JharkhandRanchi

फेक न्यूज चलाकर जनता के बीच भ्रम फैला रहे हैं बाबूलाल मरांडीः मिथिलेश ठाकुर

Ranchi: पेयजल स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी फेक न्यूज चला कर लोगों को दिगभ्रमित कर रहें हैं. उनसे ऐसी अपेक्षा कतई नहीं थी. मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने कहा कि बाबूलाल मरांडी जैसे जनप्रतिनिधि द्वारा ऐसा करना अत्यंत निदंनीय है.

इसे भी पढ़ेंः कैबिनेट का फैसला: राज्य के 6 जिलों में खुलेंगे नये आईटीआई कॉलेज, सभी में 100 बेड का होगा हॉस्टल

आपदा के समय में भी भाजपा नेताओं को कम से कम संवेदनशीलता का परिचय देना चाहिये. बाबूलाल मरांडी ने मिथिलेश ठाकुर का एक विडियो ट्वीट किया है. ट्वीट कर उन्होंने लिखा है ” क्या ऐसा कोई फार्मूला झारखंड सरकार को मिल गया है, जिससे मंत्रियों पर कोरोना का असर नहीं होगा? अगर है तो वही फार्मूला हिंदपीढ़ी वालों को भी क्यों नहीं दे देते?” जिसके बाद मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने प्रतिक्रिया दी है.

Catalyst IAS
ram janam hospital
The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

इसे भी पढ़ेंः #CoronaUpdate : झारखंड में बुधवार को 8 नये कोरोना पॉजिटिव, 5 जमशेदपुर, 1 गुमला और 2 गिरिडीह के

वीडियो पाताहातू क्वारेंटाइन सेंटर का नहीं बल्कि ट्रांजिट होम का

इसमें कहा गया था कि मंत्री ने पाताहातू क्वारेंटाइन सेंटर का दौरा किया था. जिसके दो घंटे बाद ही वहां से एक मरीज पॉजिटीव मिला था. जिसके बाद बाबूलाल मरांडी ने तंज किया था. पर उन्होंने बताया कि वह विडियो पाताहातू सेंटर का नहीं बल्कि ट्रांजिट होम का है.

मंत्री ने बताया कि मैंने ट्रांजिट होम का निरीक्षण किया था. जिसकी पुष्टि चाइबासा डीसी ने भी की है. मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि यह बात बाबूलाल जी को हजम नहीं हुई. क्योंकि भाजपा के नेता सिर्फ कागजी शेर हैं. एसी कमरों में बैठकर सिर्फ पत्र लिखकर पत्रवीर की संज्ञा पा रहें हैं.

जबकि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में जनता की सरकार धरातल पर उतर कर कोरोना योद्धाओं का मान-सम्मान बढ़ा रही है.

इसे भी पढ़ेंः #Lockdown : ई-कॉमर्स साइट्स से झारखंडवासी नहीं कर सकेंगे हर चीज की खरीदारी, सरकार ने वापस लिया फैसला, पहले वाली व्यवस्था रहेगी बहाल

सभी जिलों में बनाये गये ट्रांजिट होम में बाहर से आये प्रवासी मजदूरों की बेहतरी के लिए कार्य कर रहे हैं.  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में जनता की सरकार 24 घंटे काम कर रही है.

सभी प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए निरंतर प्रयासरत हैं. हमलोग भाजपा के नेताओ की तरह नौटंकी नहीं करते. जब इनका भोजन हजम नहीं होता तो ये लोग उपवास का ढोंग करते हैं.

भाजपा के नेताओं को ऐसी सस्ती लोकप्रियता के लिए ओछी राजनीति करने से बाज आना चाहिये

मंत्री ने कहा, बाबूलाल जी संवैधानिक कारणों से नेता विपक्ष नहीं बन पा रहे हैं तो इसमें हमारी सरकार का क्या दोष? मंत्री ने कहा कि भाजपा के नेताओं को ऐसी सस्ती लोकप्रियता के लिए ओछी राजनीति करने से बाज आना चाहिये.

भाजपा नेताओं को इस कोरोना महामारी से लड़ने और हमारे प्रवासी मजदूरों को वापस अपने राज्य में लाने के लिए प्रयास करना चाहिये. परंतु उसके उलट भाजपा के नेता सिर्फ पत्रवीरी कर रहे हैं.

सरकार बेसुध श्रमिकों की सुध ले रही है तो भाजपा को तकलीफ हो रही है

मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने कहा कि हमारी सरकार बेसुध श्रमिकों की सुध ले रही है. इन्हें क्यों तकलीफ हो रही है. ये भाजपा नेताओं को बताना चाहिये. मंत्री ने बाबूलाल मरांडी से सवाल किया कि क्या हमारी सरकार भी आपलोगों की तरह घर पर बैठी रहे? तो इन प्रवासी मजदूरों की सुध कौन लेगा?

उन्होंने कहा कि हमलोगों के खून में झारखंडियत है. जबतक हमारी रगो में खून का एक कतरा भी मौजूद रहेगा, हमारी सरकार एक-एक झारखंडियों के लिए काम करती रहेगी.

मंत्री को सेल्फ क्वारेंटाइन में रहने की कोई जरूरत नहीं हैः उपायुक्त

चाईबासा के उपायुक्त ने भी कहा है कि मंत्री को सेल्फ क्वारेंटाइन में रहने की कोई जरूरत नहीं है. उपायुक्त ने स्पष्ट किया कि मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर किसी भी कोरोना पाजेटिव मरीज के संपर्क में नहीं आये हैं.

उपायुक्त ने बताया कि उक्त स्थल का निरीक्षण वे स्वयं तथा जिले के एसपी और कई अधिकारी भी कर चुके हैं.

इसे भी पढ़ेंः गुमला – प्रखंड स्तर पर शुरू हुआ कोरोना का इलाज, कामडारा कोविड केयर सेंटर में चल रहा कोरोना संक्रमित का उपचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button