Education & Career

10 पुस्तकों का कुरमाली में अनुवाद किया शिक्षक अजय ने, बच्चों को होगा लाभ

विज्ञापन

Ranchi : बच्चों की शिक्षा की शुरुआत मातृभाषा से हो तो सीखना आसान होता है. इसी पंक्ति को चरितार्थ करने की कोशिश की है शिक्षक अजय कुमार ज्ञानी ने. गवर्मेंट मिडिल स्कूल चंद्रघासी नामकुम के सहायक शिक्षक अजय कुमार ज्ञानी ने विभिन्न विषयों की 10 किताबों का अनुवाद कुरमाली भाषा में किया है.

इसे भी पढ़ें – दुमका उपचुनावः बसंत सोरेन होंगे झामुमो के उम्मीदवार

रांची डीसी ने किया सम्मानित

शिक्षक अजय कुमार के काम की रांची उपायुक्त ने भी सराहना की है. रांची उपायुक्त छवि रंजन की ओर से इन्हें प्रशस्तिपत्र से सम्मानित किया गया. अनुवाद की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. अगले चरण में सरकार द्वारा कुरमाली की इन किताबों को क्षेत्र के आधार पर आंगनबाड़ी केंद्रों को दे दिया जायेगा. जिससे बच्चों को अपनी मातृभाषा में आसानी से सीखने और समझने में सहूलियत होगी.

advt

पुस्तक में बच्चों को ध्यान में रखते हुए आम प्रचलन की कुरमाली भाषा को तरजीह दी गयी है. खास बात यह है कि इस पुस्तक में चित्र भी है जिससे बच्चे की सीखने की रोचकता बढ़ेगी. भविष्य में सरकार की योजना है कि प्राथमिक स्तर तक स्थानीय किताब के साथ रीजनल शिक्षक उपलब्ध कराये जायेंगे ताकि बच्चों को भाषा की जटिलता सीखने में बाधा न बने.

अजय कुमार ज्ञानी के इस सराहनीय काम की प्रशंसा अखिल झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विजेंद्र चौबे, प्रवक्ता नसीम अहमद, शंकर खलखो, रेखा कुमारी, इंद्रनाथ कुमार, कमलेश महतो आदि ने भी की है.

इसे भी पढ़ें – बड़बोले चीन ने कहा-भारत ने अवैध तरीके से किया लद्दाख का गठन, हम नहीं देते मान्यता   

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button