न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

रावण दहन : सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कम होगी आतिशबाजी

रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद की ऊंचाई कम की गयी

145

Ranchi : दुर्गा पूजा आते ही जितनी खुशी पंडाल देखने और घूमने की होती है, उतनी ही उत्सुकता रावण दहन देखने की होती है. मोरहाबादी मैदान में रावण दहन की आतिशबाजी को लेकर सप्ताह पूर्व से ही तैयारी शुरू कर दी जाती है, लेकिन इस वर्ष इसे लेकर काफी सतर्कता बरती जा रही है. मोरहाबादी मैदान में चारों ओर एलईडी स्क्रीन लगा दिये गये हैं, जिसके कारण रावण दहन के लिए सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस वर्ष रावण, मेघनाद और कुंभकर्ण के पुतलों की ऊंचाई में कमी की गयी है. वहीं, लंका की लंबाई और चौड़ाई में भी कमी दिखाई देगी. हालांकि, दहन के लिए पुतलों का निर्माण कार्य जारी है. मोरहाबादी में प्रत्येक वर्ष पंजाबी हिंदू बिरादरी की ओर से रावण दहन का आयोजन किया जाता है, जिसमें काफी संख्या में लोग आते हैं.

इसे भी पढ़ें- कल्याण विभाग में सुनील कुमार का इतना है दबदबा, कार्रवाई के लिए मंत्री को सचिव को लिखनी पड़ी चिट्ठी

कम की गयी रावण की ऊंचाई

एलईडी स्क्रीन की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रावण के पुतले की ऊंचाई कम की गयी है. पहले रावण का पुतला 70 फीट का होता था, जो इस वर्ष 60 फीट का होगा. वहीं, कुंभकर्ण 55 फीट और मेघनाद के लिए 50 फीट का पुतला बनाया जा रहा है. इसके पूर्व में कुंभकर्ण के लिए 60 फीट का पुतला बनाया जाता था, जबकि वहीं लंका 20×20 के क्षेत्रफल में बनायी जा रही है.

इसे भी पढ़ें- News Wing Impact: कसमार के सिंहपुर कॉलेज में नहीं मिला विधायक मद से बना भवन

कम होगी आतिशबाजी

पटाखों से एलईडी स्क्रीन को क्षति न पहुंचे, इसके लिए इस वर्ष अन्य सालों की अपेक्षा कम आतिशबाजी की जायेगी. इसके लिए कम पटाखों का इस्तेमाल किया जायेगा. यहां पटाखों को कोलकाता से मंगाया जाता है.

30 सालों से गया के कारीगर कर रहे काम

SMILE

पंजाबी हिंदू बिरादरी के अध्यक्ष राजेश खन्ना ने जानकारी दी कि पिछले 30 सालों से यहां गया के कारीगर ही पुतला निर्माण एवं पटाखों को लगाते हैं. इसके साथ ही लेजर लाइट से मोरहाबादी परिसर को सजाया जायेगा.

इसे भी पढ़ें- डस्टबिन लगाने के बहाने खाया कमीशन ! जनता के 21 लाख निगम ने किये बर्बाद

आतिशबाजी की जगह रामलीला पेश की जायेगी

राजेश ने बताया कि आतिशबाजी तो कम कर दी गयी है, लेकिन उसके स्थान पर लोगों के लिए रामलीला नाटक का मंचन किया जायेगा. इसके लिए वाराणसी से कलाकार बुलाये गये हैं. नाटक का मंचन 3.30 बजे से 5.30 बजे तक किया जायेगा, जिसके बाद रावण दहन किया जायेगा.

ये रहेंगे मौजूद

रावण दहन में मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री रघुवर दास, नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, सांसद रामटहल चौधरी, डीजीपी डीके पांडेय समेत कई लोग उपस्थित रहेंगे.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: