न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

चतरा पत्रकार हत्‍याकांड का खुलासा, दो आरोपी गिरफ्तार

153

Chatra: पत्थलगड्डा में हुए दैनिक अखबार के पत्रकार चंदन तिवारी हत्‍याकांड का खुलासा पुलिस ने 48 घंटों के भीतर कर दिया है. पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले दो आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है. उनकी निशानदेही पर एसपी द्वारा गठित एसआईटी ने घटना में प्रयुक्त डंडा व रस्सी भी बरामद कर लिया है. इसके अलावे दिवंगत पत्रकार का चश्मा और चप्पल को भी एसआईटी ने घटनास्थल से बरामद किया है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- रामकृपाल कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड ने विधानसभा भवन में कई काम किये सबलेट

मुख्‍य साजिशकर्ता संवेदक का भाई

समाहरणालय स्थित कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में एसपी अखिलेश वी वारियर ने पत्रकारों को बताया कि पत्रकार चंदन की हत्या तालाब निर्माण में गड़बड़ी उजागर करने के प्रतिशोध में संवेदक के भाई पिंटू सिंह के द्वारा दो अन्य साथियों के सहयोग से किया गया था. उन्होंने बताया कि घटना का मुख्य साजिशकर्ता पिंटू सिंह नक्सली संगठन का उग्रवादी है. वह पूर्व में भी कई संगीन मामलों में जेल जा चुका है. एसपी ने बताया कि पिंटू सिंह के साथ घटना में संलिप्त दो आरोपियों जमुना प्रसाद और मुसाफिर राणा को गिरफ्तार किया गया है. जबकि घटना के बाद से फरार पिंटू की गिरफ्तारी को लेकर सघन छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- CM के पास IFS अफसरों के लिए समय नहीं, झारखंड में एक्सपोजर नहीं-हो रहे डिमोरलाइज

हत्‍या के पहले शराब पिलाकर किया था अपहरण

प्रेस वार्ता में एसपी वारियर ने बताया कि पिंटू सिंह के भाई को मनरेगा योजना के तहत करीब साढ़े चार लाख रुपये का तालाब निर्माण का काम आवंटित हुआ था. इस योजना को मनरेगा मजदूरों से कराना था. लेकिन, संवेदक ने नियमों को ताक पर रखकर जेसीबी से तालाब की खुदाई करवायी थी. इस गड़बड़ी को चंदन ने उजागर किया था. जिसके बाद प्रखंड प्रशासन द्वारा संवेदक को योजना निर्माण की भुगतान नहीं हुई थी. एसपी ने बताया कि चंदन को जबरन शराब पिलाने के बाद पिंटू सिंह व उसके दोस्तों ने बाईक पर बिठाकर अपहरण कर लिया था. उसके बाद उनकी निर्ममता से पिटाई करते हुए सिमरिया थाना क्षेत्र के बलथरवा जंगल मे छोड़ दिया था. जिससे अत्यधिक चोट होने के कारण उनकी मौत हो गयी थी. एसपी ने बताया कि घटना में टीएसपीसी नक्सली प्रशांत के भी संलिप्तता की पड़ताल की जायेगी. उन्होंने बताया कि जल्द ही फरार आ‍रोपियों को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जायेगा. एसपी ने बताया कि घटना के उद्भेदन को ले एसडीपीओ सिमरिया प्रदीप पाल कच्छप के नेतृत्व में गठित एसआईटी के सदस्य सदर थाना प्रभारी पुलिस निरीक्षक रामअवध सिंह व साइबर सेल प्रभारी पुलिस अवर निरीक्षक अभिनव आनंद समेत अन्य अधिकारियों व जवानों को पुरस्कृत किया जायेगा.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: