JharkhandMain SliderRanchi

अपनों पर सितम-गैरों पर रहम ! IAS अफसरों को तोहफा में रिटायरमेंट प्लान, टेकेनोक्रेट्स हो गये दरकिनार

विज्ञापन

Ravi Bharti

Ranchi: अपनों पर सितम और गैरों पर रहम का खेल सत्ता के गलियारों में खूब चला. खेल अभी भी जारी है. यूं कहें कि अपनों के साथ तारीख पर तारीख, दिलासा, भरोसा और आश्वासन का खेल खूब खेला गया. जबकि सरकार के चहेते अफसरों को तर किया गया.

इसे भी पढ़ेंःबिजली संकट : BJP MLA ढुल्लू महतो की वजह से बिजली कंपनियों को नहीं मिल रहा 6-7 लाख टन कोयला, क्या यह राष्ट्रद्रोह नहीं!

advt

वरीय आईएएस अफसरों को बतौर बोर्ड-निगम में जगह देकर बेहतर रिटायरमेंट प्लान का तोहफा दिया गया. प्लान ऐसा कि पद, पैसा के साथ तीन व पांच साल के लिए बुक. वहीं भाजपा के कार्यकर्ता इस पद तक पहुंचने के लिये राह तकते ही रह गये. पिछले चार साल से दिलासा और सपने में ही वक्त गुजार दिये. वहीं कई वरीय टेक्नोक्रेट्स (इंजीनियर) भी दर किनार हो गये.

एक दर्जन से अधिक बोर्ड-निगम IAS के हवाले

राज्य के एक दर्जन से अधिक बोर्ड-निगम और आयोग में आईएएस अफसर काबिज हैं. इसमें अपर मुख्य सचिव रैंक के अफसर भी शामिल हैं. अफसरों की प्रभावी लॉबी के साथ उनकी पहुंच और पैरवी के आगे सरकार भी नतमस्तक है. सत्ता के गलियारों में यह भी चर्चा है कि पूर्व मुख्य सचिव राजबाला वर्मा को जेपीएससी में जगह मिल सकती है. पहले सरकार का सलाहकार बनाने की चर्चा थी.

इसे भी पढ़ेंःबीजेपी कार्यसमिति की बैठक में प्रोटोकॉल की धज्जी उड़ने के बाद, सरयू ने ट्वीट कर सबको लपेटा

दो बागी विधायक और दो भाजपा नेताओं को ही मिली जगह

रघुवर सरकार के चार साल के दौरान झाविमो से भाजपा में शामिल हुए दो बागी विधायकों को ही बोर्ड निगम में जगह मिल पाई है. इसमें झारखंड राज्य वन विकास निगम का अध्यक्ष विधायक अनिल चौरसिया को बनाया गया है. वहीं जानकी यादव को आवास बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है. प्रमुख भाजपा नेताओं में संजय सेठ को खादी बोर्ड का अध्यक्ष और मो. कमाल खान को अल्पसंख्यक आयोग का अध्यक्ष बनाया गया. इसके अलावा बाल संरक्षण आयोग में आरती कुजूर और महिला आयोग में कल्याणी शरण को अध्यक्ष बनाया गया.

adv

इसे भी पढ़ें- मैनहर्ट मामला: विजिलेंस ने मांगी 5 बार अनुमति, हाईकोर्ट का भी था निर्देश, FIR पर चुप रहीं राजबाला

इन बोर्ड निगम और आयोग में आईएएस हैं काबिज

झारखंड शिक्षा न्यायाधिकरण: पूर्व आईएएस मुखत्यार सिंह
झारखंड राज्य विद्युत नियामक आयोग- बिहार कैडर के पूर्व आईएएस अरविंद सिंह
झारखंड राज्य लोक सेवा आयोग- पूर्व अपर मुख्य सचिव के विद्यासागर
टीवीएनएल- आईएएस कुलदीप चौधरी
ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड- डॉ नितिन मदन कुलकर्णी
झारखंड राज्य बिजली वितरण निगम लिमिटेड: आईएएस राहुल पुरवार
झारखंड राज्य संचरण वितरण निगम लिमिटेड: अखिल भारतीय सेवा के निरंजन कुमार
झारखंड राज्य ऊर्जा उत्पादन निगम: आईएएस कुलदीप चौधरी

इसे भी पढ़ेंःबोकारो : टेंडर मैनेज करने को लेकर बोकारो स्टील प्लांट के ठेका कंपनीकर्मी को दबंगों ने नंगा कर पीटा

राज्य सूचना आयोग- पूर्व आईएएस आदित्य स्वरूप(मुख्य सूचना आयुक्त)
झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड: आईएफएस केपी पांडेय
झारखंड राज्य आदिवासी सहकारी विकास निगम- गौरी शंकर मिंज
झारखंड राज्य खनिज विकास निगम लिमिटेड: आईएएस अबु बकर सिद्दिकी
डॉ रामदयाल मुंडा ट्राइबल रिसर्च इंस्टीट्यूट: आईएएस रणेंद्र कुमार

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button