BusinessNational

धीमी होगी भारतीय अर्थव्यवस्था की रफ्तार, IMF ने घटाया GDP ग्रोथ रेट का अनुमान

Washington : अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आइएमएफ) ने 2019 और 2020 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट का अनुमान घटाया है. आईएमएफ ने दोनों वर्षों के लिए जीडीपी ग्रोथ रेट के अनुमान में 0.3-0.3 प्रतिशत की कटौती की है. यह घरेलू मांग के उम्मीद से कमजोर परिदृश्य को दर्शाता है.

इसे भी पढ़ें- कर्नाटकः बागी विधायकों ने पेश होने के लिए स्पीकर से चार सप्ताह का मांगा समय

2019 और 2020 में कितनी होगी भारत की वृद्धि दर

आइएमएफ के ताजा अनुमान के अनुसार 2019 में भारत की जीडीपी ग्रोथ रेट सात प्रतिशत और 2020 में 7.2 प्रतिशत रहेगी. वहीं, वाशिंगटन के वित्तीय संस्थान ने कहा है कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ने वाली प्रमुख अर्थव्यवस्था बना रहेगा और यह चीन से काफी आगे होगा.

आइएमएफ ने कहा कि उसने दोनों वर्षों के लिए भारत की वृद्धि दर के अनुमान में 0.3-0.3 प्रतिशत की कटौती की है. आइएमएफ ने अपने विश्व आर्थिक परिदृश्य ‘अपडेट’ में कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 2019 में सात प्रतिशत रहेगी और 2020 में कुछ बढ़कर 7.2 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी. इसकी वजह उम्मीद से कमजोर घरेलू मांग परिदृश्य है.

इसे भी पढ़ें- ढुल्लू महतो पर मेहरबान जीरो टॉलरेंस की सरकार, धनबाद SSP नहीं दे रहे ED को सूचना

क्या कहना है अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ का

आइएमएफ ने कहा कि चीन में शुल्क वृद्धि के नकारात्मक प्रभाव और कमजोर बाहरी मांग से पहले से संरचनात्मक सुस्ती झेल रही अर्थव्यवस्था पर दबाव और बढ़ेगा. कर्ज पर अत्यधिक निर्भरता को कम करने के लिए चीन को नियामकीय मजबूती की जरूरत होगी.

आइएमएफ ने कहा कि नीतिगत समर्थन की वजह से चीन की वृद्धि दर 2019 में 6.2 प्रतिशत और 2020 में 6 प्रतिशत रहने का अनुमान है. चिली की राजधानी सान्तियागो में रिपोर्ट जारी करते हुए आइएमएफ की भारतीय मूल की अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने कहा कि 2019 के लिए वैश्विक वृद्धि दर के अनुमान को घटाकर 3.2 प्रतिशत किया गया है.

2020 के लिए इसे घटाकर 3.5 प्रतिशत किया जा रहा है. गोपीनाथ ने कहा कि यह अप्रैल के हमारे अनुमान से दोनों वर्षों के लिए 0.1 प्रतिशत की कटौती है.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: