न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एग्जिट पोल की माने तो ऐसी होगी अबकी बार झारखंड की सरकार!

6,594

Akshay Kumar Jha

Ranchi: मतदान खत्म होते ही एग्जिट पोल की झरी लग गयी. कई तरह के एग्जिट पोल और आंकलन का दौर शुरू हो गया. लेकिन तीन एग्जिट पोल जो बड़े मीडिया हाउस के थे उसे सबसे ज्यादा देखा और पढ़ा जा रहा है. तीनों एग्जिट पोल में बीजेपी को बहुमत के आस-पास नहीं देखा जा रहा है.

Aqua Spa Salon 5/02/2020

बीजेपी का नारा अकबी बार 65 पार को एग्जिट पोल के मुताबिक औंधे मुंह गिरना पड़ रहा है. अब झारखंड में बारी है राजनीति के उस चाल की जो सत्ता के मंजिल तक पहुंचा दे. झारखंड में जेएमएम या फिर बीजेपी की ही सरकार बननी है. इसकी मुख्य भूमिका में कांग्रेस और आजसू जैसी पार्टियां रहेंगी. वहीं लेफ्ट और निर्दलीय को बड़ी सफलता की उम्मीद से नकारा नहीं जा रहा है.

सत्ता पर काबिज होने के लिए झारखंड भर में फोन की घंटी घनघना रही है. 23 दिसंबर वो दिन होगा जो तय करेगा कि झारखंड में इस बार खरीद-फरोख्त, भागम-भाग और हॉर्स ट्रेडिंग होगा या नहीं.

इसे भी पढ़ें- #CAA के बाद हिंसा: गृहमंत्री के रूप में अमित शाह की दूसरी बड़ी विफलता है यह

इंडिया डुडे-एक्सिस माय इंडिया की माने तो

इंडिया डुडे-एक्सिस माय इंडिया के एग्जिट पोल में साफ तौर पर जेएमएम के गठबंधन को बहुमत दिया जा रहा है. उनका आंकलन है कि जेएमएम, कांग्रेस और राजद को मिलाकर 38-55 सीट तक आ सकते हैं. अगर ऐसा होगा तो हेमंत सोरेन आसानी से झारखंड के नये सीएम होंगे और राज्य में गठबंधन की सरकार बन जाएगी.

वहीं इस ग्रुप में बीजेपी को सिर्फ 22-32 सीट दिये हैं और आजसू को 03-05. हमेशा की तरफ आजसू अगर बीजेपी के साथ भी आता है तो सरकार नहीं बना पायेगा. जबकि जेवीएम को 02-04 और अन्य को 04-07 सीट दिये गये हैं. जो सरकार बनाने के किसी काम में नहीं आयेंगे.

एबीपी-सी वोटर्स की माने तो

एबीपी-सी वोटर्स के एग्जिट पोल की बात करें तो यहां बीजेपी भी सरकार बना सकती है और जेएमएम भी. अगर इस ग्रुप का आंकलन सही होगा तो वो सबकुछ देखने को मिलेगा जो सरकार बनाने से पहले कुछ राज्यों में देखने को मिला है.

यह ग्रुप बीजेपी को 32 सीट दे रहा है और आजसू को 05 सीट. दोनों को मिला कर 37 सीट होता है. सरकार बनाने के लिए कुल 41 विधायकों की जरूरत है. वहीं जेएमएम गठबंधन को इस ग्रुप की तरफ से 35 सीट दी जा रही है. जो कि जादुई आंकड़े से काफी पीछे है. ऐसे में सबकी नजर जेवीएम पर होगी जिसे 03 सीट दी गयी है.

बीजेपी अगर इसे अपनी तरफ करती है तो बीजेपी को सिर्फ एक और सीट की जरूरत पड़ेगी. जिसे मैनेज करना बीजेपी के लिए आसान सी बात है. लेकिन अगर जेएमएम के साथ जेवीएम जाता है तो फिर जेएमएम को अन्य जिसे 06 सीट दी गयी है उससे चार को अपनी तरफ करना होगा. जो थोड़ा मुश्किल है.

इसे भी पढ़ें- #CAAProtest : UP के कई शहरों में इंटरनेट बंद,  हाईकोर्ट ने  योगी सरकार से जवाब तलब किया

टाइम्स नाउ की माने तो

सबसे अजीबो-गरीब इस ग्रुप का एग्जिट पोल है. टाइम्स नाउ ने सीधे तौर पर राज्य में जेएमएम, कांग्रेस और राजद की सरकार बनवा दी. इस ग्रुप में गठबंधन को 44 सीट दे दिया है. जिसके बाद किसी को कुछ करने की जरूरत नहीं है. बस हेमंत शपथ लेनी की जरूरत है. वहीं इस ग्रुप में बीजेपी को 28. आजसू को जीरो. जेवीएम को 03 और अन्य को 06 सीट दिया है. जिससे सरकार पर किसी तरह का कोई असर पड़ता नहीं दिख रहा है.

23 दिसंबर को चौंका सकते हैं नतीजे

कई बार एग्जिट पोल को देश में मुंह के बल गिरते हुए देखा गया है. हरियाणा चुनाव इसका जीता जागता उदाहरण है. ऐसे में झारखंड में भी नतीजे चौंका सकते हैं. इधर बात यह कही जा रही है कि बीजेपी को अगर 32 से ज्यादा सीट आती है तो वो आजसू के साथ मिलकर सरकार बना सकती है.

मामला सीएम फेस को लेकर फंस सकता है. लेकिन बीजेपी ऐसे मसलों को सुलझाना काफी अच्छी तरह से जानती है. वहीं कहा जा रहा है कि जेएमएम, कांग्रेस और राजद के साथ लेफ्ट की दो सीट और एक-दो निर्दलीय मिलकर सरकार बनाने की भी पूरी कोशिश की जायेगी.

इसे भी पढ़ें- रांची निर्भया केस: हत्या के आरोपी राहुल को CBI कोर्ट ने दी फांसी की सजा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like