JamshedpurKhas-Khabar

#Jamshedpur: कोल्हान में नेताओं की लंबी लिस्ट में उलझी BJP, चेहरे के संकट से जूझ रहा JMM, चाईबासा में CONG की हुंकार

Jamshedpur: कोल्हान की सियासत उबाल पर है. सभी राजनीतिक दल को इतना इल्म है कि अगर झारखंड पर कब्जा जमाना है तो कोल्हान में सियासी जीत जरुरी है. कांग्रेस को इस क्षेत्र से कभी निर्णायक कामयाबी नहीं मिली है.

Jharkhand Rai

कोल्हान हमेशा से जेएमएम का गढ़ रहा है. जहां अब भाजपा सेंध लगाने में कामयाब हो रही है. लेकिन फिर भी कोल्हान पर कब्जे के लिए जिसको जितनी समझ आ रहा है उतना कर रहा है. गठबंधन में सत्ता का सुख भोग चुकी कांग्रेस को इस यकीन से कोई गुरेज नहीं कि एक-न-एक दिन उसका भी टाइम आएगा.

इसे भी पढ़ेंः#ViralVideo: मुख्यमंत्री जोहार जनआशीर्वाद यात्रा में क्या नहीं जुट रही भीड़, महिलाओं को साड़ी का लालच देकर बुलाया!

उदहारण के तौर पर कांग्रेस की चाईबासा में हुई जनाक्रोश रैली को ही देख लीजिए. जहां पार्टी ने पूरी ताकत झोंकी. पहले शहर में जोरदार रैली हुई, फिर सभा में नेताओ की लंबी फौज दिखी. चुनावी जंग की खुद कमान संभाल रहे झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह के साथ प्रदेश अध्यक्ष डॉ रामेश्वर उरांव, मधु कोड़ा, गीता कोड़ा यहां तक की कांग्रेस से इन दिनों दूर चल रहे बन्ना गुप्ता भी दिखे.

Samford

और तो और मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के दो मंत्रियों को बतौर बौरो (borrow) खिलाड़ी भी मैदान में उतारा. ताकि दोनों राज्य की सरकार का हवाला देकर झारखंड की जनता को कांग्रेस की सरकार के लिए उत्साहित किया जा सके. हुआ भी ठीक वैसा ही दोनों मंत्रियों ने रट्टू तोते की तरह एक सिरे से सरकार का बखान किया लेकिन बीच-बीच में बीजेपी पर भी बरसना नहीं भूले.

टीम कांग्रेस का रघुवर सरकार पर हमला

जनाक्रोश रैली की शुरूआत टीम कांग्रेस ने रघुवर सरकार को उखाड़ फेंकने के संकल्प के साथ की. झारखंड प्रभारी आरपीएन सिंह ने रघुवर सरकार पर राज्य को लुटने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार अमीरों की पार्टी है, जो गरीबों से परहेज करती है.

राज्य के लिए कांग्रेस ही एकमात्र विकल्प है जो गरीबों के लिए काम करने का मद्दा रखती है. प्रदेश प्रभारी डॉ रामेश्वर उरांव ने भी भाजपा को हिंदुस्तान को लुटनेवाली पार्टी करार देते हुए गरीब आदिवासी की बजाये नाथूराम गोडसे की राह पर चलने वाली पार्टी बताया.

पूरी टीम कांग्रेस की कोशिश यही रही कि भाजपा को कांग्रेस के कोल्हान में मजबूती से मैदान उतरने के संकेत मिले. सभा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री मधुकोड़ा उनकी पत्नी गीता कोड़ा समेत सभी को बोलने का मौका मिला और सभी ने भाजपा को ही टारगेट किया. नोट करने वाली बात ये रही कि जेएमएम के खिलाफ किसी की भी जुबान से एक शब्द भी नहीं निकला.

इसे भी पढ़ेंः#Jamshedpur: कुणाल षाड़ंगी के फैसले ने बढ़ा दी बीजेपी और जेएमएम दोनों की मुश्किलें, कुणाल लड़ेंगे चुनाव तो क्या करेंगे डॉ दिनेशानंद और समीर

आरपीएन की बन्ना को फटकार

खबर ये भी है की सभा के बाद गुपचुप तरीके से बन्ना गुप्ता से नाराज चल रहे आरपीएन सिंह ने बन्ना को जमकर फटकार लगाई. दरअसल आरपीएन सिंह को शिकायत मिली थी कि बन्ना भी पार्टी छोड़ने के मूड में है और क्षेत्र में बगैर कांग्रेसी झंडे और बगैर बड़े नेताओं के चेहरे वाले बैनर चुनाव प्रचार में इस्तेमाल कर रहे हैं.
आरपीएन सिंह ने बन्ना को दो टूक में समझाया कि बतौर कांग्रेसी बन्ना ने मंत्री तक का सफर तय किया है.जितना बन्ना को कांग्रेस से मिला है उतना बन्ना को कोई और पार्टी नहीं दे सकती.

इसे भी पढ़ेंःसांसद बने छह महीने बीत गये, लेकिन अब तक माननीयों ने आदर्श ग्राम योजना के लिये गांवों का नहीं किया चयन

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: