Crime NewsNationalWorld

Owner Killing : बेटी ने की मर्जी के बगैर शादी तो पिता ने दामाद के परिवार के 7 लोगों को जिंदा जला दिया

मरनेवालों में शख्स की दो बेटियां और चार पोते-पोतियां भी शामिल हैं

Lahore : पाकिस्तान में ऑनर किलिंग का एक विभत्स मामला सामने आया है. एक शख्स ने बेटी की अपनी मर्जी से शादी करने पर परिवार के 7 लोगों को जिंदा जला दिया. इसमें शख्स की दो बेटियां और चार पोते-पोतियां भी शामिल हैं.

ब्रिटिश अखबार इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के अनुसार आरोपी शख्स का नाम मंजूर हुसैन है. उसने पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मुजफ्फरगढ़ जिले में एक घर में आग लगा दी, जहां उनकी बेटियां फौजिया बीबी और खुर्शीद माई अपने परिवारों के साथ रह रही थीं.

इस घटना में बीबी, उसका नवजात बेटा, माई और उसका पति सहित इनके चार नाबालिग बच्चों की आग में जलने से मौत हो गई.

Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : पलामूः आर्मी जवान धीरज का हुआ अंतिम संस्कार, शहीद का दर्जा नहीं देने से आक्रोश, लोग आंदोलन को तैयार

दामाद ने ससुर के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

बीबी का पति महबूब अहमद इस आगजनी में बच गया. उसी ने ससुर मंजूर हुसैन और उसके बेटे साबिर हुसैन के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. फिलहाल दोनों आरोपी फरार हैं और पुलिस इनकी तलाश में जुटी है.

 

क्या है मामला

महमूद अहमद ने बताया, ‘मैं काम के लिए मुल्तान में था. जब मैं लौटा और अपने घर के पास था तो मैंने आग की लपटे उठती देखी. दो लोगों मंजूर हुसैन और साबिर हुसैन को मौके से भागते देखा गया.’
स्थानीय पुलिस अधिकारी अब्दुल मजीद ने बताया, ‘यह घटना प्रेम विवाह को लेकर दोनों परिवारों के बीच रंजिश का नतीजा है.’

इसे भी पढ़ें : Zomato: अब ‘हिंदी’ को लेकर फंस गया जोमैटो कर्मी, ग्राहक ने सुनाई खरी खोटी, पैसे वापस मांगे

पाकिस्तान में हर साल ऑनर किलिंग के लगभग 1,000 मामले

पुलिस को दिए अपने बयान में महबूब अहमद ने कहा कि उसने और बीबी ने 2020 में प्रेम विवाह किया था. इससे मंजूर हुसैन नाराज था. ह्यूमन राइट्स वॉच के अनुसार पाकिस्तान में हर साल ऑनर किलिंग के लगभग 1,000 मामले दर्ज होते हैं.

वहीं, पुलिस ने ये भी कहा कि दमकलकर्मी घर से सात शवों को निकालने में सफल रहे और उन्हें पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. इस बीच पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार ने अधिकारियों से घटना की रिपोर्ट मांगी है और कहा है कि मामले की ‘हर पहलू से’ जांच की जाएगी.

इसे भी पढ़ें : विधायक खरीद-फरोख्त मामला: 87 दिन बाद भी रांची पुलिस दाखिल नहीं कर सकी है चार्जशीट, सदर डीएसपी बोले-INVESTIGATION IS GOING ON

Related Articles

Back to top button