BiharCorona_Updates

जहां हैं, वहीं रूके रहें, सरकार हर संभव मदद करेगी: सुशील मोदी

Patna: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने दूसरे राज्यों में रूके हुए राज्य के लोगों से अपील की है कि वे जहां हैं, सारी कठिनाइयों के बावजूद वहीं धैर्य के साथ रूके रहें. उन्होंने गुरुवार को एक प्रेस रिलीज जारी कर यह संदेश दिया.

सुशील मोदी ने कहा कि दूसरे राज्यों की स्थानीय सरकारों से समन्वय बनाकर बिहार सरकार हर संभव मदद की कोशिश में जुटी हुई है. 

सुशील ने ऐसे लोगों के बिहार में रह रहे परिवार वालों से भी अपील की है कि वे अपने परिजनों को मोबाइल से संपर्क कर लॉकडाउन के दौरान घर आने की जगह जहां हैं, वहीं सुरक्षित रहने के लिए मानसिक तौर पर प्रेरित करें.

advt

इसे भी पढ़ें- बिहार: बक्सर-मुंगेर से #Corona के 8 नये मामले, कुल संख्या पहुंची 80

कहां कितनी राशी मदद के लिए बिहार सरकार ने भेजी

उन्होंने कहा कि बंद के कारण दूसरे राज्यों में फंसे बिहार के लोगों को आर्थिक मदद देने वाला बिहार देश का पहला राज्य है. अंडमान, सिक्किम से लेकर दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात तक में रूके 6.67 लाख प्रवासी बिहारियों के खाते में आपदा राहत कोष से 1-1 हजार रुपये भेजे जा चुके हैं.

सुशील ने कहा कि सर्वाधिक राशि दिल्ली में 1.30 लाख लोगों के खातों में, हरियाणा में 95,999, महाराष्ट्र में 72,243, गुजरात में 61,944, पंजाब में 37,771, राजस्थान में 26,849, तमिलनाडु में 26,312, पश्चिम बंगाल में 25,181 व अंडमान निकोबार में 265 प्रवासी बिहारियों के खाते में राशि भेजी गयी है.

उन्होंने कहा कि प्राप्त कुल आवेदन 13.26 लाख में से शेष बचे 6.59 लाख बिहारी प्रवासियों को भी शीघ्र राशि भेजी जा रही है. 

adv

इसे भी पढ़ें- #Transfer: स्‍पेशल ब्रांच के चार डीएसपी का तबादला

बहकावे व फेक न्यूज के झांसें में नहीं आयें लोग

सुशील ने कहा कि इसके अलावा 60 हजार से ज्यादा लोगों ने फोन कर बिहार सरकार से मदद मांगी हैं, ऐसे सभी लोगों से दोबारा संपर्क कर उन्हें एसएमएस भेज कर उनके बिहार स्थित बैंक खाते व आधार संख्या मांगी जा रही है. अन्य किसी को भी मदद की जरूरत है तो वे लिंक डाउनलोड कर आवेदन करें, बिहार सरकार यथासंभव मदद के लिए तत्पर है.

उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों में रूके बिहार के लोग किसी के बहकावे व फेक न्यूज के झांसें में नहीं आयें. लॉकडाउन के दौरान किसी भी तरह के यातायात की व्यवस्था संभव नहीं है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद केंद्र व राज्य सरकार फिर से रेल व बस सेवाएं शुरू करने के साथ उनकी आवाजाही की सुविधा सुनिश्चित करेगी.

सुशील ने ट्वीट कर कहा है कि दुनिया ने माना है कि 130 करोड़ लोगों की सघन आबादी वाले भारत में समय पर लॉकडाउन लागू करने का कड़ा फैसला लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संक्रमण को रोकने की दिशा में बड़ी सफलता प्राप्त की है, लेकिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी अब भी इसे मानने के बजाय केवल कमियां गिना रहे हैं.

सुशील ने आरोप लगाया कि संक्रमण रोकने से ज्यादा कांग्रेस इसे फैलाने पर आमादा जमातियों का बचाव करने की राजनीति में लगी है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी बतायें कि महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा संक्रमण और 187 लोगों की मौत के लिए कौन जिम्मेदार है?

इसे भी पढ़ें- #FightAgainstCorona: स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोना से 420 मौत, संक्रमितों की संख्या 12,759 पहुंची

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button