JharkhandLatehar

लातेहार : SDO को LRDC का प्रभार क्या मिला, रुपये लेकर मुकदमे सलटाने में जुट गये!

Latehar : लातेहार के भूमि सुधार उप-समाहर्ता  कार्यालय में वर्षों से पेंडिंग केसों की सुनवाई में अचानक तेजी आ गयी है. लेकिन आरोप है कि इस तेजी के पीछे प्रभारी एलआरडीसी का इरादा वसूली के सिवा कुछ नहीं है.

डुमरियाटांड़ मौजा के कुछ रैय्यतों ने डीसी को आवेदन देकर आरोप लगाया है कि लातेहार एसडीओ (अनुमंडलाधिकारी) जय प्रकाश झा ने एलआरडीसी (भूमि सुधार उप-समाहर्ता) का प्रभार लेने के बाद रुपये लेकर मुकदमों की सुनवाई करना शुरू कर दिया है और वे उन्हीं के पक्ष में फैसला कर रहे हैं जो उन्हें रुपये दे रहा है. इस काम में वे बिचौलियों की मदद भी ले रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : इंस्टाग्राम पर सस्ते दामों में महंगे मोबाइल का विज्ञापन देकर ठगी करनेवाले गिरोह के तीन अपराधी गिरफ्तार

’20-20 हजार ले लाओ, फैसला तुम्हारे पक्ष में होगा’

लातेहार अंचल के डुमरियाटांड़ मौजा निवासी तपेश्वर सिंह, अमीर सिंह व भगवती सिंह के घर गुरुवार शाम एक व्यक्ति पहुंचा. उसने कहा, तुमलोगों के खिलाफ एलआरडीसी कोर्ट में मुकदमा चल रहा है. साहब रिटायर होने वाले हैं. यदि तुमलोग बीस-बीस हजार रुपये लेकर शुक्रवार तक आ जाओगे तो फैसला तुमलोगों के पक्ष में हो जायेगा.

उक्त रैयतों ने जब शुक्रवार को कचहरी आकर इसकी जांच-पड़ताल की तो चौंकाने वाली बातें सामने आयीं. पता चला कि भूमि सुधार उप-समाहर्ता की अदालत में विविध वाद संख्या 04/2017-18, जो गत 12 फरवरी 2018 से गुपचुप तरीके से चलाया जा रहा है, में रामधन सिंह समेत कुल 14 दावाकर्ताओं ने अमीर सिंह, तपेश्वर सिंह व भगवती सिंह की कुल 18.92 एकड़ भूमि पर दावा पेश किया है.

उक्त कार्यालय के पीठासीन पदाधिकारी जयप्रकाश झा ने बगैर नोटिस का तामिला प्राप्त किये और पर्याप्त समय दिये उक्त वाद को स्वीकृत करने की योजना बनायी थी.

इसे भी पढ़ें : 40 करोड़ खर्च कर यूपी के बुलंदशहर में अगले सत्र से शुरू होगा RSS का आर्मी स्कूल

मुखिया की सलाह पर डीसी को ज्ञापन

मामले को भांपते ही उक्त रैयतों ने मुखिया गुंजर उरांव से संपर्क किया और उनकी सलाह पर शुक्रवार को उपायुक्त ज्ञापन देकर न्याय की गुहार लगायी है.

ग्रामीणों का कहना है कि उनकी जमीन की डिक्री सिविल कोर्ट द्वारा प्रदान की जा चुकी है, फिर भी एलआरडीसी द्वारा गुपचुप तरीके से कार्रवाई की जा रही है.

हालांकि प्रभारी एलआरडीसी जयप्रकाश झा ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है. उन्होंने कहा, “मुझ पर लगे आरोप गलत हैं. जो पैसा मांगने गया था उसका नाम बताइये. कोर्ट में सारा रिकॉर्ड है. उसी पर कार्यवाही हो रही है.

इसे भी पढ़ें : धनबाद: महिला पारा शिक्षक की चाकू मारकर हत्या, बचाने की कोशिश में मां और भाई घायल

Related Articles

Back to top button