न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जिस स्कूल में बचपन जिया, वहां झंडा फहराकर गौरवशाली महसूस कर रहा हूं : अभिमन्यु सिंह

352

Palamu : अभिमन्यु सिंह ने शांति निकेतन शिशु मंदिर राजहरा कोठी में झंडा फहराया. ने झंडोतोलन के बाद अभिमन्यु सिंह ने सभी बच्चों और मौजूद सभी लोगों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं दी. इस दौरान अभिमन्यु ने कहा कि बच्चे देश का भविष्य हैं. बच्चों के हाथों में हमारे देश का भविष्य है. अभिमन्यु सिंह ने बच्चों को खेलने का कीट देने का आश्वासन दिया. उन्होंने कहा खेलकूद में भी यहां के बच्चे श्रेष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें- विकास के मानकों में पीछे छूट रहा सीएम का विभाग, सड़क, बिजली, खान, वन राष्ट्रीय मानक से भी पीछे

सिंह ने बताया कि उनकी प्रारंभिक शिक्षा शांति निकेतन स्कूल डाल्टेनगंज में हुई है. और उसी स्कूल में झंडा फहराकर वह गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि शांति निकेतन स्कूल अनुशासन के लिए जाना जाता है. मेरे अंदर जो भी अनुशासन है वह शांति निकेतन स्कूल की ही देन है.

इसे भी पढ़ें- सालों से अपने ही घर में कैद भाई-बहन को पुलिस ने कराया आजाद, किरायेदार डॉक्टर पर आरोप

कार्यक्रम की शुरुआत झंडोतोलन व राष्ट्रगान के साथ की गयी. जिसके बाद स्कूल के बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए. इस दौरान अभिमन्यु सिंह ने कहा कि देश का सम्मान से बड़ा कोई सम्मान नहीं होता है. हम सभी लोग भारत देश के निवासी हैं और देश की रक्षा करना सिर्फ सैनिकों का फर्ज नहीं बल्कि हरेक देशवासियों का फर्ज है. लोग अच्छे काम करें और भारत देश का नाम रोशन करें. सिंह ने बच्चों को पुरस्कृत भी किया.

इसे भी पढ़ें- अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बेहद नाजुक,  फुल लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर पूर्व प्रधानमंत्री

इसे भी पढ़ें- वन विभाग को नहीं मिला एके 47 और रायफल, धरा का धरा रह गया प्रस्ताव

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: