BiharLead News

भागलपुर ब्लास्ट को ले IB ने किया था अलर्ट, प्रशासन ने किया नजरअंदाज, अब तक 10 की मौत

ब्लास्ट से जमीनदोज हुए मकान का मलबे को हटाने का चल रहा है काम

Bhagalpur. भागलपुर में देर रात 2 मंजिली इमारत में हुए ब्लास्ट ने पूरे बिहार के लोगों को हिला कर रख दिया है. इस घटना में अब तक 10 लोगों के मौत की सूचना आ रही है. ब्लास्ट से जमीनदोज हुए मकान के मलबे को हटाने का काम चल रहा है. इस घटना को लेकर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है . मौके पर आला अधिकारी कैंप किए हुए हैं.

हालांकि इस बीच यह जानकारी सामने आ रही है कि भागलपुर में बम ब्लास्ट को लेकर इंटेलिजेंस ब्यूरो ने पहले से ही स्थानीय प्रशासन को अलर्ट किया था. हालांकि पुलिस ने इसे गंभीरता से नहीं लिया, जिस कारण अब तक 9 लोगों की अपनी जान गवानी पड़ी है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड के 21 जिलों में बनेंगे बहुउद्देशीय परीक्षा भवन, मिली स्वीकृति

Sanjeevani

भागलपुर के दो शख्स विस्फोटक के साथ हुआ थे गिरफ्तार

गौरतलब है कि हाल ही में भागलपुर के दो शख्स को विस्फोटक समान के साथ कोलकाता पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इसको लेकर भागलपुर में कई जगह पर गिरफ्तार लोगों की निशानदेही पर छापेमारी की गई थी. इसके बाद आईबी की टीम ने भागलपुर पुलिस को अलर्ट किया था.

जानकारी हो कि कुछ दिनों पहले ही भागलपुर के नाथनगर रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म संख्या दो पर डेटोनेटर बम बरामद किया गया था. इसके बाद नाथनगर रेलवे स्टेशन के करीब रेलवे ट्रैक किनारे जोरदार बम ब्लास्ट में एक व्यक्ति की मौत हुई थी.

लगातार बढ़ रहे हैं मरने वालों की संख्या

ब्लास्ट में जैसे जैसे बिल्डिंग के मलबे को हटाया जा रहा है, मरनेवालों की संख्या भी बढ़ती जा रही है. जहां बीती रात पांच लोगों के मरने की खबर सामने आ रही थी, वहीं शुक्रवार सुबह यह आंकड़ा बढ़कर 9 पहुंच चुका है. बताया जा रहा है कि मरनेवालों की संख्या और बढ़ सकती है.

इसे भी पढ़ें : भूमिहीनों को बेदखल किए जाने के मामलों पर अंचलाधिकारी के समक्ष करें शिकायत

जांच में जुटी एफएसएल की टीम

भागलपुर के डीएम सुब्रत कुमार ने कहा कि सभी अधिकारी जांच कर रहे हैं. घटना का कारण सम्भवतः पटाखा मटेरिल में विस्फोट है. अभी तक जो जानकारी मिली है कि पीड़ित परिवारों में से एक परिवार पटाखा बनाने का काम करता था. जिसके घर में पहले भी विस्फोट की घटना हो चुकी है. उसी के घर में विस्फोटक पदार्थ में विस्फोट हुआ प्रतीत होता है. बम डिस्पोजल टीम और एफएसएल की टीम के निरीक्षण के बाद स्थिति कुछ ओर स्पष्ट हो सकेगी.

इसे भी पढ़ें : पंचायत सचिव अभ्यर्थियों पर लाठीचार्ज करने वाले प्रशासनिक अधिकारियों पर हो कार्रवाई, लंबोदर महतो ने की मांग

Related Articles

Back to top button