JharkhandLead NewsRanchi

MNREGA: बगैर काम के बिरसा मुंडा के खेत में डोभा निर्माण के नाम पर डकार ली गयी राशि

Ranchi : पलामू जिले में कोरोना संक्रमण के बीच मनरेगा में गड़बड़ी की शिकायत आयी है. बिना काम के पैसे निकाले जाने का मसला सामने आया है.

मनरेगा स्कीम में बिना काम किये ही फर्जी दस्तावेज़ में मजदूरों के नाम डाल कर कर राशि गबन की शिकायतें लगातार मिल रही हैं. हाल में दो-तीन ऐसे केस सामने आये हैं जिनमें कुल मिला कर लगभग डेढ़ लाख से अधिक की निकासी कर लग गयी है.

इसे भी पढ़ें :संडे लॉकडाउन: शहर के चौक-चौराहों पर होगी मास्क चेकिंग, जरूरत पड़ी तो अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती

advt

बिरसा मुंडा के खेत में करप्शन का खेल

पलामू के रामगढ़ प्रखंड के बेडमा बभंडीह में एक ताजा केस सामने आया है. यहां कोरवादोहरी टोला में बिरसा मुंडा के खेत में डोभा निर्माण स्वीकृत है. इसका योजना कोड 3405002025/IF/7080901378229 है.

इसकी प्राक्कलित राशि 1.31 लाख है. कोरवादोहरी टोला के ग्रामीणों को योजना स्वीकृति की कोई जानकारी नहीं है. न ही पिछले 2 महीने के दौरान कोई डोभा निर्माण का कार्य किया गया है. दिलचस्प यह है कि उक्त योजना में 10 मई से 2 जून तक 13 मजदूरों के नाम से 49,950 रुपये की फर्जी निकासी कर ली गयी है.

सिर्फ यही नहीं, उन मजदूरों के नाम से 3 से 9 जून तक डिमांड भी किया गया है. पिछले वित्तीय वर्ष में 63722 रुपये की निकासी कर ली गयी थी.

इसे भी पढ़ें :मेयर निकलीं सफाई देखने, गायब रहे अधिकारी, नगर निगम में पब्लिक फ्रेंडली अधिकारी नियुक्त करने की सरकार से मांग

विकास के खेत में डोभा निर्माण का गोरखधंधा

एक अन्य योजना विकास बारला के खेत में डोभा निर्माण की है. इसका योजना कोड 3405002025/IF/7080901378230 है. इसकी प्राक्कलित राशि 1.31 लाख है. लाभुक स्वयं यहां के वार्ड सदस्य भी हैं.

उन्होंने योजना स्थल को दिखाते हुए बताया कि योजना पिछले बरसात के पहले ही पूरी कर ली गयी थी. पंचायत के मुखिया के मुताबिक अभी बिल फ़ाइनल नहीं हुआ है. फोटो वगैरह कराना है.

योजना में इस साल दूसरा कोई काम नहीं किया गया है जबकि इस योजना में भी 10 मई से 23 मई तक 32400 रुपये की निकासी की गयी है. पिछले साल (2020) इसमें 52,364 रुपये की निकासी की गयी थी.

इसमें कोरवादोहरी टोला के विकास बारला एवं उनकी पत्नी नमलेन समद, किशोर कंडूलना, आशीष कंडूलना, कुंवारी मुरुम, विश्वासी बागे, फगुआ कंडूलना, सुधीर कंडूलना और मेरी अल्बीना सोय के नाम से दो-दो सप्ताह की हाजिरी बनायी गयी है.

इनमें से सुधीर कंडूलना राजमिस्त्री का काम हमेशा करते हैं. मेरी अल्बीना ने अभी 10 दिन पूर्व बच्चे को जन्म दिया है. फगुआ कंडूलना काफी बुजुर्ग हैं.

इसी तरह तीसरी योजना ग्राम-बेडमा, कोरवा दोहरी से हरि भुइयां के घर होते हुए शिव स्थान तक मिट्टी मोरम पथ निर्माण का है.

इसमें भी ग्रामीणों ने बताया कि पूरा काम जेसीबी द्वारा एक महीने पूर्व करा लिया गया है पर इसमें मुखिया, रोजगार, पंचायत सचिव और प्रखंडकर्मियों की मिलीभगत से लगातार फर्जी मजदूरों के नाम से सरकारी पैसे का गबन किया जा रहा है.

गड़बड़ियों की होगी शिकायत

झारखण्ड नरेगा वाच के संयोजक जेम्स हेरेंज कहते हैं कि तीन मामलों में गड़बड़ियों से सबंधित शिकायत मिली है. इन मामलों पर कार्रवाई के लिए उच्च अधिकारियों को जल्दी ही लेटर लिखा जायेगा. योजना में सरकारी पैसे का गबन होने की पुख्ता सूचना मिली है.

इसे भी पढ़ें :चाईबासा जिला खनन पदाधिकारी पर भड़के सरयू राय, कहा- कानून से हैं ऊपर

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: