Lead NewsNationalTOP SLIDERTRENDING

BIG NEWS : पेंडोरा पेपर्स लीक में ‘क्रिकेट के भगवान’ का भी नाम, जानें अनिल अंबानी सहित कौन मशहूर लोग हैं लिस्ट में

दुनिया की कई नामचीन हस्तियों द्वारा टैक्स चोरी और मनी लॉंड्रिंग का खुलासा

New Delhi : आज से करीब 5 साल पहले पनामा पेपर्स लीक (Panama Papers Leak) ने पूरी दुनिया को सदमें में डाल दिया था. दुनिया के कई नामचीन हस्तियों के नाम पनामा पेपर लीक में आने से तहलका मच गया था. पूरी दुनिया के सामने खुलासा हुआ था कि कैसे बड़े-बड़े अमीर कारोबारी, हस्तियां टैक्स चोरी करने के लिए किस तरह के हथकंडे अपनाते हैं. लेकिन एक बार फिर एक ऐसा ही खुलासा हुआ है जिसने पूरी दुनिया को हैरान कर दिया है.

दरअसल पेंडोरा पेपर्स लीक (Pandora Papers Leak) से खुलासा हुआ है कि दुनिया की नामचीन हस्तियां किस तरह से टैक्स चोरी करती हैं. इस लिस्ट में ‘क्रिकेट के भगवान’ (God Of Cricket) कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) का नाम भी सामने आया है.

इसे भी पढ़ें :एसीबी की टीम ने चतरा सदर एसडीओ के स्टेनो को 20 हजार घूस लेते दबोचा

ram janam hospital
Catalyst IAS

पेंडोरा पेपर लीक क्या है?

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

करीब 12 मिलियन यानी की 1.2 करोड़ दस्तावेजों को खंगालने के बाद दुनिया भर में चल रही पैसों की हेरा-फेरी का खुलासा इसी पैंडोरा पेपर लीक से हुआ है. बता दें कि ये एक ऐसा लीक है, जो नामचीन हस्तियों की छिपी हुई संपत्ति, टैक्स चोरी के तरीकों और दुनिया के अमीरों और शक्तिशाली लोगों के मनी लॉंड्रिंग का खुलासा करता है.

इसे भी पढ़ें :यौन शोषण व दुष्कर्म मामले के आरोपी सुनील तिवारी ने हाइकोर्ट में दायर की जमानत याचिका

बता दें कि 117 देशों के 600 से ज्यादा पत्रकारों और मीडिया ऑर्गेनाइजेशन ने कई महीनों तक इस पर लगातार काम किया और कई स्रोतों के जरिए दस्तावेजों को खंगालते हुए कई खुलासे किए हैं. वहीं ये खुलासा इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इन्वेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट ने किया है. ये खुलासा दुनिया का सबसे बड़ा खुलासा माना जा रहा है. इसके साथ ही पेंडोरा पेपर्स लीक में दुनियाभर के कई देशों की बड़ी हस्तियों का नाम शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें :बासुकीनाथ से देवघर तक बनेगी फोरलेन, खर्च होंगे 952 करोड़

अनिल अंबानी के पास विदेश में हैं 18 कंपनियां

इसमें भारत और पाकिस्तान के भी कई बड़े नेता शामिल है. सचिन तेंदुलकर के साथ ही पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेट कप्तान और मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान का नाम भी सामने आया है.

वहीं अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि भारत के सबसे अमीर कारोबारी अनिल अंबानी के पास विदेश में 18 कंपनियां हैं. इससे पहले वह ब्रिटेन की एक अदालत में खुद को दिवालिया घोषित कर चुके हैं.

इसे भी पढ़ें :BIG NEWS : आरके आनंद ने Ranchi कोर्ट में किया सरेंडर, 34वें राष्ट्रीय खेल घोटाला के हैं आरोपी

पनामा पेपर लीक में भी आया था सचिन का नाम

वहीं रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि पांच साल पहले पनामा पेपर्स लीक के बाद भारतीय नामचीनों ने अपनी संपत्ति को सुव्यवस्थित करना शुरु कर दिया था. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत के दिग्गज और क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने भी पनामा पेपर्स लीक के तीन महीने बाद ही वर्जिन आइलैंड में मौजूद अपनी संपत्ति को बेचने की कोशिश की थी.

इसे भी पढ़ें :PARA TEACHER : 7 दिन में बननी थी नियमावली, 46 दिन बाद भी अनुमोदन के लिए घूम रही फाइल

भारत की GDP से ज्यादा है टैक्स चोरी

इस समय ये बताना मुश्किल होगा की पेंडोरा पेपर्स लीक में दुनियाभर के नामचीन हस्तियों ने कितने पैसों की हेराफेरी की है. पेंडोरा पेपर्स लीक करने वाली संस्था आईसीआईजे के अनुसार दुनियाभर में करीब 5.6 ट्रिलियन डॉलर से 32 ट्रिलियन डॉलर तक रुपए विदेशों में बेनामी कंपनियां बनाकर जमा किए गए हैं.

