न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

शर्मनाकः गर्भवती दलित युवती के साथ गैंगरेप, गर्भ में ही बच्चे की मौत, प्रेमी ने कर ली आत्महत्या

पीड़िता ने नहीं दर्ज करायी थी कोई शिकायत, युवक की मौत की जांच करते हुए पुलिस ने पूरे मामले को किया खुलासा

885

Banswara (Rajsthan): राजस्थान में एक शर्मनाक घटना सामने आयी है. जहां एक गर्भवती युवती से गैंगरेप किया गया. बांसवाड़ा जिले में घटी इस घटना में रेप के बाद उसके आठ सप्ताह के भ्रूण की भी मौत हो गई और उसके प्रेमी ने आत्महत्या कर ली.

बड़ी बात ये है कि पीड़िता ने इस बारे में पुलिस के पास शिकायत भी नहीं दर्ज कराई थी. खबर है कि उसके प्रेमी की मौत की जांच करते-करते इस मामले की तह तक पहुंची और सामूहिक दुष्कर्म के मामले का खुलासा हुआ.

इसे भी पढ़ेंःकिसान-इंजीनियर जान दे रहे हैं और सरकार मुस्कुरा रही है

प्रेमी ने कर ली थी खुदकुशी

दरअसल, कुछ दिनों पहले बांसवाड़ा जिले के एक गांव में एक युवक की लाश पेड़ से लटकी हुई मिली. युवक के पिता की शिकायत के आधार पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया था.

शव मिलने के बाद जांच में जुटी पुलिस ने सुनील नाम के एक शख्स को पकड़ा. सुनील से सख्ती से पूछताछ करने पर पूरे मामले का खुलासा हुआ.

सुनील ने बताया कि जिस युवक ने नीम के पेड़ से झुलकर अपनी जान दे दी, उसकी 19 साल की गर्लफ्रेंड के साथ सुनील और उसके 4 साथियों ने गैंगरेप किया था. और प्रेमिका को नहीं बचा पाने की हताशा से उसने जान दे दी.

13 जुलाई को हुआ गैंगरेप

जांच के दौरान ये बात सामने आयी कि गर्भवती दलित युवती अपने बॉयफ्रेंड के साथ 13 जुलाई को रात करीब 10 बजे मोटरसाइकिल से जा रही थी.

इस दौरान तीन युवकों सुनील, जितेन्द्र और विकास ने उन्हें रास्ते में रोका और युवक पर तलवार से हमला किया. और उसका मोबाइल छीन लिया. इसके बाद तीनों आरोपी युवकों ने युवती को सुनसान इलाके में ले जाकर रेप किया.

Related Posts

मोदी सरकार खुफिया अफसरों के माध्यम से  महबूबा मुफ्ती  और उमर अब्दुल्ला का रुख भांप रही है!

केंद्र सरकार  घाटी में शांति और सद्भाव स्थापित करने के मकसद से राज्य दो पूर्व मुख्यमंत्रियों को साधने की कोशिश में जुटी है.

SMILE

इसे भी पढ़ेंःविदेश मंत्री ने चीन को समझायाः J&K पर फैसला भारत का आंतरिक विषय, LoC पर इसका असर नहीं

लड़की के गर्भ में पल रहे बच्चे की हुई मौत

बताया जा रहा है कि नशे की हालत में इन तीनों ने लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था. इसके बाद वो युवती को लेकर सुनील के गांव गए और यहां इन लोगों ने अपने दो और दोस्तों को बुलाया. इन दोनों ने भी गर्भवती लड़की के साथ दुष्कर्म किया.

इस दौरान लड़की के गर्भ में पल रहे 8 हफ्ते के बच्चे की मौत भी हो गई.बताया जा रहा है कि इस घटना से लज्जित होकर प्रेमी ने सुसाइड कर लिया.

कैसे पकड़े में आये आरोपी

आरोपी जितेंद्र ने चोरी किया गया मोबाइल अपनी पत्नी को दिया. उसी फोन को ट्रेस करके पुलिस जितेंद्र तक पहुंची और उसको 26 जुलाई को अपहरण और सामूहिक दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. फिर बाद में रविवार को बाकी सभी 4 आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया.

जांच में यह भी पता चला है कि पीड़िता ने 13 जुलाई को अपने प्रेमी को फोन किया था. इसके बाद पुलिस पीड़ित लड़की तक पहुंच गई. पूछताछ में आखिरकार पीड़िता ने पुलिस के सामने सारी सच्चाई बयां कर दी.

वही घटना के बाद 14 जुलाई की सुबह करीब 4 बजे यह पांचों लड़की को बदहवास हालत में सड़क पर छोड़ कर फरार हो गए. लेकिन पीड़िता ने इस वारदात के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं कराती. और चुपचाप अपना उपचार करा रही थी और उसने यह बात किसी को नहीं बताई थी.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड के राज्यसभा सांसद समीर उरांव पर जानलेवा हमला

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: