Ranchi

उग्रवादी पुनई उरांव के इशारे पर हुई थी जमीन कारोबारी इम्तियाज अंसारी की हत्या, मर्डर में शामिल अपराधी गिरफ्तार

Ranchi: जमीन कारोबारी इम्तियाज अंसारी हत्याकांड में शामिल तीन अपराधियों को रांची पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. राजधानी रांची के रातू थाना क्षेत्र के बिजुलिया मोड़ पर बीते 13 जनवरी की शाम इम्तियाज की हत्या की गयी थी. इस केस में गिरफ्तार हुए अपराधियों में आसिफ अली, आकाश लिंडा और राजकुमार उरांव शामिल है.

इसे भी पढ़ेंःकुछ ऐसी होगी गठबंधन वाली हेमंत सरकार के मंत्रिमंडल की सूरत

पुलिस ने गिरफ्तार हुए अपराधियों के पास से दो पिस्टल,एक रिवाल्वर और एक देसी कट्टा सहित कई अन्य सामान बरामद किये हैं. बता दें कि पीएलएफआइ उग्रवादी पुनई उरांव के इशारे पर घटना को अंजाम दिया गया.

Catalyst IAS
SIP abacus

रांची एसएसपी के निर्देश पर गठित हुई थी टीम

Sanjeevani
MDLM

इम्तियाज अंसारी की हत्या में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए वरीय पुलिस अधीक्षक रांची अनीश गुप्ता के निर्देश पर ग्रामीण एसपी ऋषभ झा के नेतृत्व में एक टीम बनाकर छापेमारी दल का गठन किया गया.

11 एकड़ जमीन को लेकर था विवाद, उग्रवादी पुनई उरांव के इशारे पर हुआ मर्डर (गिरफ्तार आरोपियों की जानकारी देती रांची पुलिस)

छापेमारी दल द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए हत्याकांड में संलिप्त एक अपराधी आकाश लिंडा को गिरफ्तार किया गया. फिर उसकी निशानदेही पर दो अन्य अपराधियों को गिरफ्तार किया गया.

11 एकड़ जमीन को लेकर था विवाद

इम्तियाज अंसारी हत्याकांड के पीछे जमीन का विवाद सामने आ रहा है. बताया जा रहा है कि इम्तियाज अंसारी ने नया सराय टुंडुल में 11 एकड़ जमीन अपनी पत्नी के नाम से एग्रीमेंट करायी थी.

इसे भी पढ़ेंःअधिकारियों की मनमानीः चतरा में 8-12 जनवरी तक संविदा कर्मी को दिया गया #DDC और #DRDA का प्रभार

उसी जमीन को लेकर मुड़मा  टुंडुल के आजाद अंसारी व अलीम अंसारी के साथ उसका विवाद था. उन लोगों ने इम्तियाज को परिणाम भुगतने की धमकी भी दी थी.

उग्रवादी पुनई उरांव का खास शूटर है आकाश लिंडा

बता दें कि इम्तियाज अंसारी हत्याकांड में गिरफ्तार हुआ शूटर आकाश लिंडा उग्रवादी पुनई उरांव का काफी करीबी था. पुनई उरांव के द्वारा किसी भी हत्या की सुपारी ली जाती थी तो उसमें आकाश लिंडा सबसे पहले गोली चलाता था.

बता दें कि इस गिरोह के द्वारा हाल के महीने में कई हत्या की घटना को अंजाम दिया गया था. जिनमें 21 दिसंबर 2019 को मांडर में जेएमएम नेता सुबोध तिवारी की हत्या, 2018 में नगड़ी थाना क्षेत्र में बाबू खान की हत्या और अगस्त 2019 में रुक्का डैम के पास सुंदरदास पर गोली चला कर हत्या करने का प्रयास करने जैसी घटनाएं शामिल है.

इसे भी पढ़ेंः10 साल से बन रहा रांची विवि का रेडियो खांची, उद्घाटन की बाट जोह रहा 76 लाख का स्टूडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button