इसे भी पढ़ें :रांची जिले के तीन प्रखंडों के 11 पंचायतों में नहीं बन रहे हैं ऑनलाइन प्रमाण पत्र

पंजाब नेशनल बैंक से हजारों करोड़ का घोटाला करने वाला हीरा व्यापारी नीरव मोदी जब भारत से भागा था, तब उससे एक महीने पहले उसकी बहन ने एक ट्रस्ट बनाया था.

एक-दो दिन में पूरी रिपोर्ट होगी जारी

एक-दो दिन में आइसीआइजी की पूरी जांच रिपोर्ट सामने आ जाएगी. पेंडोरा पेपर लीक से पनामा सरकार की छवि को फिर झटका लग सकता है. उसने कानूनी फर्म के जरिए आइसीआइजी को पेपर जारी न करने के लिए पत्र जारी कर कहा, ताजा दस्तावेज जारी होने से पनामा के बारे में गलत धारणाएं बनेंगी.

इसे भी पढ़ें :किसान परिवार से मिलने पहुंचीं प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदेश कांग्रेस ने यूपी सरकार का पुतला फूंका

20,078 करोड़ की अघोषित संपत्ति

पिछली जांच में पता चला था कि कैसे संपत्ति, कंपनियों, मुनाफे और टैक्स चोरी को छिपाया गया. इसमें सरकारी अधिकारियों, रसूखदारों के साथ राष्ट्राध्यक्ष तक शामिल थे. खेल, कला जगत तक की हस्तियों का नाम पनामा पेपर लीक में सामने आया था. जुलाई में भारत सरकार ने बताया कि पनामा पेपर लीक में भारत से संबंधित लोगों के संबंध में 20,078 करोड़ रुपए की अघोषित संपत्ति का पता चला.

जनरल की बीवी को मिला बंगला तब मुशर्रफ ने मुगले आजम  से उठाया बैन

पंडारा पेपर में हुए खुलासे के मुताबिक 2007 में पाकिस्तानी राष्ट्रपति रहे जनरल परवेज मुशर्रफ के बेहद करीबी जनरल सफतउल्लाह शाह की बीवी ने 12 लाख डालर का अपार्टमेंट लंदन में लिया था. इसे दुबई व लंदन में रेस्टोरेंट चलाने वाले अकबर आसिफ ने दिया था.

अकबर आसिफ भारतीय सिनेमा बेहद नामचीन फिल्म निदेशक के आसिफ के बेटे हैं. के आसिफ ने ही सुपर हिट फिल्म मुगल ए आजम बनायी थी. अकबर आसिफ ने लंदन के डोरचेस्टर होटल में मुशर्रफ से मिलकर अपने पिता की फिल्म को रिलीज करने की बात की थी. इसके बाद मुशर्रफ ने 40 साल बाद किसी भारतीय फिल्म को प्रदर्शित करने की इजाजत दी.

इसे भी पढ़ें :एसीबी की टीम ने चतरा सदर एसडीओ के स्टेनो को 20 हजार घूस लेते दबोचा

दाऊद का करीबी इकबाल मिर्ची बहनोई है आसिफ का

अकबर आसिफ के पास कई विदेशी कंपनियां हैं. इसी में से एक तलाहा लिमिटेड के माध्यम से जनरल शाह की बीवी को अपार्टमेंट दिया गया. आसिफ की बहन का नाम हिना कौसर है और वह भारत के अपराधी इकबाल मिर्ची की पत्नी थी. इकबाल मिर्ची दाउद इब्राहिम के सबसे करीबी लोगों में शामिल था और दाउद के ड्रग नेटवर्क को संभालता था. 2013 में उसकी मौत हो गई.

इमरान के साथियों ने किया पाकिस्तान को खोखला

पाकिस्तान में सबसे ज्यादा पैसों की हेराफेरी प्रधानमंत्री इमरान खान की सेना यानी उनके करीब लोगों ने की है. इमरान के नजदीकी वित्तमंत्री शौकत तरीन और जल संसाधन मंत्री मोनिष इलाही ने कई कंपनियां विदेशों में बनाकर पैसा पहुंचाया है.

वहीं पाकिस्तानी सेना के कई सैन्य अधिकारियों ने भी हेराफेरी की हैं. इमरान खान के पूर्व सलाहकार के बेटे वकार मसूद खान ने भी खूब संपत्ति बनाई है और इमरान खान की पीटीआई को सबसे ज्यादा दान देने वाले आरिफ नकवी का नाम भी इसमें शामिल है. आरिफ नकवी को हेराफेरी करने के कारण अमरीका में प्रतिबंधित कर दिया गया था.

इसे भी पढ़ें :Ranchi News :  जानलेवा हमले में घायल Video Journalist Baijnath Mahto की रिम्स में इलाज के दौरान मौत

 

Related Articles

Back to top button