न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राहुल ने स्वीकारा कश्मीर आने का गवर्नर का न्योता, कहा- प्लेन की जरुरत नहीं, बस लोगों से मिलने की दें छूट

कश्मीर में हिंसा की खबरों पर राज्यपाल मलिक ने राहुल गांधी को घाटी आने का दिया था निमंत्रण

1,237

New Delhi: जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक पर पलटवार करते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने उनका निमंत्रण स्वीकार किया है.

गवर्नर मलिक के ट्वीट का जवाब देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि वो खुद और विपक्ष के नेताओं का एक प्रतिनिधि मंडल जम्मू-कश्मीर और लद्दाख जाने को तैयार है.

इसके लिए उन्हें किसी विमान की जरुरत नहीं, बस वहां के लोगों, मुख्य धारा के नेताओं और सैनिकों से मिलने और बात करने की स्वतंत्रता को सरकार सुनिश्चित करें.

इसे भी पढ़ेंःशर्मनाकः गर्भवती दलित युवती के साथ गैंगरेप, गर्भ में ही बच्चे की मौत, प्रेमी ने कर ली आत्महत्या

क्या कहा राहुल गांधी ने

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गवर्नर मलिक को संबोधित करते हुए कहा, ‘विपक्षी नेताओं का एक दल और वो खुद जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को देखने के आपके अनुग्रहपूर्ण निमंत्रण करते हैं.
हमें किसी विमान की आवश्यकता नहीं है. लेकिन कृप्या कर वहां के लोगों, मुख्यधारा के नेताओं और वहां तैनात जवानों से बात करने की स्वतंत्रता को सुनिश्चित करें.’


राहुल ने ये ट्वीट राज्यपाल के उस बयान के जवाब में था, जिसमें उन्होंने कहा था कि वो कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष को घाटी का दौरा कराने और जमीनी स्थिति का जायजा लेने के लिए वह विशेष विमान भेजेंगे.

इसे भी पढ़ेंःविदेश मंत्री ने चीन को समझायाः J&K पर फैसला भारत का आंतरिक विषय, LoC पर इसका असर नहीं

Related Posts

मोदी सरकार खुफिया अफसरों के माध्यम से  महबूबा मुफ्ती  और उमर अब्दुल्ला का रुख भांप रही है!

केंद्र सरकार  घाटी में शांति और सद्भाव स्थापित करने के मकसद से राज्य दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को साधने की कोशिश में जुटी है.

SMILE

गवर्नर ने कहा था, ‘मैंने राहुल गांधी को यहां आने के लिए न्योता दिया है. मैंने उनसे कहा कि मैं आपके लिए विमान भेजूंगा ताकि आप स्थिति का जायजा लीजिए और तब बोलिए. आप एक जिम्मेदार व्यक्ति हैं और आपको ऐसे बात नहीं करनी चाहिए.’

क्या है पूरा मामला

दरअसल ये पूरा मामला कश्मीर में हिंसा संबंधी कुछ नेताओं के बयान से जुड़ा है. जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के कमजोर होने के बाद से लगातार घाटी के हालात को लेकर सवाल उठ रहे हैं.

विदेशी मीडिया जहां कश्मीर में लोगों द्वारा विरोध-प्रदर्शन किये जाने की खबर दिखा रही है. वहीं सरकार इस बात से इनकार कर रही है.

इस ऊहापोह के बीच राहुल गांधी ने शनिवार की रात कहा था कि जम्मू-कश्मीर से हिंसा की कुछ खबरें आई हैं और प्रधानमंत्री मोदी को पारदर्शी तरीके से इस मामले पर चिंता व्यक्त करनी चाहिए.

इसे भी पढ़ेंःरांची, हटिया, धनबाद और सिंदरी के लिए BJP में अभी से लॉबिंग शुरू, कट सकता है सिटिंग MLA का टिकट!

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: