NEWS

कृषि विधेयक पर इस्तीफा देने वाली हरसिमरत कौर ने क्यों दिया Jio का उदाहरण

विज्ञापन

News Wing Desk

Ranchi : मोदी सरकार द्वारा पेश कृषि विधेयक को किसान विरोधी बताते हुए केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने वाली हरसिमरत कौर बादल ने चौंकाने वाले बयान दिये हैं. उन्होंने कृषि विधेयक की तुलना मुकेश अंबानी की टेलिकॉम कंपनी Jio से की है. उन्होंने कहा हैः जिस तरह Jio ने शुरू में फ्री में फोन, नेटवर्क व इंटरनेट दिये, फिर इंडस्ट्री पर कब्जा कर लिया, उसी तरह खेत, खेती व किसानों पर भी कब्जा हो जायेगा.

इसे भी पढ़ें : लद्दाख में दो-कूबड़ वाले ऊंट से गश्त करेंगे सेना के जवान, ड्रैगन को देंगे चुनौती

advt

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि विधेयक किसानों के लिए रक्षा कवच है

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को देश भर में चल रहे विरोध के कारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि विधेयक के पक्ष में तर्क रखे हैं. उन्होंने कहा है कि जो लोग कई दशकों से किसानों को ठगते आ रहे हैं, वहीं लोग इस कृषि सुधार विधेयक का विरोध कर रहे हैं. कृषि विधेयक किसानों के लिये रक्षा कवच है. विरोध करने वाले बिचौलियों का साथ दे रहे हैं. किसानों को बहका रहे हैं.

इसे भी पढ़ें :पश्चिम बंगाल और केरल में NIA की छापेमारी, अलकायदा मॉडयूल से जुड़े नौ लोग गिरफ्तार

 

adv

हरसिमरत कौर ने कहा खेती किसानों पर हो जाएगा कब्जा

हरसिमरत कौर, पंजाब की शिरोमणी अकाली दल से सांसद हैं और वह केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री थीं. एक न्यूज चैनल से बात करते हुए उन्होंने कहा है कि उन्होंने मोदी सरकार से कई बार किसानों की चिंताओं को लेकर बात की. साफ-साफ कहा कि ऐसा कोई भी कानून न लाया जाये,  जो किसान विरोधी हो. कैबिनेट में भी कहा कि जमीनी स्तर पर किसानों में इस अध्यादेश लेकर विरोध किया. इस विधेयक के आने से खेती किसानों पर भी कब्जा हो जाएगा.

पूर्व मंत्री के मुताबिक उन्होंने यूं ही विरोध नहीं किया. अध्यादेश आने से दो माह पहले से ही वह किसानों और उनके संगठनों से लगातार बात कर रही थी. उन बातचीत के आधार पर ही उन्होंने इस विधेयक का विरोध किया. क्योंकि यह किसान विरोधी है.

इसे भी पढ़ें : यूएई में IPL का आगाज आज से : चेन्नई और मुंबई के बीच पहला मुकाबला

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button