West Bengal

सारदा घोटाले में ममता के करीबी प्रसन्ना, पांजा को सीबीआइ का नोटिस

Kolkata : सीबीआइ ने बहुचर्चित सारदा चिटफंड घोटाले में चित्रकार शुभ प्रसन्ना और कारोबारी शिवाजी पांजा को नोटिस भेजा है.

शुभ प्रसन्ना और शिवाजी पांजा को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का करीबी माना जाता है. इन पर चिटफंड के नाम पर अरबों रुपयों की हेराफेरी का आरोप है.

प्रसन्ना को 4 या 5 जुलाई को सॉल्टलेक के सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित जांच एजेंसी के पूर्वी क्षेत्रीय मुख्यालय में हाजिर होने को कहा गया है. पांजा को 9 जुलाई को मुख्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया है.

इसे भी पढ़ें : पलामू : फूफा ने नया ATM एक्टिवेट करने के बहाने भतीजी के खाते से छह लाख उड़ाये

दो करोड़ में खरीदी थी ममता बनर्जी की पेंटिंग

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी चित्रकार हैं. एक प्रदर्शनी में रखी गयी उनकी कृतियों को चिटफंड समूह ने करीब दो करोड़ रुपये में खरीदा था. प्रदर्शनी का आयोजन प्रसन्ना और पांजा ने किया था. पांजा ने इसी प्रदर्शनी में ममता की कृति  50 लाख रुपये में खरीदी थी.

प्रसन्ना की एक कंपनी ‘देवकृपा व्यापार प्राइवेट लिमिटेड’ थी. इस कंपनी का एक टेलीविजन चैनल था. इसे चिटफंड समूह को बेच दिया गया था. सीबीआई दोनों से पहले भी पूछताछ कर चुकी है. इस बार इनका बयान रिकॉर्ड किया जाना है.

इसे भी पढ़ें : आकाश विजयवर्गीय प्रकरण पर बोले पीएम मोदीः बेटा किसी का हो,मनमानी नहीं चलेगी, कार्रवाई होनी चाहिए

धन शोधन का गंभीर आरोप

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पेंटिंग खरीदने के मामले की प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी जांच कर रहा है. इस खरीदारी में धन शोधन का गंभीर आरोप है.

इस सिलसिले में तृणमूल मुख्यालय और सत्तारूढ़ पार्टी के राज्य अध्यक्ष सुब्रत बख्शी को भी नोटिस भेजा जा चुका है. कुछ लोगों से भी पूछताछ भी हुई है. पेंटिंग्स की बिक्री से प्राप्त रकम को कहां खर्च किया गया, इस पर सीबीआइ और ईडी संयुक्त रूप से पूछताछ कर चुकी है.

इसे भी पढ़ें : 60 ‘बड़े’ लोगों का सिंडिकेट करा रहा पशुओं की तस्करी; अब रात नहीं, दिन दहाड़े कारोबार

Related Articles

Back to top button