JharkhandRanchi

मेयर निकलीं सफाई देखने, गायब रहे अधिकारी, नगर निगम में पब्लिक फ्रेंडली अधिकारी नियुक्त करने की सरकार से मांग

Ranchi : मानसून की बारिश से पूर्व शनिवार को मेयर डॉ आशा लकड़ा ने वार्ड-9, 21, 22, 23 व 24 में नालियों की साफ-सफाई का निरीक्षण किया. इस दौरान नगर निगम के एक भी अधिकारी मौजूद नहीं थे.

जबकि मेयर ने शुक्रवार को ही संबंधित अधिकारियों को उपस्थित रहने का निर्देश दिया था. उन्होंने कहा कि जलजमाव से निपटने के लिए लगातार बड़े व छोटे नालों की सफाई की जा रही है.

advt

बड़े नालों के क्षतिग्रस्त हिस्से को दुरुस्त करने के लिए इंजीनियरिंग शाखा के अधिकारियों को निर्देश दिया जा चुका है. उन्होंने कहा कि शहर की आबादी लगभग 20 लाख के करीब है.

इसे भी पढ़ें: चाईबासा जिला खनन पदाधिकारी पर भड़के सरयू राय, कहा- कानून से हैं ऊपर

धीरे-धीरे हर वार्ड में पहुंचने की कोशिश कर रही हूं ताकि समस्याओं का निपटारा किया जा सके. साथ ही कहा कि नगर आयुक्त मुकेश कुमार को शहरवासियों की परेशानी की कोई चिंता नहीं है.

न तो वे विकास कार्य करना चाहते हैं और न ही निगम के अन्य अधिकारियों को कार्य करने दे रहे हैं. राज्य सरकार ने दो अन्य विभागों का प्रभार दे दिया है, वे शहर की 20 लाख आबादी की समस्या का समाधान कैसे करेंगे.

उन्होंने राज्य सरकार से आग्रह करते हुए कहा कि रांची नगर निगम में ऊर्जावान व पब्लिक फ्रेंडली अधिकारी की नियुक्ति की जाये.

इसे भी पढ़ें :लातेहार में मारा गया युवक नक्सली नहीं, ग्रामीण है

एजेंसी ने नहीं करायी गाद की सफाई

मेयर ने जोड़ा तालाब के अधूरे कार्यों का भी निरीक्षण किया. इंजीनियरिंग शाखा के अधिकारियों के नहीं रहने के कारण उन्हें जोड़ा तालाब के अधूरे कार्यों की जानकारी नहीं मिली.

उन्होंने कहा कि अधिकारियों से बात कर तालाब के आधे-अधूरे कार्य को जल्द से जल्द पूरा कराया जायेगा. वहीं वार्ड-21 के निरीक्षण के दौरान उन्होंने पाया कि मंदिर व आंचल शिशु आश्रम के समीप गंदगी का ढेर लगा है.

जिसे साफ करने का निर्देश जोनल सुपरवाइजर को दिया गया है. बड़ा तालाब के आधे-अधूरे सुंदरीकरण कार्य पर आपत्ति जताते हुए कहा कि रांची नगर निगम ने अपने स्तर से तालाब से जलकुंभी को निकाल दिया है, लेकिन एजेंसी ने तालाब में पड़े गाद की सफाई नहीं करायी है.

इसे भी पढ़ें :संडे लॉकडाउन: शहर के चौक-चौराहों पर होगी मास्क चेकिंग, जरूरत पड़ी तो अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती

अब तक पूरा नहीं हुआ टेंडर

उन्होंने कहा कि वर्तमान में पहाड़ी टोला समेत शहर के कई हिस्सों से गंदा पानी बड़ा तालाब में ही गिराया जा रहा है. गंदा पानी को साफ करने के लिए सिवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने की योजना तैयार कर टेंडर भी निकाला गया लेकिन अब तक टेंडर प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है.

रेट रिवाइज्ड होने के बाद 14वें वित्त आयोग की कई योजनाएं लंबित हैं. पूर्व में निकाले गये टेंडर को रद्द कर नये रेट से टेंडर निकालने की तैयारी की जा रही है.

मेयर ने यह भी कहा

  • वार्ड-23 व 24 को जोड़ने वाले जर्जर पुल की हालत खराब
  • जुडको पर लगाया आरोप हरमू नदी को बर्बाद कर दिया
  • जर्जर पुल के समीप नदी से गाद को निकाल कर छोड़ा
  • जर्जर पुल का नये सिरे से निर्माण कराया जायेगा

इसे भी पढ़ें: GOOD NEWS : ब्लैक फंगस की दवा टैक्स फ्री, मेडिकल उपकरणों सहित कई दवाओं पर GST में भारी कटौती

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: