न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मप्र विस चुनाव: कांग्रेस की बनी सरकार तो किसानों का दो लाख तक का कर्ज होगा माफ

कांग्रेस ने जारी किया 112 पन्नों का ‘वचन पत्र’

37

Bhopal: कांग्रेस ने मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिये शनिवार को अपना घोषणापत्र जारी करते हुए वादा किया कि प्रदेश में सत्ता में आने पर किसानों के दो लाख रुपये तक के कर्ज माफ किये जाएंगे. इसके साथ ही कांग्रेस ने प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने वाले उद्योगों को वेतन अनुदान देने का भी वचन दिया है. कांग्रेस ने प्रदेश के किसानों को कृषि भूमि रजिस्ट्री शुल्क में छूट देने और छोटे किसानों को कन्या विवाह हेतु 51,000 रुपये की सहायता देने का भी वादा किया है.

इसे भी पढ़ेंः18 साल बाद भी अधर में झारखंड-बिहार के बीच 2584 करोड़ की पेंशन…

कांग्रेस ने जारी किया ‘वचन पत्र’

प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने पत्रकार वार्ता में पार्टी का 112 पन्ने का ‘वचन पत्र’ जारी करते हुए इसे प्रदेश की जनता की आवाज बताया. साथ ही कहा कि इसे समाज के हर वर्ग के साथ गहन विचार-विचार विमर्श के बाद तैयार किया गया है. कांग्रेस द्वारा जारी किये गये इस वचन पत्र में कर्मचारी, हस्तशिल्पी, आम जनता, महिला, पत्रकार सहित सभी वर्गो के लिये कुछ न कुछ अच्छा करने का वादा किया गया है, लेकिन सबसे अधिक किसान और युवा वर्ग पर ध्यान दिया गया है.

किसानों को लुभाने की कोशिश

प्रदेश कांग्रेस ने किसानों के लिए घोषणाओं की बौछार करते हुए दो लाख रुपये तक कर्ज माफ करने, 60 वर्ष की आयु के छोटे किसानों को 1,000 मासिक पेंशन देने, बिजली बिल आधा करने, कुछ फसलों पर बोनस देने, दूध पर पांच रुपये प्रति लीटर बोनस देने, कृषि भूमि की रजिस्ट्री में छूट के तहत पुरुष किसान को 6 फीसद तथा महिला किसान को 3 प्रतिशत का रियायती शुल्क लेने सहित डीजल-पेट्रोल पर छूट देने का वादा किया गया है.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड स्टेट स्पोर्ट्स प्रमोशन सोसाइटी में नहीं है सब कुछ ठीक-ठाक

इसके साथ ही कांग्रेस ने मंदसौर पुलिस गोली कांड (जिसमें छह किसानों की मौत हुई थी) की पुन: न्यायिक जांच उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से कराने की भी घोषणा की है. इसके साथ ही किसानों को दो लाख रुपये तक के कृषि उपकरण खरीदने पर 50 प्रतिशत अनुदान देने की घोषणा की गई है.

वचन पत्र में प्रदेश में 50 करोड़ रुपये के निवेश और प्रदेश के युवाओं को रोजगार देने वाले उद्योगों को पांच वर्ष के लिये 10,000 रुपये वेतन अनुदान देने और विवेकानंद युवा शक्ति निर्माण मिशन के तहत टूरिस्ट गाइड, अधिवक्ता या आपदा प्रबंधन जैसे क्षेत्र में नया कार्य करने वालों को पांच वर्ष तक 4,000 रुपये प्रतिमाह सहभागिता प्रोत्साहन राशि देने का वादा भी किया गया है.

युवा आयोग का करेंगे गठन

कांग्रेस ने प्रदेश में सत्ता में आने के बाद युवाओं की समस्याओं पर विशेष ध्यान देने के लिये युवा आयोग के गठन की भी घोषणा की है. कांग्रेस ने स्थानीय युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने वाले उद्योगों को जीएसटी में राहत देने की बात भी कही है.

इसे भी पढ़ेंःमोमेंटम झारखंड का हवाला देकर प्राइवेट यूनिवर्सिटी नहीं बना रही कैंपस

प्रदेश में सामाजिक सुरक्षा के तहत बुजुर्गो को दी जाने वाली पेंशन राशि को 3,00 रुपये से बढ़ाकर 1,000 रुपये प्रतिमाह करने का वादा किया गया है. गरीबों को 100 रुपये प्रति माह गैस सिलेण्डर का अनुदान देने और लड़कियों को स्नात्कोत्तर तक निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराने की घोषणा की गई है. समाज के सामान्य वर्ग की समस्याओं पर ध्यान देने के लिये कांग्रेस ने सामान्य वर्ग आयोग के गठन की घोषणा की है. कांग्रेस ने सभी विभागों के दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों, सफाई कर्मियों को नियमित करने, वरिष्ठ नागरिकों के लिये वरिष्ठ नागरिक कल्याण बोर्ड का गठन करने, वकीलों एवं पत्रकारों के लिये सुरक्षा अधिनियम लागू करने, प्रदेश में चार नए मेडिकल कॉलेज खोलने का वादा भी वचन पत्र में किया है.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भाजपा के पिछले 15 सालों के शासन काल में हुए व्यापमं जैसे घोटालों की जांच के लिये जन आयोग के गठन की बात भी कही है. इसके साथ ही लोक सेवा प्रदाय गारंटी के स्थान पर जन जवाबदेह कानून बनाने का भी वादा किया गया है.

भाजपा जैसा ‘जुमला पत्र’ नहीं- सिंधिया

पार्टी का घोषणा पत्र जारी करने के दौरान कांग्रेस नेताओं ने भाजपा को आड़े हाथों लिया. बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए सिंधिया ने कहा, ‘‘हम वचन पत्र लेकर आये हैं. भाजपा जैसा जुमला पत्र नहीं . इस वचन पत्र में सभी वर्ग के कल्याण के लिये वचन किया गया है.’’ कांग्रेस के 112 पृष्ठ के वचन पत्र में 50 विषयों पर 973 बिन्दुओं पर वचन किया गया है. वचन पत्र जारी करने के मौके पर प्रदेश कांग्रेस चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया, प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भी उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ेंःमनोज तिवारी से धक्का-मुक्कीः MLA अमानतुल्लाह के खिलाफ FIR

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: