न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

क्या हानिकारक है शराब के साथ दूध पीना ! आईए जाने

दूध में मौजूद पोषक तत्वों का पूरा लाभ आपको नहीं मिलता.

228

NW Desk : अगर आपके मन में भी यह सवाल है कि शराब पीने के बाद दूध पीना हानिकारक है या लाभकारी तो आइए हम बताते है आपको सही जवाब. शरीर में पाचन एंजाइम होते हैं. जब भी हम कुछ खाते हैं तो वे digestive enzymes खाने के साथ मिल जाता है. जो खाने को पचाने और उससे पोषण लेने में मदद करता हैं. शराब (Alcohol) पीने से उन डाइजेस्टिव एंजाम्स को नुकसान पहुंचता है. जिससे अगर आप शराब के बाद दूध पीते हैं. दूध में मौजूद पोषक तत्वों का पूरा लाभ आपको नहीं मिलता.

इसे भी पढ़ें ः भाजपा के डीएनए में ही है फासीवादी प्रवृति : डॉ अजय कुमार

शराब पीने का कोई अर्थ नहीं

hosp3

अल्कोहोल से पेट में मौजूद सेल्स को नुकसान पहुंचता है. जिसके कारण खाने में मौजूद पोषक तत्व नष्ट होने लगते हैं. पेट और आंत में मौजूद सेल्स खाने में मौजूद पोषक तत्वों को लेते हैं तब ही खून बनता है. अगर कहा जाए तो पोषक तत्वों की कमी दूसरी कई समस्याओं को जन्म दे सकती है. ऐसे यह दूध पर भी लागू होता है. दूध का पूरा पोषण शरीर को मिलेगा ही नहीं तो उसे पीने का कोई अर्थ नहीं.

इसे भी पढ़ें ः क्या लालपुर इलाके में रहने वाले लोग सबसे अधिक सहिष्णु व धैर्यवान हैं ?

इतना ही नहीं शराब पेट में गैस बना सकती है. जो गैस्ट्रिक या आंत के अल्सर को जन्म दे सकती है. अगर आप डायबिटीज के मरीज हो या आपके परिवार में किसी को डायबिटीज है. शराब आपके लिए और भी बड़ा खतरा हो सकता है. दूध को अगर रात में पीया गया तो यह ठीक है. लेकिन इसे गर्म पीया करें. इसे अदरक के साथ पीने से पोषण मिलता है. दिमाग को शांत रखने के साथ अच्छी नींद भी देता है.

इसे भी पढ़ें ः झारखंड क्रिश्चियन यूथ एसोसिएशन ने इंद्रेश कुमार का पुतला फूंका

लिमिट में ड्रिंक पीने से आती है जल्दी नींद

दूध अमिनो एसिड (amino acid) L-tryptophan है. जो शरीर के लिए आरामदायी होता है. तनाव को कम करने में भी मदद करता है. दूसरी तरफ शराब नींद को खराब कर सकती है. ऐसे एक लिमिट में पीया गया ड्रिंक जल्दी नींद आने के लिए फायदेमंद होता हैं. भले ही यह नींद कुछ ही घंटों में टूट जाती हो. रात में बार बार नींद टूटने की समस्या भी होने की संभावना बढ़ सकती है. इसलिए यह अच्छा होगा कि आप दूध और शराब को मिलाकर ना पियें.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: