न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मनोज तिवारी से धक्का-मुक्कीः MLA अमानतुल्लाह के खिलाफ FIR

40

New Delhi: दिल्ली में सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन समारोह के दिन बीजेपी और आप कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प का मामला गहराने लगा है. ब्रिज के उद्घाटन समारोह में एक तरफ जहां मनोज तिवारी की दिल्ली पुलिस के अफसरों के अलावा AAP कार्यकर्ताओं से झड़प हुई थी, तो वहीं आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान मनोज तिवारी को धक्का देते दिखाई दिए थे.

इसे भी पढ़ेंःमोमेंटम झारखंड का हवाला देकर प्राइवेट यूनिवर्सिटी नहीं बना रही कैंपस

अब पूरे मामले को लेकर आप विधायक अमानतुल्लाह खान के खिलाफ दिल्ली पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई गई है. इस एफआईआर में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नाम भी दर्ज है.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड के 40 हजार स्कूलों में अब मोबाइल एप से होगी निगरानी

अमानतुल्ला से हो सकती है पूछताछ

मिली जानकारी के मुताबिक, विधायक अमानतुल्लाह के खिलाफ आईपीसी की 6 धाराओं 323 (मारपीट करना), 506 (जान से मारने की धमकी देना), 308 (चोट पहुंचाना), 120B (आपराधिक षड़यंत्र रचना), 341 (रास्ता रोकना) और 34 (कॉमन इंन्टेशन) के तरह मामले दर्ज किया गया है. इस मामले की जांच दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच कर रही है. सूत्रों की मानें तो दिल्ली पुलिस जल्द ही इस मामले में आप विधायक से पूछताछ कर सकती है.

‘आप’ ने भी दर्ज कराया है मामला

ज्ञात हो कि सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन समारोह में हुए हंगामे मामले में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भी FIR दर्ज करवाई है. जिसमें बीजेपी कार्यकर्ताओं और सांसद मनोज तिवारी का नाम दर्ज है. इस केस को भी क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर किया गया है. सिग्नेचर ब्रिज उद्घाटन हंगामे मामले में दिल्ली पुलिस के उस्मानपुर थाने में 3 एफआईआर दर्ज हुई थीं. इन तीनों मामले की जांच अब क्राइम ब्रांच कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड स्टेट स्पोर्ट्स प्रमोशन सोसाइटी में नहीं है सब कुछ ठीक-ठाक

उल्लेखनीय है कि वजीराबाद में यमुना पर बने सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन के मौके पर 4 नवंबर को भाजपा व ‘आप’ कार्यकर्ताओं में विवाद हुआ था. पुलिस को दोनों तरफ से आठ शिकायतें मिली थीं, जिनमें से तीन केस दर्ज किए गए थे.

इसे भी पढ़ेंः18 साल बाद भी अधर में झारखंड-बिहार के बीच 2584 करोड़ की पेंशन…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: