न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

‘न्यूज विंग’ की खबर पर राजभवन ने लिया संज्ञान, कुलपति से मांगा स्पष्टीकरण

224

Ranchi: रांची विश्वविद्यालय (आरयू) में ‘अनुबंधकर्मी एक विभाग के अलावे कई जगहों पर दे रहे हैं योगदान’ खबर को ‘न्यूज विंग’ ने 06 सितंबर को प्रमुखता से प्रकाशित की थी. खबर के माध्यम से ‘न्यूज विंग’ ने इस बात को प्रमुखता से बताया था कि किस प्रकार रांची विश्वविद्यालय में कार्य करने वाले कर्मी एक स्थान के अलावे कई स्थानों पर योगदान देकर अलग-अलग मानदेय ले रहे हैं. इस खबर पर संज्ञान लेते हुए राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आरयू के कुलपति प्रो रमेश कुमार पांडेय को पत्र लिखा है. राज्‍यपाल ने अपने पत्र के माध्‍यम से इस खबर पर आरयू कुलपति से स्पष्टीकरण मांगा है कि इस तरह के कितने कर्मी विश्वविद्यालय में विभिन्न जगहों पर योगदान दे रहे हैं, उसकी सूची राजभवन को उपलब्ध करायें.

इसे भी पढ़ें: अनुबंधकर्मी एक विभाग के अलावे कई जगहों पर दे रहे हैं योगदान

जांच कर रिपोर्ट सौंपने का आदेश जारी

hosp3

मामले को गंभीरता से लेते हुए शुक्रवार को कुलपति ने इस दिशा में आरयू के कोऑर्डिनेटर प्रो अशोक चौधरी पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कर रिपोर्ट सौंपने का आदेश दे दिया है.

इसे भी पढ़ें: वर्तमान मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी को दिसंबर तक का एक्सटेंशन, किनारे कर दिये गये डीके तिवारी

दोषी अनुबंध कर्मियों पर हो सकती है कार्रवाई

राजभवन ऐसे अनुबंध कर्मियों की सूची उपलब्ध होने के बाद उनके उपर ठोस कार्रवाई कर सकती है. आरयू द्वारा हाल में ही अनुबंध शिक्षकों की बहाली प्रक्रिया घंटी अधार पर मानदेय के पर किया है. इसी प्रक्रिया के दौरान आरयू के कई अनुबंध कर्मियों ने शिक्षक के रूप में योगदान देना आरंभ कर दिया. बिना विभाग के अधिकारियों के लिखित आदेश के इन कर्मियों ने अन्य कॉलेजों एवं विभागों में बतौर शिक्षक योग्यदान देना आरंभ कर दिया था. खबर प्रकाशित होने के बाद इन कर्मियों ने चोरी-चुपके अपने विभागीय कार्य के अलावे अन्य जगहों पर नियमित रूप से योगदान जारी रखा था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: