न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रांची विवि में व्यावसायिक शिक्षा के लिए 50 शिक्षकों का चयन

विवि प्रशासन ने कहा कि 13 अक्तूबर को जारी अधिसूचना में गड़बड़ी नहीं

197

Ranchi : रांची विश्वविद्यालय (विवि) में एक वर्ष बाद व्यावसायिक शिक्षा को गति प्रदान करने के लिए 50 शिक्षकों का चयन किया गया है. इसको लेकर विवि के कुलसचिव कार्यालय से 13 अक्तूबर को चयनित शिक्षकों की अधिसूचना जारी की गयी है, जिसमें उन्हें 15 नवंबर से योगदान देने को कहा गया है. जारी अधिसूचना को लेकर कई अभ्यर्थियों में रोष भी है. इनमें से एक अभ्यर्थी डॉ अनिता सिन्हा का कहना है कि उनका चयन साक्षात्कार के बाद किया गया था. मेधा सूची में बायोटेक्नोलाजी संवर्ग में उनका नाम सबसे ऊपर था पर जब इस संबंध में अखबारों में समाचार छपा, तो उनके नाम की जगह अमिता साहा का नाम बायोटेक्नोलाजी में सबसे ऊपर लिखा गया है.

इसे भी पढ़ें – चंदवे में लड़की की छेड़खानी को लेकर हंगामा, दो पक्ष भिड़े, पुलिस बल तैनात

विवि प्रशासन की अधिसूचना को लेकर कई अभ्यर्थियों में रोष

जानकारी के अनुसार रांची विवि के एमबीए, बीबीए, एमसीए, बीसीए और बायोटेक्नोलाजी विषय के लिए इन शिक्षकों की नियुक्ति की गयी है. इन्हें महीने में 36 कक्षाएं दी जायेंगी. प्रत्येक कक्षा के लिए अभ्यर्थियों को रांची विवि प्रशासन की तरफ से 600 रुपये दिये जायेंगे. अभ्यर्थियों का कहना था कि जब 2017 सितंबर में शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर आवेदन मंगाया गया था, उस समय योग्यता और अर्हता अलग-अलग थी. आवेदन में शिक्षकों के लिए 36 हजार रुपये का मानदेय देने की बातें कही गयी थीं. अब इसे बिल्कुल अलग कर दिया गया है. विवि प्रशासन की तरफ से स्नातक और स्नातकोत्तर स्तरीय पाठ्यक्रमों के लिए जिन शिक्षकों का चयन किया गया है, अब उन्हें विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नियमों का हवाला दिया जा रहा है. इसमें यह कहा जा रहा है कि विवि प्रबंधन अपने स्तर से शिक्षकों का मानदेय और देय राशि तय करेगा.

इसे भी पढ़ें – धनबाद की पुलिस दुर्गा पूजा में बेटियों को सुरक्षा देने में नाकाम

50 शिक्षकों का चयन मेधा सूची के 108 सफल उम्मीदवारों में से किया गया है : चौधरी

रांची विश्वविद्यालय में व्यावसायिक शिक्षा के प्रमुख अशोक कुमार चौधरी का कहना है कि हमारे स्तर पर किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी नहीं हुई है. इन शिक्षकों का चयन पिछले वर्ष सितंबर माह में हुए शैक्षणिक योग्यता की डिग्री और अन्य अनुभव तथा बायोडाटा के आधार पर किया गया था. यदि किसी अभ्यर्थी का नाम अधिसूचना में नहीं है, तो वे प्रोपर प्लैटफार्म में अपनी बातें रखें. 22 शिक्षकों का चयन एमबीए, बीबीए के लिए किया गया है. 20 शिक्षक एमसीए, बीसीए के लिए चयनित हुए हैं, जबकि आठ शिक्षकों का चयन बायोटेक्नोलाजी विषय के लिए किया गया है.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: