JharkhandMain SliderRanchi

दर्जनभर आईएफएस पर 50 करोड़ से ज्यादा गबन का आरोप, फिर भी हैं महत्वपूर्ण पदों पर काबिज

विज्ञापन

Ranchi : झारखंड कैडर के दर्जनभर आईएफएस अफसरों पर गंभीर आरोप हैं. इसके बावजूद उन्हें प्रोन्नति भी मिली और महत्वपूर्ण पदों पर काबिज भी हैं. इन अफसरों पर हाथी दांत तस्करी में मदद पहुंचाने, जंगल की जमीन बेचने, कीटनाशक दवाओं में गबन और कैंपा (बन विभाग का फंड) में घोटाला का आरोप है. 50 करोड़ रुपये से अधिक की वित्तीय अनियमितता पाई गई है. चार अफसरों के खिलाफ अभियोजन की स्वीकृति है. आठ आईएफएस निगरानी जांच के दायरे में हैं.

इसे भी पढ़ें – ‘झारखंड की मुख्यधारा से कटे अधिकांश झारखंडी’

महत्वपूर्ण पदों पर काबिज हैं अफसर

झारखंड कैडर के आईएफएस अफसर जिनपर गंभीर आरोप हैं, वे आज भी महत्वपूर्ण पदों पर काबिज हैं. पीसी मिश्र पर राष्ट्रीय खेल में हुए घोटाले का आरोप है. जांच भी चल रही है. वर्तमान में वे अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक के पद पर तैनात हैं. एनके सिंह आरसीसीएफ पलामू के पद पर तैनात हैं. राज कपूर सिन्हा डीएफओ के पद पर तैनात हैं. हालांकि इनकी प्रोन्नति रोक दी गयी है.

इसे भी पढ़ें –  खत्म होगी सिपाही से सीधे दारोगा बनाने वाली सीमित परीक्षा व्यवस्था, सरकार ने मांगा प्रस्ताव

इनपर हैं गंभीर आरोप

पी पुग्लेंदी (सेवानिवृत)- निगरानी कांड संख्या 16- 95- अभियोजन की स्वीकृति

महेंद्र कर्दम( सेवानिवृत)- निगरानी कांड संख्या 29-94 और 4-99, दोनों मामलों में अभियोजन की स्वीकृति

रामप्रताप सिंह(सेवानिवृत)- निगरानी कांड संख्या, 0-95, अभियोजन की स्वीकृति

राजकपूर सिन्हा- निगरानी कांड संख्या 13-94, अभियोजन की स्वीकृति

अखिलेश शर्मा(सेवानिवृत)- निगरानी कांड संख्या 48-95

एनके सिंह- चल रही है निगरानी जांच

एससीएच काजमी- निगरानी जांच चल रही है.

पीसी मिश्र- निगरानी जांच चल रही है.

इसे भी पढ़ें – गड़बड़झालाः मुखिया-बिचौलियों का कमाल, फर्जी लाभुक का बनवा दिया पीएम आवास

इन अफसरों पर विभागीय कार्यवाही भी

महेंद्र कर्दम – सरकारी राशि के गबन का आरोप, विभागीय कार्यवाही संख्या- 48

एनके सिंह- राज्यपाल ने दिया था निलंबन का आदेश, विभागीय कार्यवाही संख्या 1743

आरके सिंह- सरकारी राशि के गबन का आरोप, विधि विभाग संख्या 104

विजय कुमार सिन्हा- बर्खास्तगी का आदेश, कार्यवाही संख्या 4951

रवि रंजन- गबन का आरोप, जांच पत्र संख्या 285

राज्य प्रतिनियुक्ति में भी बेहतर पद पर हैं आईएफएस

एके रस्तोती – विशेष सचिव, वन एवं पर्यावरण विभाग

सर्वेश सिंघल- विशेष सचिव आईटी

अशोक कुमार- विशेष सचिव गृह विभाग

डीके सक्सेना- बाल कल्याण विभाग

परितोष उपाध्याय-विशेष सचिव,  ग्रामीण विकास विभाग

रवि रंजन- मिशन डायरेक्टर, कौशल विकास

सिर्द्धाथ त्रिपाठी- मनरेगा आयुक्त

एसआर नाटेश- फिलहाल कर्नाटक सरकार में प्रतिनियुक्ति में हैं.

इसे भी पढ़ें – धनबाद ISM-IIT में सीनियर-जूनियर छात्रों में मारपीट, रैंगिंग को लेकर बढ़ा विवाद

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close