BiharELECTION SPECIAL

बिहार :  राष्ट्रगान भी नहीं आता घोटाले के आरोपी  शिक्षा मंत्री मेवा लाल को,  राजद ने वीडियो शेयर कर नीतीश को घेरा

राजद  ने ट्वीट किया, भ्रष्टाचार के अनेक मामलों के आरोपी बिहार के शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी को राष्ट्रगान भी नहीं आता. नीतीश कुमार जी शर्म बची है क्या? अंतरात्मा कहाँ डुबा दी? 

Patna :  सिर मुड़ाते ही ओले पड़े. यह कहावत नीतीश कुमार पर लागू हो रही है.  बिहार में नीतीश कुमार ने सीएम पद की शपथ ली. साथ ही उनके मंत्रियों ने शपथ ली.  लेकिन पहली बार मंत्री बनाये गये डॉ मेवालाल चौधरी को लेकर विवाद पैदा हो गया है.  मेवालाल चौधरी को सीएम नीतीश कुमार ने शिक्षा मंत्री बनाया है.

बता दें कि वे घोटाले के आरोपी हैं. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद और तेजस्वी लगातार नीतीश पर हमलावर हैं.

इसे भी पढ़ें : बिहार : घोटाले के आरोपी मेवालाल को नीतीश ने मंत्री बनाया, तो लालू प्रसाद व तेजस्वी यादव ने हल्ला बोला

डॉ मेवालाल चौधरी भागलपुर विश्वविद्यालय के कुलपति रह चुके हैं

इसी बीच राष्ट्रीय जनता दल ने मेवालाल को शिक्षा मंत्री बनाये जाने  पर सवाल उठाते हुए एक कार्यक्रम का वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है, जिसमें मेवालाल राष्ट्रगान गा रहे हैं, लेकिन वह उसे पूरा नहीं गा सके हैं.

वीडियो में डॉ मेवालाल चौधरी के राष्ट्रगान पूरा नहीं पढ़ पाने पर राजद  ने ट्वीट किया है कि भ्रष्टाचार के अनेक मामलों के आरोपी बिहार के शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी को राष्ट्रगान भी नहीं आता. नीतीश कुमार जी शर्म बची है क्या? अंतरात्मा कहाँ डुबा दी? बता दें कि डॉ मेवालाल चौधरी  भागलपुर विश्वविद्यालय के कुलपति रह चुके हैं.

इसे भी पढ़ें : भीमा कोरेगांव केस : बॉम्बे हाईकोर्ट ने दी हरी झंडी, जेल में बंद वरवारा राव का इलाज करायेगी महाराष्ट्र सरकार

उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गयी थी

उन पर अपने कार्यकाल 2012 में 161 सहायक प्राध्यापक-जूनियर साइंटिस्ट के पदों पर हुई बहाली में बड़े पैमाने पर धांधली और पैसों के लेन-देन के आरोप चस्पां हैं.  इस मामले में उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गयी थी.  बाद में उन्हें कोर्ट से अंतरिम जमानत मिल गयी.

इसे भी पढ़ें : ओबामा ने ए प्रॉमिस्ड लैंड में लिखा, मनमोहन मुंबई हमलों के बाद पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई करने से कतराये…

सुशील मोदी जिसे खोज रहे थे, उसे नीतीश ने मंत्री बना दिया

राष्ट्रीय जनता दल ने  ने ट्वीट कर कहा है कि जिस भ्रष्टाचारी विधायक को सुशील मोदी खोज रहे थे, उसे नीतीश ने मंत्री बना दिया.   इसके बचाव में जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा कि डॉ मेवालाल चौधरी के केस में हाई कोर्ट में ट्रायल चल रहा है. ऐसे में उन पर सवाल उठाना उचित नहीं है.

आरोप लगाया कि कुशवाहा बिरादरी ने  उनको वोट दिया, इसलिए विपक्ष उनको निशाना बना रहा है.   डॉ. मेवालाल चौधरी कुइरी समाज से आते हैं. डॉ. मेवालाल चौधरी  कुलपति पद से रिटायर होने के बाद 2015 में वह जदयू से टिकट लेकर तारापुर से चुनाव लड़ कर विधानसभा पहुंचे थे.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: