Education & CareerRanchi

सितंबर 2020 से शुरू होगा नया शैक्षणिक सत्र, लॉकडाउन अवधि में सौ फीसदी माना जायेगा अटेंडेंस

विज्ञापन

Ranchi : लॉकडाउन की वजह से शैक्षणिक गतिविधियों में सुधार करने के लिए यूजीसी की ओर से अहम निर्णय लिये गये हैं. इसके तहत इस साल सितंबर माह से शैक्षणिक सत्र की शुरुआत होगी. वहीं लॉकडाउन की वजह से जितने दिन कॉलेज-विश्वविद्यालय बंद रहे हैं, स्टूडेंट्स का उतने दिनों का अटेंडेंस सौ फीसदी माना जायेगा. इससे संबंधित देश के सभी विश्वविद्यालयों को पत्र भेजा जायेगा.

इसे भी पढ़ें –रांची मेयर आशा लकड़ा न्यूज विंग के संवाददाता को खबर हटाने की दे रहीं धमकी, 24 घंटे में किया छह बार फोन

advt

शैक्षणिक गतिविधियों को दुरूस्त करने के लिए यूजीसी ने बनायी थी कमिटी 

दरअसल शैक्षणिक गतिविधियों को दुरूस्त करने के लिए एक विशेष कमिटी यूजीसी की ओर से बनायी गयी थी. इस विशेष कमिटी के अध्यक्ष हरियाणा केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति आरसी कुहाड़ हैं. वहीं अन्य सदस्यों में इंटर-यूनिवर्सिटी एक्सेलेरेटर सेंटर के निदेशक एसी पांडेय, वनस्थली विद्यापीठ के कुलपति आदित्य शास्त्री और पंजाब विश्वविद्यालय के कुलपति राज कुमार शामिल हैं.

इस बारे में कुलपति का कहना है कि जहां पहले वर्ष में नामांकन लेने वाले स्टूडेंट्स का शैक्षणिक सत्र एक सितंबर से शुरू किया जाये. वहीं सेकंड और थर्ड ईयर के छात्रों के लिए यह शैक्षणिक सत्र एक अगस्त से शुरू किया जा सकता है. इसके अलावा लॉकडाउन के कारण कॉलेजों के शैक्षणिक सत्र को दो माह की देरी से शुरू किया जा रहा है.

कुलपति ने कहा कि यूजीसी की विशेष कमिटी ने जो प्रस्ताव सौंपे हैं, उसमें सौ फीसदी अटेंडेंस देने के पीछे तर्क दिया है कि सभी छात्र फाइनल परीक्षाओं में शामिल हो सकेंगे. समिति ने यह भी सिफारिश कि है कि देशभर के सभी कॉलेजों में सप्ताह में छह दिन पढ़ाई होनी चाहिए. परिस्थिति को देखते हुए देश में उच्च शिक्षा के लिए नया सत्र जुलाई के बदले सितंबर से होना चाहिए.

adv

इसे भी पढ़ें – छह साल से “ईज ऑफ डूइंग बिजनेस” का शोर है, फिर चीन से निकलने वाली कंपनियां भारत क्यों नहीं आ रही

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close