Crime NewsGiridihLead News

कोलकाता के नाबालिग लड़के से ‘बंधुआ मजदूरी’ करा रहा गिरिडीह के गांवा का एक परिवार, कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन मुक्त कराने में जुटा

Giridih : कोलकाता के एक नाबालिग लड़के को गिरिडीह के गांवा थाना क्षेत्र के डेवटन गांव में जबरन बंधुआ मजदूर बनाये जाने का मामला प्रकाश में आया है. मामले को कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन ने संज्ञान में लिया है. फाउंडेशन के सदस्य बच्चे को मुक्त कराने की प्रकिया में जुट गये हैं.

गांव के सतनारायण नाम के शख्स पर आरोप- बच्चे को दिल्ली से बहला-फुसलाकर लाया और कराने लगा मजदूरी

जानकारी के मुताबिक, यह नाबालिग लड़का कोलकाता के बेलदा थाना क्षेत्र के अमरदाह गांव का रहनेवाला है. आरोप है कि गांवा के डेवटन गांव निवासी सतनारायण दास लॉकडाउन से पहले इस नाबालिग को दिल्ली से बहला-फुसलाकर गांवा के डेवटन गांव स्थित अपने घर ले आया था. सतनारायण दास उससे ढिबरा चुनवाने के साथ-साथ लकड़ी काटने और मकान निर्माण के कार्य में लगाये हुए है. इतना ही नहीं, सतनारायण दास द्वारा इस नाबालिग मजदूर को हर रोज मिलनेवाली मजदूरी भी जबरन अपने पास रख लेता है.

इसे भी पढ़ें- गढ़वा : पत्नी से फोन पर बात नहीं हुई तो महाराष्ट्र से लौटा युवक, पत्थर से कूचकर मार डाला और कर दिया सरेंडर

घर वापस जाने की बात कहने पर होती है पिटाई

बताया जा रहा है कि कुछ दिनों पहले नाबालिग को गांव में ही छोड़कर सतनारायण दास दिल्ली चला गया. लेकिन, नाबालिग को अब सतनारायण दास के घरवाले प्रताड़ित कर काम करने का दबाव डाल रहे हैं. आरोप यह भी है, जब यह नाबालिग कहता है कि वह अपने घर लौटना चाहता है, तो सतनारायण दास के घरवाले उसके साथ मारपीट करते हैं. कहा जा रहा है कि पीड़ित बच्चे ने गांवा प्रशासन से सहयोग मांगा है.

सतनारायण दास के घर पहुंचे कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन के सदस्य, जबरन मजदूरी का मामला सही पाया

इस बीच मामले की जानकारी कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन को मिली. फाउंडेशन के सदस्य सतनारायण दास के घर पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली. इस दौरान स्पष्ट हुआ कि इस नाबालिग लड़के से जबरन मजदूरी करायी जा रही है. फांउडेशन के सदस्य अब उसे मुक्त कराने की प्रकिया में जुट गये हैं. वहीं, सतनारायण दास और उसके परिवारवालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- लातेहार में मनरेगा ठेकेदार की गोली मारकर हत्या

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: