JharkhandRanchi

औद्योगिक घरानों की कंपनियों को मोदी सरकार पहुंचा रही 27 रुपये प्रति लीटर डीजल का फायदा: राजेश ठाकुर

  • प्रवासी मजदूरों से रेलवे का किराया वसूलने की खबर आने के बाद कांग्रेस कार्यकारी अध्य़क्ष का मोदी सरकार पर निशाना

Ranchi :  देश की जनता के साथ केंद्र सरकार द्वारा किये भेदभाव को लेकर झारखंड प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्य़क्ष राजेश ठाकुर ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है.

उन्होंने कहा है कि आम जनता एवं किसानों को केंद्र सरकार 63.75 रुपये प्रति लीटर डीजल दे रही है. दूसरी ओर औद्योगिक घरानों की बड़ी निजी कंपनियों व अर्ध सरकारी कंपनियों को 37 रुपये प्रति लीटर डीजल दे रही है.

मोदी सरकार ने कोरोना संकट के बीच के एक महीने के दौरान 17 से 27 रुपये प्रति लीटर डीजल तक ऐसी कंपनियों को सीधा लाभ पहुंचाया गया है.

Sanjeevani

दरअसल बीजेपी सरकार ने जनता से लगभग 17 से 27 रुपये प्रति लीटर डीजल की कीमत ज्यादा वसूल रही है. राजेश ठाकुर का यह बयान दरअसल मोदी सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों से किराया वसूली को लेकर आया है.

इसे भी पढ़ें – #Corona : गढ़वा में दो मरीजों की दूसरी रिपोर्ट भी आयी निगेटिव, लिया जायेगा तीसरा सैंपल

साबित हुआ कि मोदी सरकार जनता नहीं पूंजीपतियों की है सरकार

औद्योगिक घरानों की कंपनियों को मोदी सरकार पहुंचा रही 27 रुपये प्रति लीटर डीजल का फायदा: राजेश ठाकुरप्रेस बयान जारी कर उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी जहां मजदूरों के हित में काम करती रही है, वहीं केंद्र की मोदी सरकार इस आर्थिक स्थिति में इन मजदूरों का शोषण कर रही है.

केंद्र जिस तरह का गैर जिम्मेदाराना व्यवहार कर रही है, उससे तो यही लगता है कि जनता ने उन्हें सत्ता नहीं सौंपी है बल्कि वह स्वत: या पूंजीपतियों की वजह से सत्ता में आ गये हैं.

राज्य सरकार के जीएसटी के पैसे को केंद्र सरकार दबाये बैठी है, जबकि राज्य सरकार आर्थिक संकट से जूझ रही है. ऐसे समय में जब जनता कठिन समय से गुजर रही है, किसानों के हालात दयनीय हो गये हैं, प्रति लीटर डीजल में उद्योगपतियों को इतना अधिक लाभ देना समझ से परे है.

केंद्र की इस नीति से यह स्पष्ट कर दिया है कि मोदी सरकार जनता की सरकार नहीं पूंजीपतियों की सरकार है.

इसे भी पढ़ें – CAA का विरोध करनेवाली जामिया स्टूडेंट #SafooraZargar को उसकी प्रेग्नेंसी को लेकर किया जा रहा बदनाम

केंद्र की भेदभाव वाली नीति को देख कांग्रेस अध्य़क्ष ने दिया निर्देश 

राजेश ठाकुर ने कहा कि केंद्र सरकार के इसी तरह के गैर जिम्मेदाराना व्यवहार को देखते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी की अध्यक्षा ने प्रदेश कांग्रेस को निर्देश दिया है कि प्रवासी मजदूरों के रेल किराये का भुगतान कांग्रेस पार्टी करे.

प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है और जल्द ही प्रवासी मजदूरों को लाने की कवायद शुरू हो जायेगी.

इसे भी पढ़ें – #CoronaEffect : बीएसएफ में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 67 हुए, सबसे ज्यादा दिल्ली और त्रिपुरा में

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button