न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

1.02 करोड़ से बना गोमिया का चितू नाला चेक डैम, किसान आज भी सिंचाई से वंचित

एक  डैम के बगल से दीवार तोड़ निकल गया पानी

293

Bokaro : जिले के उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र गोमिया के सियारी पंचायत में वर्ष 2017-18 में श्रृखंलाबद्ध चेक डैम का निर्माण चितू नाला में करीब एक करोड़ दो लाख रुपए की लागत से हुआ है. लेकिन डैम बनते के साथ ही उसमें बरती गई अनियमिता भी सामने आने लगी है. डैम का निर्माण लघु सिंचाई बोकारो प्रमंडल की ओर से करीब 20 हेक्टेयर जमीन को सिंचित करने के उद्देश्य से  बनाया गया, लेकिन जिस स्थान पर चेक डैमों का निर्माण हुआ है. वहां कहीं  पर सिंचाई लायक जमीन नहीं दिखती. डैम को चिंतू गांव के एक किलोमीटर दूर घने जंगल के बीच विभाग ने ठेकेदार से करावा दिया.

अब स्थिति ऐसी हो गई है कि अभी ठीक से निर्माण पूरा भी नहीं हुआ और एक चेक डैम के किनारे को तोड़कर इससे बरसात का पानी निकल गई, जिस कारण डैम में पानी का एक बुंद भी  ठहराव नहीं हो सका. जबकि इसी चेक डैम ठीक पांच सौ मीटर उपर बने  चेक डैम में पानी का ठकराव जरुर हुआ है, लेकिन उसके दीवार में दरार आ गई, जिसे अभी सिमेंट डालकर छिपाने का काम ठेकेदार कर रहें है. वहीं इस डैम का नीचला हिस्सा, जहां से पानी को बहना है,  वह धंस चुका है. हालांकि इस चेक डैम में काफी अनियमिता लघु सिंचाई विभाग की ओर से बरती गई है, जिसे लेकर भाजपा नेता गंदौरी राम ने बताया कि ग्रामीण जिले के उपायुक्त को पत्राचार करने की तैयारी में हैं.

इसे भी पढ़ें : जमशेदपुर एफसी के खिलाड़ी की उम्र में विसंगति के मामले की जांच करेगा एआईएफएफ

पुराने चेक डैम कई स्थानों पर पड़े हैं बेकार

चुट्टे पंचायत के शास्त्री नगर में चियाटांड नाला में छह साल पूर्व 24 लाख की लागत से चेक डैम का निर्माण लघु सिंचाई विभाग की ओर से किया गया, जिसमें एक बूंद भी पानी कभी नहीं रुकता है. दंडरा के जमुआबेड़ा के नाला में वर्ष 2012-13 में 24 लाख के लागत से चेक डैम, नवडंडा के केचुआ नाला में चेक डैम इसी वर्ष बनाया गया, जिसमें पानी तो जमा है, लेकिन इसका उपयोग सिंचाई नहीं होता है. पैसरा गांव के बैगनकिरी नाला में वर्ष 2012-13 में भी 24 लाख के लागत से चेक डैम बना, जिसका भी उपयोग सिंचाई में नहीं होता है. इसी तरह लोधी पंचायत के वनचतरा, बाड़ेकोचा, कोदवाटांड में भी लघु सिंचाई विभाग की ओर से चेक डैम बनाया गया, जो सिर्फ डेड एसेट के रुप में पड़ा हुआ है.

लघु सिंचाई बोकारो प्रमंडल के सहायक अभियंता ने कहा कि चिंतू नाला और तिलैया के बगजोबरा नाला में जो चेक डैम बन रहें है. वह इस वर्ष  बन रहा है. सभी चेक डैम के गुणवत्ता का ख्याल रखा जा रहा है. लेकिन जहां  तक उनके खराब होने की बात है, उसकी जांच करेंगे. पूर्व में बने चेक डैम के बारे में अभी कुछ भी नहीं कह सकते हैं.

सहायक अभियंता अरुण कुमार

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: