Lead NewsNationalNEWSUttar-Pradesh

आकाशीय बिजली गिरने से उप्र व राजस्थान में एक दिन में 64 लोगों की मौत, दर्जनों झुलसे

New Delhi: उत्तर प्रदेश और राजस्थान में रविवार को तेज बारिश व बिजली गिरने से 60 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. दर्जनों लोग झुलस गये हैं. अलग-अलग जगह बिजली गिरने से दो सौ से अधिक मवेशियों की भी मौत हुई है.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आकाशीय बिजली गिरने से मारे गए लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की है.

इसे भी पढ़ेंःयूरो कपः 52 साल बाद इटली ने जीता खिताब, अधूरा रह गया इंग्लैंड का ख्वाब

उत्तर प्रदेश में बिजली गिरने से कम से कम 44 लोगों की मौत हो गई, जबकि 47 झुलस गए. मृतकों में बनारस में 14, कानपुर देहात व फतेहपुर में पांच-पांच, कौशांबी में चार, फिरोजाबाद व फतेहपुर में तीन-तीन, उन्नाव, सोनभद्र व हमीरपुर में दो-दो, प्रतापगढ़, कानपुर नगर, मिर्जापुर व हरदोई में एक-एक लोग शामिल हैं, इसके साथ ही 200 से अधिक मवेशियों की भी जान गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लोगों की मौत पर शोक जताते हुए मृतकों के परिजनों को नियमानुसार अनुमन्य राहत राशि तत्काल वितरित किए जाने के निर्देश दिए हैं.

इसे भी पढ़ेंःजानिये, कैसे एक घंटे की यह उड़ान सदियों के लिये रच गया इतिहास, भारतवंशी भी रहे शामिल

आमेर किले के वाच टावर पर बिजली गिरने से 12 की मौत

राजस्थान के कई हिस्सों में बिजली गिरने की अलग-अलग घटनाओं में सात बच्चों सहित 20 लोगों की मौत हो गई जबकि 21 लोग घायल हो गए. जानकारी के अनुसार इनमें अकेले जयपुर में आमेर किले के वाच टावर पर बिजली गिरने से 12 लोगों की मौत हुई है. इसके अलावा कोटा जिले में चार बच्चे और धौलपुर जिले में तीन बच्चों की मौत हुई है. राजस्थान सरकार ने जिला प्रशासन को पीड़ितों की मदद का निर्देश दिया है. राजस्थान के मुख्यमंत्री ने प्रत्येक मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है.

 

इधर, पीएम मोदी की ओर से जारी ट्वीट में लिखा गया है कि राजस्थान के कुछ इलाकों में आकाशीय बिजली गिरने से कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है. इससे अत्यंत दुख हुआ है. मैं मृतकों के परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं.

Related Articles

Back to top button