JharkhandRanchi

खूंटी में पुलिस और नक्सली के बीच मुठभेड़, अड़की में स्पेशल मिलिट्री कमीशन टीम की हुई एंट्री

Ranchi  :  अड़की थाना क्षेत्र के तुबिल जंगल में सोमवार को पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई है. बताया जा रहा है कि दोनों ओर से हुई गोलीबारी में पुलिस को भारी पड़ता देख नक्सलियों का दस्ता जंगल से भाग निकला. नक्सलियों के भागे जाने के बाद सुरक्षाबलों के द्वारा नक्सलियों की धरपकड़ के लिए लगातार सर्च अभियान चलाया जा रहा है. बता दें कि खूंटी में लंबे समय के बाद नक्सलियों की सक्रियता हाल के दिनों में देखी जा रही है. बताया जा रहा है कि अड़की क्षेत्र में स्पेशल मिलिट्री कमीशन टीम की इंट्री हुई है.

इसे भी पढ़ेंः #IndiaSupportsCAA कैंपेन की शुरुआत की PM मोदी ने, कहा- CAA शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए है…किसी से लेने के लिए नहीं 

सर्च अभियान के दौरान हुई मुठभेड़

अड़की के सेल्दा गांव में नक्सलियों की ओर से शनिवार की देर रात 45 लाख की लागत से निर्माणाधीन स्वास्थ्य उपकेंद्र उड़ाने के बाद सुरक्षाबलों द्वारा चलाये जा रहे सर्च अभियान के बलों को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी. दोनों ओर से हुई गोलीबारी में सुरक्षा बल को भारी पड़ता देख नक्सली घने जंगल का फायदा उठाकर भागने में सफल रहे.

खूंटी में नक्सली फिर सक्रिय हो रहे हैं

मिली जानकारी के अनुसार खूंटी के अड़की इलाके में माओवादियों के बिहार-झारखंड स्पेशल मिलिट्री कमीशन टीम की इंट्री हुई है. ऐसे में अनुमान है कि खूंटी में नक्सली फिर सक्रिय हो उठे हैं. हाल के दिनों में नक्सलियों ने जिस तरह से एक के बाद एक तीन घटना का अंजाम दिया है, इससे साफ तौर पर जाहिर हो रहा है कि नक्सली एक बार फिर से खूंटी जिले में अपनी पकड़ बनाने में जुटे हुए हैं.

बता दे कि चुनाव को प्रभावित करने के लिए माओवादियों का बड़ा दस्ता खूंटी-सरायकेला के बॉर्डर इलाके में पहुंचा था. हालांकि माओवादी अपने इरादों में कामयाब नहीं हो सके हैं. इसलिए वे सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः देश और विदेशों तक में युवा आंदोलन की बयार नई राजनीतिक इबारत लिखने के लिए आमादा दिख रही है  

नक्सलियों ने उड़ाया था निर्माणाधीन स्वास्थ्य उपकेंद्र

खूंटी के अड़की थाना क्षेत्र के सिलदा गांव में नक्सलियों ने शनिवार देर रात निर्माणाधीन स्वास्थ्य उपकेंद्र भवन को डायनामाइट लगाकर उड़ा दिया था. इसकी जानकारी ग्रामीणों और पुलिस को रविवार की सुबह मिली. दो मंजिला भवन का निचला हिस्सा पूरी तरह ध्वस्त हो चुका है.

ऊपरी हिस्सा भवन के पिलर पर टिका है. माओवादियों ने पूरे सिलदा गांव में पर्चा साटकर स्कूल भवनों से पुलिस कैंप हटाने की मांग की है. पर्चे पास के गसर गांव में भी लगाये गये. इससे पहले 17 दिसंबर को नक्सलियों ने एटकेडीह में भी सामुदायिक भवन को जिलेटिन से उड़ा दिया था.

इसे भी पढ़ेंः PM Modi ने झारखंड के #CM_Hemant_Soren को बधाई दी, हरसंभव मदद की बात कही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button