National

जनता लड़ रही है कोरोना के खिलाफ जंग, वायरस ने बदला काम करने का तरीका: पीएम मोदी

विज्ञापन

New Delhi: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ भारत में जारी जंग पूरी तरह से जनता द्वारा जनता के नेतृत्व में लड़ा जा रहा है. और जन-जन इस लड़ाई में सिपाही बनकर इसका नेतृत्व कर रहा है.

इसे भी पढ़ेंः#CoronaOutbreak: राज्यों में तेजी से पैर पसार रहा कोरोना, MP, राजस्थान व ओडिशा में कई नये केस

advt

देश में कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच पीएम मोदी ने रविवार को ‘मन की बात’ कार्यक्रम के जरिये देश को संबोधित किया. अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि वायरस ने काम करने के तरीके को बदल दिया है, फिर चाहे कोई भी क्षेत्र हो. उन्होंन मन की बात में लोगों को एक मंत्र भी दिया- ‘दो गज दूरी, बहुत है जरूरी.’

‘जन प्रेरित है कोरोना के खिलाफ जंग’

पीएम मोदी ने कहा, ‘कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से निपटने की जंग ‘जन-प्रेरित’ है. लोग एक दूसरे की मदद करने के लिए आगे जा रहे हैं, और यह लड़ाई हम सब मिलकर देश की जनता के नेतृत्व में लड़ रहे हैं.’


मोदी ने कहा कि जब कभी भविष्य में इस महामारी का इतिहास लिखा जायेगा तो कोरोना के खिलाफ भारत की जंग को जनता के नेतृत्व में लड़ी गयी लड़ाई के रूप में याद किया जायेगा.

उन्होंने कहा कि इस बीमारी ने विभिन्न क्षेत्रों में समाज की सोच को भी बदला है. मोदी ने कहा कि भले ही कारोबार हो, कार्यालय की संस्कृति हो, शिक्षा हो या चिकित्सा क्षेत्र हो, हर कोई कोरोना वायरस महामारी के बाद की दुनिया में बदलावों के अनुरूप खुद को ढाल रहा है.

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के खिलाफ राज्य सरकारों के योगदान की भी सराहना की और कहा कि उन्होंने इस अभियान में बेहद सक्रिय भूमिका निभाई है.

इसे भी पढ़ेंः#Lockdown से 3 मई के बाद मिलेगी राहत? कई राज्य नहीं उठाना चाहते रिस्क, लॉकडाउन बढ़ाने की मांग

‘रमजान में कोरोना से मुक्ति की मांगे दुआ’

प्रधानमंत्री ने संकट की इस घड़ी में कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने के लिये जरूरतमंद देशों को दवाइयों की आपूर्ति के फैसले को मुसीबत में दूसरों का भी साथ देने की भारत की संस्कृति और मूल चरित्र पर आधारित बताया. उन्होंने कहा कि जब विश्वभर के नेता कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के बीच सहायता मुहैया कराने के लिए भारत और उसके लोगों का धन्यवाद करते हैं, तो मुझे गर्व महसूस होता है.

मोदी ने इस संकट के दौरान सभी वर्गों के लोगों द्वारा अपने पर्व घरों में ही मनाए जाने की भी प्रशंसा की और देशवासियों से रमजान के पवित्र माह में दुनिया को इस महामारी से मुक्ति दिलाने की दुआयें करने का आह्वान किया.

उन्होंने उम्मीद जतायी कि अगली ‘मन की बात’ जब हम करेंगे तब कोरोना संकट से मुक्ति मिलने की चर्चा हो सकेगी.

गौरतलब है कि देश में कोविड-19 के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर रविवार को 824 हो गई, वहीं संक्रमण के कुल मामले 26,496 हो गए हैं.

इसे भी पढ़ेंःदेश में 26 हजार से ज्यादा लोग कोरोना की चपेट में, 824 की गयी जान, 24 घंटे में 1990 नये मामले

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button