यवस्थाएं संचालित हो रही है. कई बार नर्सों की बहाली को लेकर बैठकें आयोजित की गई, लेकिन नतीजा अबतक कुछ नही निकला. हालांकि बीते दिनों हुए शासी परिषद की बैठक में भी 222 नर्सों की बहाली के निर्णय लिया गया है.

इसे भी पढ़ेंःन्यूज विंग ब्रेकिंग: झारखंड में फाइनांशियल क्राइसिस! ट्रेजरी में सिर्फ 200 करोड़, ठेकेदारों और आपूर्तिकर्ताओं की देनदारी महीनों से बंद

कम नर्सों की वजह से दबाव ज्यादा

रिम्स में नर्स की कमी को लेकर काफी समय से परेशानी बढ़ी हई है. कम नर्स होने के कारण हॉस्पिटल में मरीजों को देखने और काम का दबाव बाकी नर्सों पर ज्यादा रहता है. जिसके कारण उन्हें तनाव झेलना पड़ रहा है. वहीं मृतक गीता नायक के मौत के बाद नर्सों का गुस्सा फूट पड़ा और निदेशक कार्यालय के समक्ष सभी एकजुट हुए. एसोसिएशन ने कहा की प्रतिदिन 1500 मरीजों का इस अस्पताल में इलाज होता है, लेकिन सरकार और रिम्स प्रबंधन नर्सों की बहाली को लेकर उदासीन है.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड में नवजात मृत्यु दर में आयी कमी

कैंसर से पीड़ित थी गीता

इधर डॉक्टरों का कहना है गीता नायक कैंसर था. उनका इलाज निजी अस्पताल में चल रहा था, लेकिन पैसे की तंगी के कारण गीता को रिम्स के ऑन्कोलॉजी डिपार्टमेंट में भर्ती किया गया था. जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

इसे भी पढ़ेंःएक लाख करोड़ के ऑन गोईंग प्रोजेक्ट की रफ्तार धीमी, आपूर्तिकर्ताओं…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: